चन्द्रमा के बारे में रोचक जानकारी | Fact About Moon in Hindi

Fact About Moon in Hindi – हम बचपन से चंदा मामा की कहानियां सुनते आए है. शायरियों में चाँद का मुखड़ा किसी को माना है आगे की पढाई में जाना कि चाँद अर्थात चन्द्रमा पृथ्वी का प्राकृतिक उपग्रह है नासा सहित कई देशों की अंतरिक्षय एजेंसियों ने वहां पहुचने में भी सफलता अर्जित की हैं. लेकिन विज्ञान की इतनी प्रगति के बाद भी चन्द्रमा के बारे में हमारा ज्ञान पूर्ण नहीं है रोज कई नया तथ्य सामने आ जाता हैं. आज आपकों चन्द्रमा के कुछ रोचक तथ्य एवं रोचक जानकारी उपलब्ध करवा रहे है जिन्हें शायद आप आज तक नहीं जानते होंगे.चन्द्रमा के बारे में रोचक जानकारी | Fact About Moon in Hindi

“चन्द्रमा के बारे में रोचक जानकारी”

“Fact About Moon in Hindi”

1#. चंद्रमा की उत्पत्ति को लेकर समय समय पर अलग अलग देशों से अलग अलग शोध सामने आते रहे है. अब किसी भी सिद्धांत को सर्वमान्य नही माना गया है कि चन्द्रमा की उत्पत्ति कैसे हुई. हाल ही में आए एक शोध में यह माना गया कि हजारों साल पूर्व कोई ग्रह पृथ्वी से टकराया तथा जिससे चाँद का जन्म हुआ. अपनी बात के प्रमाण के रूप में वो अपोलो यात्रियों की चाँद से लाइ गई उन पत्थरों की तस्वीर को मानते हैं, जो पूर्व में थिया नामक ग्रह था.

2#. चन्द्रमा पृथ्वी का उपग्रह है तथा वह पृथ्वी के चारो ओर चक्कर लगाता हैं उसका एक चक्कर 27.3 दिनो में पूरा होता है तथा यही चन्द्र ग्रहण तथा ज्वार भाटे का कारण बनता हैं.

3#. 1972 तक विभिन्न देशों के 12 खगोल वैज्ञानिक चन्द्रमा पर जा चुके थे, इसके बाद तक किसी देश का अभियान चन्द्रमा पर नही गया हैं.

4#. चन्द्रमा का कुल भारत 81 अरब टन बताया जाता है जो पृथ्वी के कुल भार का 27 प्रतिशत ही हैं. पूर्णिमा को जब चाँद अपनी सोलह कलाओं के साथ उदय होता है तो यह अर्ध चन्द्रमा से 9 गुना अधिक प्रकाशमान होता हैं.

5#. एलन सैपर्ड ने चन्द्रमा पर गोल्फ खेला उनकी हिट की गई बॉल तक़रीबन 900 मीटर तक दूर गई.

6#. कहते है कि यदि चाँद नही होता तो हमारा दिन मात्र छः घंटे का ही होता.

7#. पृथ्वी पर चन्द्रमा की तुलना में 6 गुना अधिक गुरुत्वाकर्षण बल हैं. यदि एक इन्सान का भार धरती पर 100 किलों है तो चन्द्रमा पर इसका 6 गुणा कम यानि 16-17 किलोग्राम ही होगा.

8#. पृथ्वी के व्यास का चन्द्रमा एक चौथाई है इस तरह के 50 चन्द्रमा पृथ्वी में समा सकते हैं. नीचे से देखने में चन्द्रमा गोल दीखता है मगर इसकी आकृति अंडाकार हैं.

9#. हम धरती से चाँद का ६० प्रतिशत भाग ही देख पाते है शेष भाग दूसरी तरफ रह जाता है जिन्हें हम नहीं देख पाते है. मगर नासा द्वारा चन्द्रमा के अब तक के अनदेखे भाग की तस्वीर ली जा चुकी हैं.

10#. चन्द्रमा पर कोई वनस्पति नहीं है जिसका कारण वहां हवा तथा जल का न होना है. जब प्रथम चन्द्रमा यात्री नील आर्मस्ट्रांग चाँद पर उतरे तो उसके कदम अभी तक अमिट बने हुए है. हवा की अनुपस्थिति के कारण ऐसा होता हैं. कि निशान नही मिटते हैं.

11#. हमारे सौरमंडल में कुल 181 उपग्रह बताए जाते है आकार के लिहाज से चन्द्रमा पांचवे नम्बर पर हैं.

12#. ७ महाद्वीपों में चन्द्रमा का क्षेत्रफल एशिया से कम तथा अफ्रीका के लगभग बराबर हैं.

13#. विभिन्न देशों ने अलग अलग ग्रहों पर अपने मिशन बनाए हैं. भारत ने चन्द्रमा के बारे में वहां जल की खोज तथा जीवन की संभावनाओं को तराशने के कार्य पर हैं. यदि वह सफल हो पाया तो चाँद पर मानव जीवन का सपना साकार हो सकेगा.

14#. सबसे पहले चन्द्रमा पर जाने का रिकॉर्ड अमेरिका ने अपने नाम किया. उन्हें अपने इस मिशन के लिए अपार पैसा और धन खर्च करने के बाद सफलता हाथ लगी, लगभग 10 साल और 100 बिलियन डॉलर खर्च करने के बाद नासा नील आर्मस्ट्रांग को चाँद पर भेजने में कामयाब रहे.

15#. चाँद पर अमेरिका के कई निशान है जिनमें उनके यात्रियों के पैर के निशान, राईट ब्रदर की जहाज का एक छोटा टुकड़ा, ६० मल मूत्र की थैलिया, तथा स्वयं का wifi सेटअप नासा चन्द्रमा पर लगाने में सक्षम रहा हैं.

16#. रात को चन्द्रमा की रोशनी स्वयं चाँद नही देता हैं बल्कि यह सूर्य की परावर्तित किरनें है जो चाँद पर पड़ने के बाद धरती पर आती है. जितने भाग पर रोशनी पड़ती है उतना ही भाग हमें दिखाई देता हैं.

17#. चाँद पर पृथ्वी की तरह ही कई पर्वतमालाएं है वहां की सबसे ऊँची पर्वत चोटी का नाम मानस हुयगोनस दिया गया हैं, जिनकी उंचाई 5 हजार मिटर हैं.

18#. ऐसा माना जाता है कि सोवियत संघ के खेमे को अपनी शक्ति का एहसास करवाने के लिए अमेरिका ने 1950 में चन्द्रमा पर परमाणु बम गिराने की योजना भी निर्मित की थी. जिसे बाद में टाल दिया गया.

19#. सूर्य से कम दूरी का सीधा प्रभाव चाँद के तापमान पर पड़ता है जब यहाँ सीधी किरने पड़ती है तो दिन का तापमान १५० सेल्सियस एवं रात का तापमान ऋणात्मक १५० तक चला जाता हैं.

20#. चन्द्रमा की यात्रा की सफलता का जितना प्रतिशत है उतना विफलता का भी है. यही वजह है कि चाँद की सैर को निकले 75 से अधिक अन्तरिक्ष यान चन्द्रमा पर ही समाप्त हो गये.

आशा करता हूँ दोस्तों Fact About Moon in Hindi का यह लेख आपकों अच्छा लगा होगा, यदि आपकें पास चाँद की जानकारी, चन्द्रमा के बारे में इन्फॉर्मेशन हो तो कमेंट कर हमें भी बताए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *