International Literacy Day 2018 Speech Poem In Hindi- विश्व साक्षरता दिवस पर कविता भाषण

International Literacy Day 2018 Speech Poem In Hindi- विश्व साक्षरता दिवस पर कविता भाषण

Speech Poem Essay On International Literacy Day: शिक्षा व्यक्ति को अज्ञानता से बाहर निकालकर एक रोशन जीवन की ओर ले जाती हैं. संयुक्त राष्ट्र संघ की इसी मुहीम का हिस्सा हैं विश्व साक्षरता दिवस, 2018 में यह 8 सितम्बर के दिन मनाया जाएगा. यह सत्य है कि चाहे तकनीक हो या कुटनीतिक जिस देश के लोगों में साक्षरता के प्रति लगाव है वह देश हमेशा प्रगति की राह पर तेजी से आगे बढ़ा हैं. जहाँ अब भी 40 फीसदी लोग असाक्षर कहलाते हैं. उस देश के लिए अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस का बड़ा महत्व हैं. विश्व साक्षरता दिवस कविता, विश्व साक्षरता दिवस भाषण, विश्व साक्षरता दिवस निबंध व हम इस दिन को मनाने का कारण इतिहास व 2018 में इसकी थीम पर चर्चा करेगे.International Literacy Day 2018 Speech Poem In Hindi- विश्व साक्षरता दिवस पर कविता भाषण

विश्व साक्षरता दिवस क्या हैं (What is Literacy Or world Literacy Day)

साक्षरता को आप अक्षर ज्ञान से जोड़कर नही देख सकते. हालांकि इसमें पढने लिखने की क्षमता तो आती ही हैं. साथ ही लोकतान्त्रिक देश में साक्षर नागरिक अपने अधिकारों एवं कर्तव्यों के प्रति भी जागरूक होना चाहिए.

भारत की अधिकतर सामाजिक बुराइयां जैसे गरीबी उन्मूलन, लिंग अनुपात सुधारने, भ्रष्टाचार और आतंकवाद आदि से लड़ने के लिए साक्षरता अति आवश्यक हैं.

हमें प्रयास करना चाहिए कि सभी नागरिक एक स्तर की आधारभूत शिक्षा प्राप्त करे. उच्च शिक्षा सभी देना आगे की बात है मगर विश्व साक्षरता दिवस के अवसर पर लोगों में यह जागरूकता फैलाकर हम उन्हें शिक्षा से जोड़ने का काम कर सकते हैं.

अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस का इतिहास (History of International Literacy Day Essay)

संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा 7 नवंबर 1965 के दिन यह फैसला लिया गया था कि हर साल 8 सितम्बर को विश्व साक्षरता दिवस मनाया जाएगा. शिक्षा के महत्व को आम लोगों तक पहुचाने, उनमें जागरूकता फैलाने तथा उन्हें शिक्षण संस्थानों से जोड़ने के लिए इसे 1966 से हर साल मनाया जाता हैं.

विश्व के कुछ देशों को छोड़ दिया जाए तो उनकी साक्षरता दर बेहद चिंतनीय हैं. जिसमें हमारा भारत भी हैं. इस प्रकार के कार्यक्रमों व दिवसों के आयोजन से साक्षरता दर के लक्ष्य की प्राप्ति में भी मदद मिलती हैं. तथा शिक्षा के क्षेत्र में नयें सकारात्मक सुझाव भी आते हैं.

विश्व साक्षरता दिवस थीम (International Literacy Day 2018 Theme)

यह दिन पूरे विश्व में शिक्षा के विशेष विषयों, कार्यक्रमों और लक्ष्यों के साथ मनाया जाता है। वर्ष 2007 और 2008 का उत्सव साक्षरता और स्वास्थ्य था

(एचआईवी, क्षय रोग, कोलेरा और मलेरिया जैसे संक्रमणीय बीमारियों से लोगों को रोकने के लिए महामारी पर मजबूत ध्यान)। वर्ष 2009 और 2010 का विषय महिलाओं की साक्षरता और सशक्तिकरण था, जबकि 2011 और 2012 के उत्सव का विषय साक्षरता और शांति था.

8 सितंबर 2018 को अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस ‘साक्षरता और कौशल विकास’ विषय के साथ दुनिया भर में मनाया जाएगा। प्रगति के बावजूद, साक्षरता चुनौतियां बनी रहती हैं, और साथ ही काम के लिए आवश्यक कौशल की मांग तेजी से विकसित होती है.

इस साल, आईएलडी ने एकीकृत दृष्टिकोणों की खोज की और उन पर प्रकाश डाला जो कि साक्षरता और कौशल के विकास का समर्थन कर सकते हैं, अंत में लोगों के जीवन और कार्य में सुधार और न्यायसंगत और टिकाऊ समाजों में योगदान दे सकते हैं।

2 अप्रैल भारत बंद : Hindi News And Update Bharat Bandh 2018...
लोग देख रहे हैं 411
एससी एसटी एक्ट संशोधन के खिलाफ 2 अप...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *