10 Lines On Mahatma Gandhi In Hindi

10 Lines On Mahatma Gandhi In Hindi10 Lines On Mahatma Gandhi In Hindi

  1. मोहनदास कर्मचन्द गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात राज्य के एक छोटे से शहर पोरबंदर में हुआ था.
  2. इनके पिता का नाम करमचंद गांधी और माता का नाम पुतलीबाई था. गांधीजी के पिता पोरबंदर, राजकोट तथा बांकानेर रियासत के दीवान थे.
  3. महात्मा गांधी की प्राथमिक शिक्षा राजकोट में हुई तथा 1881 में इनका विवाह कस्तूरबा के साथ हुआ.
  4. 1884-85 के समय महात्मा गांधी ने कुसंगतिवश चोरी छिपे माँस का भक्षण भी किया था. मगर इस कृत्य को वे अपने माता-पिता से छिपा नही सके, तथा क्षमायाचना के साथ ही इन्होने जीवन में असत्य को त्याग कर सत्य का मार्ग अपनाने का दृढ संकल्प किया.
  5. 7 वर्ष की आयु में इन्होने स्कुल जाना शुरू किया, 1888 में हाई स्कूल की पढाई पूरी की, आगे की पढ़ाई के लिए भावनगर गये मगर मन न लगने से वापिस लौट आए एवं मावजी द्वे ने इन्हें इंग्लैंड जाकर पढाई का सुझाव दिया.
  6. गांधीजी ने एक जेंटलमैन बनने के प्रयास भी किये, इस बाबत इन्होने डांस, फ़्रांसिसी भाषा व स्पीच कला में महारत के प्रयास भी किये जो व्यर्थ रहे.
  7. धार्मिक पुस्तके गीता व बाइबिल पढ़ने के बाद गांधी ने कहा था, कि उनके मन की नास्तिकता रुपी रेगिस्तान की दीवार ढह गई है.
  8. गांधीजी जब 24 वर्ष के थे, दक्षिण अफ्रीका में एक दीवानी मुकदमें के कारण गये, और 1893 से 1914 लगभग 21 वर्षों तक वही रहे, इस दौरान बिच बिच में भारत भी आते थे.
  9. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने इन्हें 22 मई 1894 को सचिव पद पर भी मनोनीत किया, मगर 6 महीने यहाँ रुकने के बाद अपनी पत्नी व 2 बच्चों सहित फिर से साउथ अफ्रीका चले गये.
  10. प्रथम विश्वयुद्ध के दौरान गांधीजी ने अंग्रेजों का समर्थन इसलिए किया, कि वे युद्ध समाप्ति के बाद भारत को स्वतंत्र कर देगे.

Read More:-

Hope you find this post about ”10 Lines On Mahatma Gandhi In Hindi” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update keep visit daily on hihindi.com.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Mahatma Gandhi and if you have more information History of Mahatma Gandhi In Hindi then help for the improvements this article.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *