किसी को बेहोश करने के घरेलू नुस्खे हिंदी में | देसी फार्मूला 100 % सफल

Behosh Karne Ka Gharelu Nuskhe upay dawa in Hindi : कई बार असामान्य स्थतियों में व्यक्ति के हालत बेहद खराब हो जाते है, तो अजीब अजीब हरकते करने लगता है. मानसिक असंतुलन की स्थति तक भी वह पहुच सकता है. मान के चलिए कोई गहरे सदमे में है और उन्हें सख्त आराम की आवश्यकता है. मगर उसे नीद नही आता. वो बस एक ही रट लगाए जाता है. तो अब आपके पास डॉक्टर को दिखाने के सिवाय कोई विकल्प नही रहता है. मगर यहाँ आपकों कुछ घरेलू नुस्खे (home made remedies) के बारे में बता रहे है. जिससे आप किसी को भी अपने घर पर बेहोश (unconscious) कर सकते है. चलिए शुरू करते है !Home remedies for unconsciousness,Behosh Karne ka Gharelu Nuskhe in Hindi  behosh karne ki dawa hindi  hindi me behosh karne gharelu upay

बेहोश करने के घरेलू नुस्खे (Home remedies for unconsciousness)

यहाँ आपकों बेहोश करने की विधि/तरीका बताने से पूर्व आपकों बेहोशी क्या होती है (What is unconsciousness), बेहोशी के कारण (causes of unconsciousness), बेहोश करने का तरीका (behosh karne ka tarika) इनके बारे में संक्षिप्त जानकारी देते है.

बेहोशी क्या होती है (What is unconsciousness)

behosi kya hai – बेहोशी जिसे मूर्छा भी कहा जाता है. यह अचेतन की स्थति होती है. जहाँ आपकी चेतन शक्ति और शारीरिक पॉवर पूर्ण रूप से समाप्त हो जाते है. ऐसा ऑक्सीजन या जल की कमी से, गहरी चोट लगने से या शरीर में अचानक खून की कमी हो जाने से भी हो सकता है. किसी भी स्वस्थ व्यक्ति को दवा देकर बेहोश किया जा सकता है. इस अवस्था में उसके शरीर का ताप शून्य हो जाता है.

बेहोशी के कारण (causes of unconsciousness)

behosi ke karan- वैसे तो बेहोशी के अनगिनत कारण हो सकते है. चाहे वो किसी पुरानी बिमारी से जुड़े हो अथवा किसी शोक लगने से भी ऐसा हो सकता है. बेहोशी के मुख्य कारण (Main reason for unconsciousness) ये है.

  • रक्त का रूक जाना – यानि लो ब्लड प्रेशर की स्थति में भी बेहोशी के हालत हो सकते है. सामान्य बच्चों या स्त्री-पुरुष में इस तरह की समस्या कम ही आती है. मगर वयोवृद्ध लोगों के साथ बेहोशी का मुख्य कारण रक्त का रूक जाना या उनकी नियमित गति से कम संचरण होना.
  • जल की कमी– अकसर गर्मियों के मौसम में शरीर की आवश्यकता के अनुसार जल उपलब्ध नही करा पाने के कारण शरीर में निर्जलीकरण की समस्या आ जाती है. चिकित्सक इसके ईलाज के लिए ग्लूकोज लगाता है. अचानक इसके प्रभाव बेहोशी के कारण बन सकते है.
  • हार्ट प्रोब्लम– कार्डियक सिंनकॉप के तहत शरीर से रक्त की सप्लाई मस्तिष्क होती है. यह रुकने पर व्यक्ति बेहोशी की स्थति में जा सकता है.
  • डायबिटीज– मधुमेह के रोगी को बार बार पेशाब करने के कारण शरीर में पानी की कमी हो जाती है, जिसकी वजह से भी बेहोशी की समस्या आ सकती है.

बेहोश करने का तरीका (behosh karne ka tarika)

व्यक्ति को बेहोश करने के लिए चिकित्सक Isoflurane तथा Chloroform दवाइयों का उपयोग करते है. इन स्प्रे को सूघने के बाद व्यक्ति बेहोशी की स्थति में चला जाता है. मगर यहाँ आपकों एक घरेलू तरीके के बारे में बता रहे है. जिन्हें 4-7-8 तकनीक कहा जाता है. 

एक अमेरिकी चिकित्सक डॉ एंड्रू वेइल द्वारा खोजी गई इस तकनीक में किसी मेडिसिन या केमिकल का प्रयोग नही किया जाता है. बल्कि व्यक्ति के कॉपरेट करने पर इसका सफल प्रयोग किया जा सकता है. hindi me behosh karne gharelu upay में 4-7-8 तकनीक के स्टेप बता रहे है.,

  1. जितना हो सके एक गहरी सांस ले, और अधिक से अधिक वायु शरीर से बाहर निकालने का लम्बा प्रयास करे.
  2. अब नाक व मुह पूर्ण बंद कर लेवे, तथा मन ही मन उलटी चार तक की गिनती गिने.
  3. अब गहरी लम्बी सांस ले, और अधिकतम 7 सैकंड तक इसे होल्ड करने का प्रयास करे.
  4. सांस को मुह से निकलने दे तथा यही प्रक्रिया 4 बार दोहराएं.

4 7 8 breathing anxiety का दावा है, कि ऐसा करने से हमारे शरीर में ऑक्सीजन तथा सीओ टू (कार्बनडाई ऑक्साइड) का संतुलन बिगड़ जाता है, जिससे शरीर में रासायनिक क्रिया होने के कारण शरीर पर बेहोशी आने लगती है. तथा व्यक्ति बिना दवा के बेहोश हो जाता है.

READ MORE:-

Hope you find this post about ”Behosh Karne Ka Gharelu Nuskhe upay dawa in Hindi” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update keep visit daily on hihindi.com.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about behosh Karne Ka Tarika and if you have more information History of behosh Karna then help for the improvements this article.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *