रक्तदान एक सामाजिक दायित्व | Blood Donation In Hindi

Blood Donation In Hindi: फेडरेशन ऑफ इंडियन ब्लड डोनेर्स ऑर्गेनाइजेशन (FIBDO) गैर सरकारी संगठन है, जो हमारे देश के विभिन्न शहरों में जरुरतमंद लोगों को रक्त देने का कार्य करता है. इस संस्था द्वारा समय समय पर रक्तदान के कैम्पों का आयोजन भी किया जाता है. रक्तदान को महादान माना जाता है, आपके रक्त की एक बूंद किसी की जिन्दगी बचा सकती है. लोगों में रक्तदान को लेकर जागरूकता बढ़ रही है, हमे भी इस सामाजिक दायित्व को आगे बढ़कर निभाना चाहिए. Blood Donation क्या होता है, इसकी जरुरत किसकों होती है कब और कैसे आप Blood Donation कर सकते है. इसकी जानकारी Blood Donation In Hindi में देने की कोशिश की गई है.

Blood Donation In Hindi

Blood Donation In Hindi
Blood Donation

किसकों रक्त की आवश्यकता होती है (who needs blood donations)

  • थैलीसिमिया कैंसर और हेमोफिलिया रोगियों को
  • सर्जरी के समय
  • किसी दुर्घटना के वक्त
  • प्राकृतिक आपदा में घायल लोगों को
  • आतंकवादी हमले में पीड़ित लोग.
  • रक्तहीनता से पीड़ित माँ को बच्चे के जन्म के समय रक्त की जरुरत हो सकती है.
  • नवजात शिशु को
  • बर्न इजेरीज के साथ रोगियों को

आपकों नियमित रक्तदाता क्यों बनना चाहिए (why is donating blood important in hindi)

रक्त एक जीवन बचत दवा है, यह कुछ चिकित्सा उपचार और जीवन और मृत्यु की परिस्थतियों में अद्भुत काम करता है. यह एक आपातकालीन चिकित्सा है. अभी तक मानव ही रक्तदान का एकमात्र स्रोत है. (व्यक्ति को खून की आवश्यकता पड़ने पर सिर्फ मनुष्य का खून ही काम में लिया जा सकता है)

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन जोरदार रूप से केवल एक नियमित स्वैच्छिक गिअर लाभकारी रक्त दाता से रक्त के स्रोत की सिफारिश की है.

स्वैच्छिक रक्तदाताओं का रक्तदान शिविर में योगदान (blood donor blood donation)

[wp_table id=3316/]

कौन रक्तदान कर सकता है? (Who can donate blood?)

  • 18 से 65 वर्ष के बिच की आयु वर्ग का कोई भी व्यक्ति
  • वजन 45 किलों से कम नहीं होना चाहिए.
  • पिछले एक वर्ष दौरान किसी भी बड़ी बिमारी से ग्रसित नही होना चाहिए.

हमारे शरीर में कितना खून है (How much blood is in our body)

  • पुरुष- 76 मिलीलीटर/किलोग्राम
  • महिला- 66 मिलीमीटर/ किलोग्राम
  • हमारे शरीर के वजन का प्रति किलोग्राम 50 ML का रक्त संचरण प्रणाली में आवश्यक है और शेष अधिशेष है.

कितनी मात्रा में रक्तदान कर सकते है? (How much blood can donate)

हम अपने शरीर के वजन के 8ML/KG तक दान कर सकते है. भारत में 350/450 मिलीलीटर के रक्तदान बैग का इस्तमोल किया जाता है. इसका मतलब यह है कि हम अपने अधिशेष से रक्तदान करते है.

कितने दिन के अंतर में आप रक्तदान कर सकते है? (How many days can you donate blood)

90 दिनों के बाद आप फिर से रक्तदान कर सकते है. आप सम्पूर्ण रक्त (WHOLE BLOOD) 188 बार दान कर सकते है.

रक्तदान के मेडिकल फायदे (Medical benefits of blood donation)

  • जोखिम कम करता है
  • दिल का दौरा पड़ने से बचाता है.
  • एजाइना से रक्षा
  • मस्तिष्क के दौरे कम करता है
  • और उपर से रक्तदाता को भी बिलकुल नुकसान नही पहुचता है.

रक्त के घटक क्या है (What is the component of blood)

  1. 55%- प्लाज्मा
  2. 1% स्वेत रक्त कणिकाएँ व प्लातेलेट्स
  3. 44% लाल रुधिर कणिकाएँ

रक्तदान की पुनः पूर्ति का समय (Timing of blood donation)

  • तरल भाग दो दिनों में
  • रक्त कोशिकाएं 21 दिनों में

रक्तदान करने वालों की जिम्मेदारी (Responsibility for blood donors)

स्वैच्छिक रक्तदाता को दान से पहले किसी की स्वास्थ्य स्थति के बारे में सही जानकारी प्रदान करनी चाहिए.

रक्तदान के दौरान वास्तव में क्या होता है (blood donation process in india)

रक्त देना बहुत सरल और सीधी प्रक्रिया है. रक्तदान शिविर में आगमन पर आपकों रक्तदाता के रूप में कुछ विवरण भरने के लिए कहा जाएगा. आपके मेडिकल इतिहास को उस क्षेत्र में चिकित्सा कर्मियों द्वारा लिया जाएगा. जो पर्याप्त गोपनीयता प्रदान करता है.

इस सरल चिकित्सा स्क्रीनिंग प्रक्रिया को पारित करने के बाद आपकों रक्तदान शिविर में ले जाया जाएगा. वास्तवविक रक्तदान लगभग 10 मिनट लगते है और उसके बाद थोड़ा आराम और जलपान होता है.

रक्त देने के बाद क्या सावधानी रखनी चाहिए (What should be cautious after giving blood)

  • खून दान शिविर छोड़ने से पहले कुछ खाएं और पीये.
  • अगले 4 घंटो में सामान्य से अधिक तरल पदार्थ पिए.
  • एल्कोहल पीने से पहले आपकों कुछ खाना चाहिए.
  • अगले 30 मिनट तक धूम्रपान नही करे.
  • अगले 30 मिनट के लिए चढ़ाई, ड्राइविंग, डाइविंग से बचें.

रक्तदान से पहले आपको क्या खाना चाहिए (What should you eat before donating blood)

कुछ भी. खून दान से पहले लाइट स्क्रेक्स और 200 मिलीलीटर (गैर एल्कोहल) पीने से आपकों और अधिक आरामदायक महसूस होगा.

रक्त बैंक क्या करता है (What does the blood bank do)

यह रक्त इकट्ठा करता है, इसके घटकों में प्रक्रिया करता है, किसी भी संभव बीमारी के लिए परीक्षण करता है, अधिकतम तापमान पर रक्त घटक भंडार करता है. और यह पारस्परिक मिलान के बाद जरूरतमंद रोगियों को देता है.

रक्त बैंकों में रक्त संग्रह के बाद क्या परीक्षण करते है. (What blood tests do after blood collection in banks)

  • एचआईवी वायरस (एड्स)
  • हेपेटाइटिस बी एंड सी वायरस (पीलिया)
  • मलेरिया परजीवी
  • सिफलिस और
  • रक्त समूह

मै जो रक्तदान करता हूँ उसका क्या होता है (What happens to the blood I donate to)

आपका खून एक आधुनिक रक्त बैंक में जाता है. 6 घंटो के भीतर इसकी प्रसंस्करण रक्त बैंक से शुरू होती है. इसे घटकों में विभाजित किया जाता है. जैसे कि लाल कोशिकाओं, प्लाज्मा और प्लेटलेट्स. यह सब रोगी की आवश्यकता के लिए सबसे तेज प्रतिक्रिया सुनिश्चित करता है. इस प्रकार जब आप हर बार रक्तदान करते है, तो आप 3 जीवन बचा सकते है.

Hope you find this post about ”Blood Donation In Hindi” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update keep visit daily on hihindi.com.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Blood Donation Information essay Speech article importance in Hindi and if you have more information History of Blood Donation then help for the improvements this article.

प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *