10 Lines On Maharana Pratap In Hindi

Maharana Pratap 10 Lines राणा प्रताप हिस्ट्री इन हिंदी पर आधारित 10 लाइन मेवाड़ के सपूत महाराणा प्रताप के जीवन पर आधारित यह छोटा निबंध के रूप में स्टूडेंट्स उपयोग कर सकते है.

10 Lines On Maharana Pratap In Hindi

1# महाराणा प्रताप का जन्म 9 मई 1540 को कुम्भलगढ़ में हुआ तथा मृत्यु 19 जनवरी 1597 को चावंड में हुई.

2# 28 फरवरी 1572 ई को महाराणा प्रताप का राज्यारोहण हुआ था.

3# महाराणा प्रताप ने मुगलों की अधीनता स्वीकार नहीं की और जीवनभर उनके विरुद्ध संघर्ष किया, विशेषकर अकबर के साथ.

4# स्वतंत्रता एवं सार्वभौमिकता के लिए संघर्ष के साथ साथ महाराणा प्रताप का विविध अन्य क्षेत्रों में भी पर्याप्त योगदान रहा.

5# प्रताप ने युद्धों में दिवंगत वीरों के उत्तराधिकारियों के पुर्नवास के लिए अपूर्व प्रयास कर मानवाधिकारों के संरक्षण का आदर्श स्थापित किया.

6# प्रताप ने राष्ट्रप्रेम, सर्वधर्म सद्भाव, सहिष्णुता, करुणा, स्वाधीनता के लिए युद्ध, नीतिगत आदर्शों की पालना, मानवाधिकारों की सुरक्षा, स्त्री सम्मान, पर्यावरण एवं जल संरक्षण सर्वसामान्य को आदर तथा साहित्य एवं संस्कृति के प्रति सम्मान में बहुत योगदान दिया.

7# महाराणा प्रताप सभी धर्मों का आदर करते थे यह उनके व्यक्तित्व की अनूठी विशेषता थी, हाकिम खां सूरी उनके सेनापति, भामाशाह उनके प्रधानमंत्री बनाया था.

8# राणा प्रताप ने ने विश्ववल्लभ और व्यवहार आदर्श इन दो ग्रथों की रचना करवाई.

9# देश की सम्रद्धि बनाए रखने के लिए प्रताप ने धातुओं की खदानों की सुरक्षा की ओर प्रमुखता से ध्यान दिया.

10# राणा प्रताप की समाधि चावंड के निकट बान्डोली गाँव में हैं.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *