Biography of Mohan Lal Sukhadia In Hindi | मोहनलाल सुखाड़िया का इतिहास

Biography of Mohan Lal Sukhadia In Hindi | मोहनलाल सुखाड़िया का इतिहास: आधुनिक राजस्थान के निर्माता और सर्वाधिक समय तक राजस्थान के मुख्यमंत्री रहने वाले मोहनलाल सुखाड़िया एक अच्छे राजनेता व स्वतंत्रता सेनानी भी थे. इनका जन्म 31 जुलाई 1916 को राजस्थान के झालावाड में हुआ था. ये जैन धर्म के अनुयायी थे. इनके पिता पुरुषोत्तम लाल सुखाड़िया जी एक रणजी खिलाड़ी थे.

Biography of Mohan Lal Sukhadia In HindiBiography of Mohan Lal Sukhadia In Hindi

आधुनिक राजस्थान के निर्माता मोहनलाल सुखाड़िया का जन्म 31 जुलाई 1916 को नाथद्वारा में हुआ. 1939 ई से इन्होने राष्ट्रीय आंदोलन में भाग लिया और मेवाड़ प्रजामंडल में अपना विशिष्ट स्थान बना लिया. श्रीमती इंदुबाला के साथ अंतरजातीय विवाह कर इन्होने सामाजिक क्षेत्र में भी क्रांति पैदा कर दी.

1947 ई में मेवाड़ के प्रथम लोकप्रिय मंत्रीमंडल में सुखाड़िया को प्रजामंडल की ओर से मंत्री नियुक्त किया गया. 13 नवम्बर 1954 को सुखाड़िया राजस्थान के मुख्यमंत्री बने, और सत्रह वर्षों तक राजस्थान निर्माण में अपनी भूमिका निभाई.

मुख्यमंत्री रहते हुए भी आर्थिक और सामाजिक जीवन से सामंती अवशेषों को नष्ट करने के लिए इनको संघर्ष करना पड़ा. इन्होंने राजस्थान में पंचायतीराज को सशक्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया. सुखाड़िया 1972-77 ई तक विभिन्न राज्यों के राज्यपाल रहे एवं 1980 ई में उदयपुर से इन्हें सांसद चुना गया.

2 फ़रवरी, 1982 को बीकानेर में इनका निधन हो गया था. ये अपने समय के राजस्थान में सबसे प्रसिद्ध नेता थे. अब तक सबसे अधिक समय तक मुख्यमंत्री रहने वाले थे. जिन्होंने 17 वर्ष तक शासन किया. मोहनलाल सुखाड़िया कांग्रेस पार्टी के नेता थे जो कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु आदि राज्यों के राज्यपाल भी रह चुके हैं.

जैन धर्म से सम्बन्ध रखने वाले सुखाड़िया ने वी.जे.टी.आई.’ (वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलॉजीकल इंस्टीट्यूट) से इंजीनियरिंग की तथा बाद में मुंबई आ गये, यहाँ से वो कांग्रेस के महासचिव चुने गये.

जब मोहनलाल सुखाड़िया मुंबई से लौटकर नाथ द्वारा आए तो इन्होने अपनी एक इलेक्ट्रिकल की शॉप खोली तथा यही से वो ब्रिटिश शासन के खात्मे तथा भारत में नव स्थापित सरकार के लिए योजनाएं बनाते थे. इनके निधन के बाद इंदुबाला सुखाड़िया उदयपुर से सांसद चुनी गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *