स्वतंत्रता दिवस भाषण कैसे लिखे- Independence Day Speech Hindi

Independence Day Speech Hindi स्वतंत्रता दिवस भाषण कैसे लिखे

संबोधन-

मेरे प्यारे भाई-बहिनों समस्त विद्वान गुरुजनों और स्वतंत्रता दिवस के इस अवसर पर इस प्रांगन में पधारे समस्त नगरवासियों. सबसे पहले आप सभी को स्वतंत्र भारत के 71वे स्वाधीनता दिवस की बहुत-बहुत बधाई. इस पावन पर्व पर अपनी बात रखने से पूर्व उन असंख्य वीर को सादर प्रणाम करता हु,

जिनके अदम्य साहस और वीरता की खातिर आज हम आजाद हैं,

और हमारे आजादी दिवस का जश्न मना रहे हैं.

आज का दिन

200 वर्ष के लम्बे अरसे की गुलामी के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत देश आजाद हुआ थे. इन सैकड़ो वर्षो की गुलामी में हमारे पुरखों ने गोरी सरकार के अमानवीय बर्ताव और अत्याचार को सहन करना पड़ा था. इन्ही अति के कारण वीर जवानों में क्रांति का बारूद भर दिया था.देश के इस दिन की खातिर कई वीर जवान देशभक्तों ने अपने प्राणों की आहुति दे दी थी. इसी दिन हमे आजादी मिली इस कारण 15 अगस्त को ही स्वतंत्रता दिवस मनाने हैं.

योगदान

अंग्रेजो के इसी अत्याचारी व्यवहार से त्रस्त होकर इस देश की जनता ने एकजुट होकर स्वाधीनता का झंडा गाड़ दिया था. देशभर में अंग्रेज विरोधी माहौल बनाने में महात्मा गाँधी, भगतसिंह, झासी की रानी, आजाद, बोस जैसे क्रन्तिकारी नेताओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही. दूसरी तरफ नरमपंथी नेताओं ने सत्य और अहिंसा के दम पर अंग्रेजो के दात खट्टे किये.1857 की क्रांति से विभाजन तक हुए सभी सत्याग्रहो तथा आंदोलनों में लाखों मातृभूमि के सपूतों ने अपनी जान कुर्बान की थी.

इनकी वीरता के भय से कायर अंग्रेजो ने आखिर हिंदुस्तान छोड़ दिया.

और 15 अगस्त 1947 को हमने स्वतंत्रता हासिल कर ली.

स्वतंत्रता दिवस

आजादी की पहली सालगिरह से आज तक हम अपना स्वतंत्रता दिवस ख़ुशी और उल्लास के साथ मनाते आ रहे हैं.

आज के दिन देशभर के सभी राजनितिक सांस्कृतिक और शैक्षिक संस्थानों पर तिरंगा फहराकर राष्ट्रगीत गाया जाता हैं, उन वीर शहीदों को श्रद्धांजलि और मिष्ठान वितरण के साथ स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम मनाया जाता रहा हैं.

राष्ट्रिय आयोजन

स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली के लाल किले पर तिरंगा फहराने की परम्परा 1947 में पंडित नेहरु द्वारा शुरू की गईं थी,

जो आज तक अनवरत रूप से जारी हैं.

इस राष्ट्रिय कार्यक्रम को देखने के लिए राजधानी और आस-पास के क्षेत्र के लोगों का हुजूम उमड़ पड़ता हैं.

कार्यक्रम की शुरुआत में शहीदों को श्रदाजली के साथ ही राष्ट्र के नाम सम्बोधन प्रधानमन्त्री देगे.

हमारा कर्तव्य

आज हम स्वतंत्र भारत में जी रहे हैं, हमारा पहला कर्तव्य हैं, कि बड़ी देरी और बड़ी कीमत चुकाकर प्राप्त की गईं भारत की स्वतंत्रता, अखंडता की रक्षा करे.

कुछ ऐसा कर दिखाए जिससे पुरे देश का सर दुनियाभर में ऊँचा उठे,

देश के विकास कार्यो में मदद करे.

देश की समस्याओं को अपनी समस्या समझकर व्यक्तिगत रूप से अपना योगदान दे.

हमे अपने आपसी गिलाव को भूलकर राष्ट्रहित में कार्य करते हुए, इसे आगे ले जाना हैं.

जय हिन्द जय भारत

मित्रों स्वतंत्रता दिवस भाषण कैसे लिखे का ये लेख आपकों कैसा लगा, हमारे लिए Independence Day Speech इस लेख के बारे में कोई सुझाव या सलाह के लिए हमे आपके कमेंट का इन्तजार रहेगा. आप भी अपनी रचित कोई कविता, लेख, निबंध, कहानी अथवा कोई अन्य सामग्री आपकी इस साईट पर अधिक लोगों तक पहुचाना चाहते हैं. तो आपका स्वागत हैं.

आप हमे अपने लेख merisamgari@gmail.com पर भेज सकते हैं.

Leave a Reply