राय बहादुर सबपाथे मुदलियार की जीवनी

Rai Bahadur Sambandha Mudaliar Biography in Hindi राय बहादुर सबपाथे मुदलियार की जीवनी: मुदलियार का जन्म कर्नाटक राज्य के बेल्लारी नामक स्थानमें 1838 में हुआ था. मुदलियार एक प्रसिद्ध समाज सुधारक थे. उन्होंने कांग्रेस आंदोलन के प्रारम्भिक दिनों से ही अपने आप को उसमें सम्मिलित कर दिया था.

राय बहादुर सबपाथे मुदलियार की जीवनी

माँ बाप का देहांत हो जाने के बाद अनाथ मुदालियर को उनके दादा ने पूर्ण शिक्षा दिलाने में सहायता की तथा उन्हें जिलाधीश के कार्यालय में नौकरी दिलवाई. बाद में मुदलियार ने बड़े पैमाने पर कपास आयात करने का व्यवसाय अपना लिया.

राय बहादुर सबपाथे मुदलियार की जीवनी

गरीब लोगों को मदद करने के क्षेत्र में उनकी दानवीरता व उदारता अत्यंत सराहनीय थी. राय बहादुर सबपाथे मुदलियार ने 1878-79 के अकाल के दौरान भूखे लोगों को खाना देने के लिए अपनी फैक्ट्री में अलग से विभाग खोल रखा था. उन्होंने एक ऐसे हथियार या मशीन की खोज की थी, जो नागफनी के पतों को छोटे छोटे टुकड़ों में काट सके.

ताकि पशु व मवेशियों के लिए चारे के रूप में प्रयोग किया जा सके. यह मशीन अकाल पीड़ित क्षेत्र में दी गई ताकि लोग अपने जानवरों को भूखे मरने से बचा सके. मुदालियर ने स्वयं 300 से ज्यादा अनाथ बच्चों को अपनाया. मुदालियर ने वेल्लारी सत पथि मुदालियर अस्पताल लड़कियों के लिए बहुत से स्कूल, परिह्यार समुदाय के बच्चों के लिए स्कूल तथा एक तकनीकी स्कूल आदि की स्थापना की.

बेल्लारी के सेना व लोक नगर निगम के सभापति रहते हुए स्वास्थ्य सम्बन्धी सुधार के कार्यों को विशाल रूप में बढ़ावा दिया. मुदालियर को इसी तरह की समर्पित सेवाओं को देखते हुए वायसराय ने उन्हें राय बहादुर की उपाधि से विभूषित किया. सर मार्ग समाज आंदोलन को चलाने के पीछे मुदालियर का महान एवं नैतिक उद्देश्य यह था कि.

समाज में एकता का बीज बोया जा सके तथा जरूरतमंद लोगों के बीच नैतिक एवं आध्यात्मिक स्तर को ऊँचा उठाया जा सके. मुदालियर नशा नियन्त्रण संस्था के संस्थापक अध्यक्ष थे तथा इसी के प्रेरणास्वरूप उन्होंने विशाल रूप में मुस्लिम टेम्प्रेंस सोसायटी की स्थापना की. मुदालियर का सहयोग इस देश के लिए सदैव अपूर्णीय व अविस्मरणीय रहेगा.

यह भी पढ़े

आशा करता हूँ दोस्तों राय बहादुर सबपाथे मुदलियार की जीवनी का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. यदि आपकों राय बहादुर सब पाथे मुदलियार Biography में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *