सचिन पायलट की जीवनी | Biography Of Sachin Pilot In Hindi

सचिन पायलट की जीवनी | Biography Of Sachin Pilot In Hindi: राजस्थान में कांग्रेस पार्टी के मुख्य चेहरा सचिन पायलट का सम्बन्ध एक राजनैतिक परिवार से हैं. उनके पिता राजेश पायलट कांग्रेस के दिग्गज नेता थे. इनका जन्म 7 सितंबर सन् 1977 को यूपी के सहारनपुर में हुआ था. वेदपुरा उनका पैतृक गाँव है. सचिन राजस्थान में कांग्रेस पार्टी को जिन्दा कर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को बहुमत दिलाने वाले अध्यक्ष के रूप में अब उनका नाम मुख्यमंत्री की होड़ में शामिल हो गया हैं.

सचिन पायलट की जीवनी | Biography Of Sachin Pilot In Hindi

सचिन पायलट की जीवनी Biography Of Sachin Pilot In Hindi

Sachin Pilot का जीवन परिचय, जीवनी, बायोग्राफी

जीवन परिचय बिंदु Sachin Pilot Biography In Hindi
पूरा नाम सचिन प्रसाद बिधुड़ी
जन्म 7 सितंबर 1977
जन्म स्थान सहारनपुर, राजस्थान
पहचान दिग्गज राजनेता
जाति | Caste/Jati गुर्जर
पत्नी विवाह सारा पायलट 2004

पिताजी से मिली धरोहर

पिता राजेश पायलट कांग्रेस के दिग्गज नेता एवं केन्द्रीय मंत्री रह चुके हैं. 43 वर्षीय सचिन ने वर्ष 2002 में भारत की सक्रिय राजनीति में हिस्सा लेना शुरू किया था. वे 10 जनवरी को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए. इनकें 15 वर्ष के राजनीतिक करियर में 10 साल दिल्ली में बिताए जबकि पिछले पांच सालों में राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर कार्यरत रहे.

पायलट की शिक्षा परिवार, पत्नी, पुत्र पुत्री 

सचिन के पिता एयर फ़ोर्स में ऑफिसर थे, इनकी आरम्भिक पढाई शिक्षा नई दिल्‍ली के एयर फ़ोर्स बाल भारती स्‍कूल में हुई, इसके बाद आगे की पढाई के लिए सचिन सेंट स्‍टीफ़ेंस कॉलेज से ग्रेजुएशन की. इसके बाद की उच्च शिक्षा के लिए सचिन ने अमेरिका के पेंसिलवेनिया विश्‍वविद्यालय से मैनेजमेंट की उच्च शिक्षा प्राप्त की और भारत लौट आए.

2002 में कांग्रेस से जुड़ने के बाद 2004 में उनका विवाह उमर अब्दुल्ला की बेटी सारा अब्‍दुल्‍लाह से हुआ, इनके विवाह में अब्दुल्ला नही आए थे. सचिन के एक बेटा और एक बेटी है जिनका नाम आरान और वेहान पायलट हैं. पिछले कुछ समय से आ रही खबरों के अनुसार सचिन अपनी पत्नी से अलग रह रहे हैं.

सचिन का राजनैतिक जीवन

पायलट ने बेहद कम उम्रः में राजनीति की कई ऊँचाइयों को छुआ है अब तो इन्होने मुख्यमंत्री की दावेदारी भी पेश कर दी हैं. वाकई में सचिन जैसे युवा एवं शिक्षित नेताओं की देश व कांग्रेस को आवश्यकता हैं. सचिन ने अपने पोलिटिकल करियर का आरम्भ 14 वीं लोकसभा में किया वे मात्र 26 साल की उम्रः में सांसद का चुनाव लड़े और दौसा विजयी बनकर सबसे कम उम्रः में बनने वाले ये पहले भारत के सांसद थे.

इस चुनाव में सचिन ने एक लाख बीस हजार मतों से विजय हासिल की थी, राजस्थान से अपनी राजनीतिक भूमिका तैयार करने वाले पायलट ने अपना दूसरा चुनाव अजमेर सीट से लड़ा. 6 सितंबर सन् 2012 को क्षेत्रीय सेना में शामिल होने वाले ये देश के पहले केन्द्रीय मंत्री हैं. 21 जनवरी 2014 को इन्हें राजस्थान कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष चुना गया.

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 में सचिन पायलट

विधानसभा चुनाव 2013 में भारतीय जनता पार्टी ने 163 सीट जीतकर इतिहास रचा था. उस समय कांग्रेस का राज्य से सूपड़ा साफ़ हो चूका था. ऐसी स्थति में काँटों का ताज पहनने वाले सचिन ने दिन रात मेहनत करते हुए संगठन को इस कद्र खड़ा करने में सफलता पाई कि इस बार राज्य में भाजपा को मुहं की खानी पड़ी.

अपनी संयमित भाषा एवं राजनीतिक कौशल के दम पर न केवल कांग्रेस को राज्य में सत्ता वापसी करवाई बल्कि वे जनता के दिलों के सरताज बनकर सामने आए हैं. इन्होने यह विधानसभा चुनाव टोंक सीट से लड़ा, जहाँ उनका मुकाबला राज्य मंत्री युनुस खान से था. अल्पसंख्यक बाहुल्य क्षेत्र होने के उपरान्त भी सचिन पायलट से बड़े अंतर से जीत दर्ज कर अपनी प्रामाणिकता को फिर से सिद्ध करने में कामयाबी प्राप्त की हैं.

2018 में कांग्रेस को मिले बहुमत का मुख्य कारण सचिन पायलट ही हैं, पार्टी कार्यकर्ताओं का रुझान पूर्व मुख्यमंत्री की बजाय पायलट की तरफ अधिक हैं. यदि कांग्रेस आला कमान सचिन को राज्य का अगला मुख्यमंत्री बनाती है तो ये वसुंधरा राजे के बाद राज्य के 23 वें मुख्यमंत्री होंगे, हीरालाल शास्त्री राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री थे.

सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बीच के विवाद

बहुत कम लोग जानते होंगे कि सचिन पायलट का मूल नाम क्या हैं. आपकों बता दे इनका नाम सचिन प्रसाद बिधुड़ी तथा इनके पिताजी का नाम राजेश्वर प्रसाद बिधुड़ी था. राजेश्वर जी बेहतरीन विमान चालक थे इसलिए उनको राजेश पायलट के नाम से जाना गया तथा सचिन को भी यह नाम विरासत में मिला.

सचिन 2004 में राजस्थान की दौसा लोकसभा सीट से चुनाव लड़े तथा विजयी भी हुए. ये दो बार केबिनट मंत्री राज्य में एक बार उपमुख्यमंत्री तथा राज्य कांग्रेस इकाई के अध्यक्ष रह चुके हैं. 43 वर्षीय पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बीच कुर्सी को लेकर संग्राम उस वक्त ही शुरू हो गया था जब 2018 में विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आए थे. अब ये मतभेद खुल कर सामने आ गये हैं.

13 जुलाई 2020 को सचिन पायलट 30 से अधिक विधायको के साथ दिल्ली पहुचे उन्होंने दावा किया कि गहलोत सरकार अल्प मत हैं. एक राज्य के उपमुख्यमंत्री का अपनी सरकार के लिए ऐसा कहना बड़ी बात और गम्भीर परिणाम निकलने वाली बात हैं. राजस्थान के चुनावी माहौल में कौनसा खेमा विजयी होगा. क्या सचिन पायलट बीजेपी में जाएगे अथवा कोई अन्य क्षेत्रीय पार्टी बनाएगे अभी तक स्पष्ट नहीं हैं.

आपकों बता दे इस नये विवाद की शुरुआत तब हुई जब गहलोत सरकार ने अपने ही कांग्रेस अध्यक्ष एवं उपमुख्यमंत्री को एसओजी जांच के लिए नोटिस दे दिया था. साथ ही 13 जुलाई को हुई विधायक दल की बैठक में व्हिप जारी कर अनुपस्थित रहने वाले पायलट समेत सभी विधायकों के खिलाफ पार्टी के शीर्ष नेतृत्व द्वारा कड़ी कार्यवाही करने हेतु एक प्रस्ताव पारित भी हुआ. निसंदेह ये घटनाक्रम कांग्रेस और पायलट के बीच की दूरियों को बढाने वाला हैं. उधर पायलट द्वारा बीजेपी में शामिल होने की बात के खंडन से राजनितिक पंडितों को भी भ्रम में डाल दिया हैं. बहरहाल गहलोत और सचिन पायलट में जो मतभेद थे वे अब सड़क और रिसोर्ट पोलिटिक्स में आकर जगजाहिर हो गये हैं.

सचिन पायलट के तथ्य व जानकारी 

  • सचिन ने इस विधानसभा चुनाव में 54 हजार 179 के भारी अंतर से विजय प्रापत कर टोंक से सबसे अधिक वोट से जीतने का कीर्तिमान भी बनाया हैं, उन्हें 54 हजार 179 मत हासिल हुए थे.
  • इन्हें लेखनी का भी काफी शौक है वे अपनी बहिन के साथ एक किताब लिख रहे है जिसका शीर्षक है- इन स्पिरिट फॉरएवर
  • सचिन की माताजी का नाम माँ रमा पायलट, बहिन का नाम सारिका पायलट तथा सचिन की जाति गुर्जर हैं.
  • 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर में इन्हें शिकस्त का सामना करना पड़ा था.
  • राज्य में पहला अवसर है जब कार्यकर्ता अपने नेता को मुख्यमंत्री बनाने की दावेदारी के लिए सड़कों पर उतरे हैं.

Sachin Pilot Faq In Hindi

Q. सचिन पायलट का जन्म कब हुआ?

A. सचिन का जन्म 7 सितंबर 1977 को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में हुआ था। इनका विवाह जम्मू कश्मीर के राजनीतिक घराने में फारुक अब्दुल्ला की बेटी सारा से हुआ था. इनकी दो संताने है 26 साल की आयु में पायलट सांसद बनने के साथ ही सबसे युवा सांसद भी बन गये.

Q. सचिन पायलट की पत्नी कौन है?

A. दिग्गज नेता सचिन पायलट का विवाह 2004 में सारा पायलट के साथ हुआ था. ये प्रेम विवाह था जो कभी फारुक अब्दुल्ला को स्वीकार्य नहीं था.

Q. सचिन पायलट के पिता का क्या नाम है?

A. सचिन के पिता का नाम राजेश पायलट था जो राजस्थान कांग्रेस के धुरंधर नेता था. ९० के दशक में इनकी गिनती पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में की जाती थी. गांधी परिवार के प्रति उनके भी बगावती तेवर देखे गये थे. राजेश जी जमीन से जुड़े नेता थे जिन्होंने अपने सेवाकार्य की बदौलत पांच बार संसद में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी.

Q. सचिन पायलट की उम्र क्या है?

A. 7 सितंबर 1977 को जन्मे सचिन पायलट की वर्तमान आयु 43 वर्ष हैं.

यह भी पढ़े-

आशा करता हूँ मित्रों आपकों Biography Of Sachin Pilot In Hindi सचिन पायलट जीवन परिचय का यह लेख पसंद आया होगा, पायलट के बारे में दी गई जानकारी आपकों पसंद आई हो तो इस लेख को अपने फ्रेड्स के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *