देश भक्ति कविता बच्चों के लिए | Desh Bhakti Poem For Children

Desh Bhakti Poem For Children-भक्ति जब देश के प्रति हो, और उनके प्रेम का केंद्र बिंदु मातृभूमि भी वही देश भक्ति कहलाती हैं. छोटी या बड़ी कक्षा के छात्रों को देश के मुख्य उत्सवो पर जिनमे हमारा 15 अगस्त और 26 जनवरी पर बौलने के लिए जरुरत पड़ती है. देश भक्ति कविता बच्चों के लिए आज लेकर आए हैं. इस लेख में भारत के तिरंगे पर आधारित तिरंगा देश भक्ति कविता बच्चों के लिए आप यहाँ से ले सकते हैं.

देश भक्ति कविता बच्चों के लिए 

तिरंगा

यह तिरंगा झंडा अपना ,
ऊँचा उड़ता रहे गगन में,
केसरिया रंग इसकी शोभा,
शांति मार्ग पर बढ़ते रहना,
खुशहाली का रंग हरा हैं.
चक्र प्रगति का प्रतीक हैं.
देश का झंडा हमको प्यारा,
इसकी रक्षा करे हमेशा,
तीन रंग हैं इसकी शान |
हमको हैं इस पर अभिमान|
वीरो का उत्साह बढ़ाता |
श्वेत रंग सबको सिखलाता |
मेहनत से खुशहाली आती |
गति ही मंजिल तक ले जाती |
न्यौछावर हैं इस पर प्राण |
आजादी की यह हैं, शान ||

देश भक्ति कविता बच्चों के लिए : हमारी चाह

ईश्वर हमारे, यही हमारी चाह,
तुम दिखाना हमे वह राह,
कभी न करे किसी से डाह,
मिलकर करे वाह ! वाह !

माता पिता हो हमारे साथ,
हम माने उनकी सब बात,
मिल-जुलकर रहे हम सब साथ,
उच्च निचे की करे न बात |

प्रभु, हमको दो यह वरदान,
पढ़ लिखकर हम बने महान,
झूट को कभी न दे मान,
सच्चाई का करे सम्मान |

(देश भक्ति कविता बच्चों के लिए)

मित्रों कहो वो रक्त किस अर्थ का
जिसमे कभी उबाल ना हो नाम का
मित्रों कहो वो रक्त किस अर्थ का
मित्रो जो आ न सके देस के काम

हो गुलाम : देश भक्ति कविता बच्चों के लिए

मंत्री जी के भासन
पुलिस की परेड
स्कूल की छुट्टी
वीर रस की कविता
मिडिया को न्यूज़
बच्चो को बूंदी
कर्मचारी को एक दिन का आराम
फिर आजादी की ख़ुशी में एक श्याम
जम पे जम
1947 से आज तक यही तो कर रहे है
अब कुछ कम हो जाये
एक दिन जिसने हमे आजादी दी है
उस दिन के लिए
किसी गरीब की मदद हो जाये
एक दिन का वेतन
किसी मजबूर के कम अ जाये
आप आजाद हो ?
कर सकते हो ?
अगर कुछ नहीं कर सको तू
गुलाम हो आज भी

मित्रों देश भक्ति कविता बच्चों के लिए यह लेख आपकों कैसा लगा, कमेंट कर जरुर बताए. अन्य लोग भी इन कविताओं के पढ़ सके इसके लिए देश भक्ति कविता बच्चों के लिए इस पोस्ट को अधिक से अधिक शेयर करे.

Leave a Reply