B Tech Full Form In Hindi | बी.टेक फुल फॉर्म और कोर्स की जानकारी

B Tech Full Form In Hindi | बी.टेक फुल फॉर्म और कोर्स की जानकारी: बी.टेक भारत में किया जाने वाला प्रसिद्ध कोर्स हैं. यह बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी यानी तकनीकी ग्रेजुएट का शोर्ट फॉर्म हैं. साधारण भाषा में हम इंजिनियर या इंजीनियरिंग जिसे कहते है असल में वह बी टेक ही हैं. यदि आप दसवीं क्लाश में पढ़ रहे है और भविष्य में इंजीनियर बनना चाहते है तो आपकों यही से इसकी शुरुआत करनी होती हैं. वो कैसे B Tech Full Form Course detail में हम इसी विषय पर बात कर रहे हैं.B Tech Full Form In Hindi

What Is B Tech Full Form In Hindi

B.Tech Full Form | What is Bachelor of Technology Course: Bachelor of Technology या बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी यह बी टेक का पूरा नाम हैं यह ग्रेजुएट स्तर की डिग्री कोर्स है जो बाहरवी के बाद किया जाता हैं. B.Tech करने के बाद आप सिविल इंजीनियरिंग, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर इंजीनियरिंग, केमिकल इंजीनियरिंग कर सकते हैं.

बी.टेक कोर्स है क्या – What is B.Tech Course

इंजीनियरिंग के कोर्सेस सभी अलग अलग प्रकार के होते हैं, जिनकी अवधि चार साल तक की तथा न्यूनतम योग्यता 12 वीं पास होती हैं. इसके लिए कुछ योग्यताएं निर्धारित है जिन्हें पूरा करके आप बी टेक की एंट्रेस एग्जाम देकर इंजीनियरिंग में प्रवेश ले सकते हैं.

B.Tech Course करने के लिए आपके दसवीं और बाहरवीं में कम से कम ६० फीसदी अंक होने आवश्यक हैं. साथ ही आपके ग्याहरवीं तथा बाहरवीं में विज्ञान संकाय जिनमें जीव विज्ञान, गणित और रसायन विज्ञान विषय होने जरुरी हैं. इन सभी योग्यताओं को पूर्ण करने के बाद आप एंट्रेस एक्जाम को क्लियर कर बी टेक में प्रवेश पा सकते हैं.

B.Tech Course in Hindi

बी टेक में इंजीनियरिंग में कई तरह के कोर्सेज होते है जिनमें आप अपनी रूचि के अनुसार एडमिशन ले सकते हैं. चार वर्षो के इस कोर्स के बाद आप इंजिनियर बन जाएगे, चलिए जानते है उन फेमस फील्ड्स के बारें में

  • Civil Engineering: यह सबसे लोकप्रिय फिल्ड है अधिकतर निर्माण से जुड़े कार्य सिविल इंजिनियर के निर्देशन में ही बनते हैं. कार्य की उपलब्धता तथा अच्छी सैलरी के अनुसार यह बेहतरीन कोर्स हैं.सड़कें, डैम, बिल्डिंग आदि कार्य क्षेत्र इसके अंतर्गत आते हैं.
  • mechanical Engineering: यदि आपका रुझान कल पुर्जों तथा मशीनों की तरफ है तो आप मैकेनिकल इंजीनियरिंग का यह चार वर्षीय कोर्स करके स्वयं का व्यवसाय या किसी कम्पनी में एक मैकेनिक की पोस्ट पर कार्य कर सकते हैं.
  • Electrical engineering: आज विद्युत् उपकरणों मोबाइल टीवी रेफ्रीजरेटर आदि का अधिक चलन हैं. आप इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के कोर्स के बाद इलेक्ट्रिसिटी, इलेक्ट्रॉनिक्स और एलेक्ट्रोमैग्नेटिस्म के क्षेत्र में अपना करियर शुरू कर सकते हैं.
  • computer Engineering: तकनीकी क्षेत्र में पेशेवर जानकार बनने के लिए आप इस फिल्ड को चुन सकते हैं, इसमें आपके लिए कंप्यूटर साइंस में शिक्षा का बेकग्राउंड होना अनिवार्य हैं. आज के तकनीकी युग में इस फिल्ड का भी महत्व तेजी से बढ़ रहा हैं.
  • chemical Engineering; रसायन विज्ञान के छात्रों के लिए यह एक बेहतरीन फिल्ड हैं. जहाँ आपकों चार वर्षों के दौरान सभी रसायनों के निजी जीवन में होने वाले उपयोग तथा विभिन्न अभिक्रियाओं का प्रैक्टिकल अभ्यास करवाया जाता हैं.

बी.टेक कोर्स की अवधि

चार वर्षों के B.Tech Course के दो भाग होते हैं थ्योरी और प्रैक्टिकल. जिनमें आपकों किताबी ज्ञान देने के साथ साथ हाथ से कार्य करना सिखाया जाता हैं. जिससे आप सम्बन्धित क्षेत्र में पूर्ण दक्षता प्राप्त कर लेते हैं. मगर बी टेक में प्रवेश लेना हर विज्ञान के छात्र की तमन्ना होती है कुछ कठिनाइयों में B.Tech college admission बड़ी समस्या हैं क्योंकि इसके लिए आपकों एक कठिन entrance exam से होकर जाना होता हैं. 

बी.टेक के बाद नौकरी के अवसर

भारत में होने वाले बी टेक के प्रवेश एग्जाम JEE Main, JEE Advance, JCECE, BCECE, KEAM में से किसी को पार कर आप इंजिनियर बन सकते हैं. किसी भी फिल्ड में बी टेक करने के बाद आपके पास नौकरी की कई संभावनाएं रहती हैं. एक इंजिनियर Rs 20,000- 30,000 प्रतिमाह आसानी से कमा सकता हैं. साथ ही बी टेक करने के बाद आप मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी यानी एम टेक कर अपनी योग्यता में वृद्धि कर सकते हैं.

आशा करता हूँ दोस्तों B Tech Full Form In Hindi का यह लेख अच्छा लगा होगा. B Tech Kya Hai, B Tech Kaise Kare, B Tech Ki jankari, B Tech Ki Full Form kya Hai, B Tech Meaning In hindi के बारे में दी गई जानकारी आपकों पसंद आई हो तो अपने दोस्तों के साथ इस लेख को जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *