कशीदाकारी/कढ़ाई Embroidery Hand Work

  1. मुकेश-: सूती एवं रेशमी कपड़े पर बादले की सहायता से छोटी छोटी बिन्दकी वाली कढ़ाई या कशीदाकारी मुकेश कहलाती है. यह राजस्थान के शेखावटी क्षेत्र की प्रसिद्ध कला है.
  2. पेंचवर्क-: कपड़े के मनचाहे डिजायन काटकर उन पर हाथी घोडा ऊंट आदि विभिन्न प्रकार के जानवरों के चित्र उकेरित करना तथा उन चित्रों को बड़े कपड़े पर रखकर उनकी सिलाई कर देना पेंचवर्क कहलाता है. राजस्थान में कशीदाकारी की यह कला मारवाड़ और शेखावटी क्षेत्र की विशेष रूप से प्रसिद्ध है.
  3. मिरर वर्क-: कांच के छोटे छोटे टुकडो को सुई और धागे की सहायता से कपड़े पर कशीदाकारी/कढ़ाई करना मिरर वर्क कहलाता है. यह कार्य पश्चिमी राजस्थान एवं बाड़मेर जैसलमेर में विशेष रूप से प्रसिद्ध है.
  4. चटापट्टी-: यह शेखावटी क्षेत्र की प्रसिद्ध कला है.
  5. कोटा डोरिया-: कैथून कोटा की प्रसिद्ध मसुरिया साड़ी जिन्हें राजस्थान की बनारसी साड़ी भी कहा जाता है. कोटा के दीवान झाला जालिम सिंह इस कला के बुनकरों को मैसूर से लाए थे. यह कार्य महमूद मसुरिया नाम के एक बुनकर द्वारा शुरू किया गया था.राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस कशीदाकारी की साड़ी को विश्व स्तर पर पहचान दिलाई थी. उनके इस कार्य के लिए UNO ने उन्हें वुमेन टुगेदर अवार्ड प्रदान किया था.
News Reporter

Leave a Reply