बाबा रामदेव जी के भजन | Baba Ramdev Ji bhajan Download

Baba Ramdev Ji Bhajan Download- रामसा पीर या रामदेव जी के भजन गीत विडियो ऑडियो और हिंदी भाषा में आपकों यहाँ उपलब्ध करवाए जा रहे हैं. बाबा रामदेव जी के भजनों का यह संग्रह कुछ पुस्तकों के साभार किया गया हैं. रामदेवजी की जागरण और आरती के लिए यहाँ कुछ टेक्स्ट और विडियो दोनों फोर्मेंट में भजन उपलब्ध हैं.

Baba Ramdev Ji bhajan Hindi

बाबा रामदेव जी के भजन

तर्ज तेरे मेरे बिच कैसा हैं बंधन अजाना
माया और लोभ के बिच फंसा हैं मन मेरा
पल का हैं डेरा,कुछ नही तेरा
मन के मते जो चाले,दुःख वो पावे
,मन की गति को कोई समझ ना पावे,
मन चंचल हैं मन चिकोरा
प्रभु को पुकारो मन से,वो दोड़ा चला आवे,
भक्तो की खातिर वो तो, नगे पाँव आवे,
भक्ति में बल हैं घनेरा, पल का हैं डेरा
माया का चक्कर ऐसा मन फास्ता ही जावे
विषयों में मानव तन,रमा चला जावे,
विषयों में पाप का बसेरा, पल का हैं डेरा,
मन के खजाने में माया ही तो माया.
समझे पुष्प तो सब कुछ पाया
मन में बसा प्रभु तेरा पल का हैं डेरा

बाबा रामदेव जी भजन वीडियो

Rajasthani Mp3 Songs And Bhajans

रामदेव जी के भजन

तर्ज हिवडे से दूर मती जाय..
म्हारो करसी बेडो पार बाबा रामधणी,
बाबो हैं बड़ो हैं दातार रामधणी स्थायी ||
थाकमन्दिरजावां, थाकी पूजा करा, थाकछपन्न भोगलगावा
हो बाबा थारे छपन्न भोग लगावां,
तू दयालु हैं बाबा, तू कर सबका उपकार ||बाबा|
घर-घर में जावां थारो कीर्तन करा, दिन रात धने मह ध्यावा |
हो बाबा दिन रात थने महे ध्यावा
मन इच्छा फल देने वाला, थारी जय-जयकार बाबा ||
थांको त्याग बड़ो,थारो रूप भलो, पल-पल में थाने निरखा,
हो बाबा पल-पल में थान निरखा…
रणुचे में बैठ्या बाबो पुरो रूप निखार
थान देख्या बिना, थान निरख्या बिना म्हाने चैन नही तो आव
हां बाबा म्हान चैन नही तो आव…
अट्क्या कारज पूरा करजो, प्रेमजी करे पुकार ||

राजस्थानी वीडियो भजन 

baba ramdev bhajan

तर्ज कौन दिशा में लेके चला बटोरिया
घर-घर बाबा थारी ज्योत जगाये,
हमें तेरे गुण गावे,तेरे मन्दिर जाये-
बाबा दर्शन दौ||घर-घर||
ओ बाबा इतना बता,क्या हमारा है दोष रे
हम बालक नादान है,हम सभी निर्दोष रे
दया द्रष्टि तो कर दो दयालु,कर सबका कल्याण रे|1||
तन मन धन अर्पण करे, पूजा करे सुबह शाम रे
ध्यान तुम्हारा हम धरे, लेकर तुम्हारा नाम रे,
पूजा का विधि हम ना जाने, कैसे करे अभिशेक रे,
पूजा किस घर तेरी होवे वो घर हो आबाद रे,
विपदा उसकी सब मिटे, हो सुंदर ओलाद रे,
कमी किसी की ना रहे उस घर, भरे रहे भंडार रे,
तेरे दर पे आए हैं कर हमारा उपकार रे,
मन की मुरादे पूरी कर दे सपने साकार रे,
पुष्प गान से करते वंदना, वाणी जपे तेरा नाम रे||

ramdevji bhajan 

ramdev baba bhajan

अजमल जी रा जाया रे, कंवरा रामदे,
थे तो कियो कियो रुनिचे वास, पीर अवतारी रे..
भेरुड़ा ना मारयों, कवरा रामदे…
सारी प्रजा करे जैकार, पीर अवतारी रे…
बनिया ने तारयो जी कवरा रामदे,
डूबतड़ी तिराई थे तो जहाज, पीर अवतारी रे…
बिंजारा ने परस्यो, रे कंवर रामदे…
मिश्री री बनाई थे लूण, पीर अवतारी रे..
महिमा थारी भारी रे,कंवरा रामदे,
भक्तो ने थारो ही आधार, पीर अवतारी रे…

baba ramdev video bhajan 

hindi devotional songs (रामदेव जी हिंदी भक्ति गीत)

दोहा- मारग लियो अंजार को, श्री पथ रथ ललकार |
ठीक दुपेहरो माहे रो, भरनो आज अंजार ||

पद- राग सोरठ
थोड़ा धीमा हां को जी, नंद कुमार… | देर ||
रथ थारो कड़के, हियो म्हारो धड़के टूटे छे जी हिवड़ा रो हार
गावतडारा म्हारा कंठ जो धूजे, हचका तो लागे छे अपार
ऐसा हाक्या हरी जास्यां में पाली, आवो थारी रथड़ा री लार
पाली पाली चाली सांवला मंगला गास्यो पहुयो तुरंत अंजार

दोहा-
राधा राणी अरज करे सुण श्याम |
थोड़ा धीमा हाकता, थारे के लागे दाम ||
सुण राधा रुक्मणी, नरसी करे विलाप |
अवसर पर पुं हीं, लागे भगतशराप ||

baba ramdev song

www baba ramdev ji bhajan com

साधू भाई पाखंड में कुछ नाहि |
पाखंडी पर पड़ ले जासी, पड़े चौरासी माई रे साधु भाई ||
बिना पाँव पंछी उड़ जावे, बिना चांच चुगजावे |
हजार कोस की खबर मगावे, तो भी मानु नाहि रे,
जा बैठे अग्नि रे माई ने जलता दिसे नाही |
पैर खड़ाऊ जल पर चाले, तो भी मानु नाहि रे,
गुफा खोदे अंदर जाय बैठा, ध्यान धरे मन माही |
काया पलट कर सिंह हो जावे, तो भी मानु नाहि रे ||
मच्चिदर प्रताप जाति गोरख बोले, देव दर्शन दिल माही |
तीन लोक से हो जा न्यारा, तेरी जन्म मरण मिटजाई रे,

baba ramdevji bhajan rajasthani

ramapir bhajan (रामापीर भजन हिंदी/राजस्थानी में)

जीते लकड़ी मरते लकड़ी, देख तमाशा लकड़ी का
दुनिया वालों तुम्हे सुनाये, ये बासा हैं लकड़ी का |
जब जन्म लिया था तुमने, पलग बिछा था लकड़ी का ||
माता तुम्हारी लोरी गाती, वो पलना था लकड़ी का ||
फिर चलना सीखा पकड़-पकड़ कर, हाथ में घोड़ा लकड़ी का
गया खेलन हाथ में लेकर, गिल्ली डंडा लकड़ी का ||
फिर पढने गया स्कुल तो, पकड़ी कलम लकड़ी का
और मास्टर ने भी डर दिखलाया, वो डंडा था लकड़ी का ||
फिर गया शादी करने को जिसमे वो रेल का डिब्बा था लकड़ी का

सास ससुर ने भी बिठलाया, वो बावजट था लकड़ी का ||
लग्न किया जब चिंता लगी, लूण तेल और लकड़ककी का
और जब बुड्ढा हुआ तब लिया हाथ में, ये ही सहारा लकड़ी का ||
उड़ गया पंछी डल गईं काया, चिता बनाया लकड़ी का
जिस काय को पल में जलाई, वो ढेर बना था लकड़ी का ||
तो मरते तक मिटाया नही, मुर्ख झगड़ा झगड़ो लकड़ी का
नाम प्रभु का ह्रदय बसा लो मिट जाय झगड़ा लकड़ी का ||

baba ramdev bhajan song 

मित्रों बाबा रामदेव जी के भजन का ये लेख आपकों कैसा लगा, हमारे लिए Baba Ramdev Ji bhajan Download इस लेख के बारे में कोई सुझाव या सलाह के लिए हमे आपके कमेंट का इन्तजार रहेगा. आप भी अपनी रचित कोई कविता, लेख, निबंध, कहानी अथवा कोई अन्य सामग्री आप इस वेबसाईट के द्वारा अधिक लोगों तक पहुचाना चाहते हैं. तो आपका स्वागत हैं. आप हमे अपने लेख merisamgari@gmail.com पर इमेल कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *