2 अप्रैल भारत बंद : Hindi News And Update Bharat Bandh 2018

एससी एसटी एक्ट संशोधन के खिलाफ 2 अप्रैल भारत बंद का आव्हान किया गया है. छग संयुक्त मोर्चा द्वारा भारत बंद में अपना समर्थन देने की बात कही है.2 अप्रैल भारत बंद

2 अप्रैल भारत बंद का आव्हान क्यों?

आपकों बता दे कि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ऑफ इंडिया ने sc st एक्ट में कुछ संशोधन किया था. दलित समुदाय के लोगों का मानना है कि कोर्ट के इस आदेश के बाद इस एक्ट को पूर्णता शिथिल कर दिया गया है. सरकार द्वारा इस तरह के प्रयासों द्वारा अनुसूचित जाति जनजाति के अधिकारों को छिनकर उन्हें हासिये पर लाने का प्रयत्न कर रही है. मोदी सरकार ने वर्ष 2016 में भी इस एक्ट में बदलाव किया गया था. इसके विरोध को लेकर sc st समाज द्वारा संयुक्त रूप से 2 अप्रैल भारत बंद का आव्हान किया गया है.

[आपकों भारत बंद का सर्मथन करना चाहिए या विरोध यहाँ पढ़ें]– Click Here

2 अप्रैल भारत बंद के जरिये इस समुदाय के लोग सरकार के सामने एससी-एसटी एक्ट को पूर्व स्थति में लाने के लिए दवाब बनाएगे. विपक्ष द्वारा भी इस मुद्दे को काफी जोर से उठाया जाएगा. 2 अप्रैल भारत बंद को सफल बनाने के लिए छत्तीसगढ़ स्तरीय कोर कमेटी का गठन किया गया है, जो इस आंदोलन का नेतृत्व करेगी.

कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, कई अनुसूचित जाति जनजाति संगठनो व अन्य पिछड़ा वर्ग के कई समूहों द्वारा 2 अप्रैल भारत बंद को समर्थन दिया गया है. इस समुदाय के सामाजिक संगठनो द्वारा विभिन्न राज्यों के व्यापारिक संगठन चेम्बर ऑफ कामर्स, ट्रांसपोटर्स को भी अपना समर्थन देने की मांग की है.

गांधी चौक में होगी 2 अप्रैल भारत बंद की बैठक

सरकार की दलित विरोधी नीतियों तथा सरकार की चाल पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के बाद देश भर में दलित एवं जनजाति के लोग आक्रोशित है. 2 अप्रैल 2018 को भारत बंद की बैठक का आयोजन गांधी चौक में होगा, लाखों की तादाद में लोगों के यहाँ पहुचने की संभवना है. समाज के बुद्धिजीवियों का मानना है कि केंद्र सरकार इस तरह के बदलाव कर उनके अधिकारों का हनन कर रही है. जिसके चलते दलित और जनजाति वर्ग के लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *