जैव विविधता का संरक्षण क्या है | Biodiversity Conservation Meaning In Hindi

जैव विविधता का संरक्षण क्या है Biodiversity Conservation Meaning In Hindi: किसी भौतिक प्रदेश में जीव जन्तु, पेड़ पौधे तथा जैविक घटकों की संख्या से जैव विविधता (BIO Biodiversity) का जन्म होता है.कहा जाता है. भारत जैव विविधता की दृष्टि से दुनिया का सम्पन्न देश है.

Biodiversity Conservation Meaning In Hindi

Biodiversity Conservation In Hindi

जैव विविधता का संरक्षण क्यों आवश्यक है

IUCN की जानकारी के अनुसार अब तक विश्व में कुल 15 लाख प्रजाति (मनुष्य, पेड़ पौधे, जीव जन्तु) का पता चल पाया है, जिसका 40 प्रतिशत निवास भारत में ही है. इससे अंदाज लगाया जा सकता है, विश्व की सभी जीवों में हर दूसरा भारत के किसी न कोने में पाया जाता है.

प्रकृति में संतुलन बनाए रखने के साथ ही जैव विविधता द्वारा विभिन्न आर्थिक सहयोग भी मिलता है. अब तक ज्ञात जानकारी के अनुसार भारत में 81 हजार जीव जन्तु और तक़रीबन 45 हजार जाति के पेड़ पौधों का पता लगाया जा चूका है. कई पर्यावरणीय कारणों के चलते कुछ का अस्तित्व खतरे में है, जिन्हें IUCN की रेड डाटा बुक में सम्मिलित किया गया है.

प्रकृति के निर्माण व उसको बनाए रखने में जैव विविधता की अहम भूमिका रहती है. प्रकृति में किसी भी प्रकार के जीव अथवा वनस्पति का विनाश प्रकृति तथा पर्यावरण के लिए खतरनाक हो सकता है.

स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद से अब तक प्रमुखतः हेतु आवास व भोजन की आवश्यकता आदि से जैव विविधता का खूब विनाश हुआ है. जीव जन्तु व वनस्पतियाँ पर्यावरण संतुलन बनाए रखती है.

जैव विविधता संरक्षण के उपाय

तेजी से लुप्त हो रहे प्राणियों की जाति एवं वनस्पति बड़े भौतिक परिवर्तन का संकेत देते है. बड़े बाँधो का निर्माण, औद्योगिकीकरण, सघन खेती, बढ़ती आबादी के लिए घरों के निर्माण के कारण भी बड़ी संख्या में वनों की कटाई तथा वन्य जीवों के आवास को बड़ी मात्रा में उजाड़ा जाता है.  इस तरह वनस्पति व जीवों का विनाश हमारे पर्यावरण के लिए खतरनाक हो सकता है.

भारत जैव विविधता से समर्द्ध देश है, सरकार द्वरा भी लुप्त हो रही प्रजातियों को बचाने के लिए विभिन्न प्रकार के पर्यावरण संरक्षण एवं वन्य जीव संरक्षण के कार्यक्रम चलाए जा रहे है. अपने स्वार्थ के लिए जैव विविधता का विनाश मानव समुदाय को बहुत महंगा पड़ सकता है. इसके कुछ नतीजे हाल ही के वर्षों में देखने को मिले है.

पृथ्वी पर आने वाली पैराबैगनी किरणों से बचाने वाली ओजोन परत में छिद्र, हरित गृह प्रभाव के कारण वातावरण में गर्मी बढ़ना इत्यादि पर्यावरणीय मुशिबतों का सामना आज सारा संसार जार रहा है. विश्व की जैव विविधता संपदा को बचाने के लिए अंतर्राष्ट्रीय प्रकृति एवं प्राकृतिक संसाधन संरक्षण संगठन (iucn) की स्थापना एक महत्वपूर्ण कदम है.

Biodiversity Conservation Essay In Hindi In India

भारत को अपनी विकास यात्रा के साथ साथ पर्यावरण को भी बचाए रखना है, राष्ट्रीय उद्यान, वन्य जीव अभ्यारण्य, जैव मंडलीय सुरक्षित क्षेत्र की स्थापना तथा बाघ परियोजनाएं की स्थापना के द्वारा लुप्तप्राय प्राणियों को बचाया जाना नितांत आवश्यक है.

आज के समय की यह महती आवश्यकता है, कि हम अपने निजी स्वार्थ के लिए प्राकृतिक संसाधनो का दोहन न करते हुए जैव विविधता के सरंक्षण के लिए प्रभावी कदम उठाए. भारत सरकार द्वारा इस दिशा में कई महत्वपूर्ण प्रयास किये जा रहे है.

इस दिशा में कार्य करने वाली कुछ संस्थाओं में भारतीय वन अनुसंधान देहरादून, भारतीय वनस्पति उद्यान कोलकाता, पारिस्थितिकी अनुसंधान संस्थान बैगलोर, राष्ट्रीय पर्यावरण अभियन्त्रिकी संस्थान नागपुर आदि महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही है.

 

जैव विविधता संरक्षण अधिनियम 2002

जैव विविधता के लिहाज से विश्व के अग्रणी देशों में भारत की गिनती की जाती हैं. भारत में लगभग 45000 पेड-पौधों व 81000 जानवरों की प्रजातियां पाई जाती है जो विश्व की लगभग 7.1 प्रतिशत वनस्पतियों तथा 6.5 प्रतिशत जीवों का भाग हैं. वर्ष 2002 के जैव विविधता संरक्षण अधिनियम के द्वारा सरकार ने अपने इस अभियान में गैर सरकारी संगठनों, वैज्ञानिकों, पर्यावरणविदों तथा आम जनता को भी सम्मिलित किया गया हैं.

इस कानून के तहत सरकार सर्वप्रथम उन स्थानों पर ध्यान देगी जहाँ जैव विविधता को विशिष्ट खतरा हैं. साथ ही आधुनिक तकनीक तथा यंत्रों से वन्य जीवों तथा मानव के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव को कम करने के प्रयास होगे. तथा आम जन को परम्परागत विधियों से जैव संरक्षण की ओर प्रेरित करने हेतु उपयुक्त कदम उठाएं जाएगे.

यह भी पढ़े-

आशा करता हूँ दोस्तों Biodiversity Conservation Meaning In Hindi में आपकों जैव विविधता संरक्षण का अर्थ क्या परिभाषा कारण, उपाय, निबंध, मीनिंग डेफिनिशन भारत में जैव विविधता अधिनियम 2002 मुख्य हॉटस्पॉट हिंदी मराठी का यह लेख पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *