माउस के बारे में जानकारी | Computer Mouse In Hindi

Meaning Types Definition And Information Of Computer Mouse In Hindi: माउस एक ऐसी युक्ति है. जिससे आप अपने कंप्यूटर स्क्रीन पर आइटम को स्थान से हटाने, चुनने और खोलने का काम करते है. माउस आमतौर पर कीबोर्ड के बगल में डेस्कटॉप पर रखा जाता है. अधिकाँश माउस में कम से कम दो बटन होते है. बायां और दाया. अधिकांश कार्य बाए बटन को दबाकर किये जाते है, दाया बटन कुछ विशेषः कार्यो के लिए होता है. कुछ विशेष उन्नत प्रकार की माउस युक्तियों में अतिरिक्त बटन से कुछ सामान्य कार्य किया जाता है. जैसे स्क्रोलिंग टेक्स्ट आदि. आगे हम कंप्यूटर माउस के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करेगे.

माउस के बारे में जानकारी | Computer Mouse In Hindiमाउस के बारे में जानकारी | Computer Mouse In Hindi

 What is Mouse- जब आप अपने डेस्कटॉप पर माउस को चलाते है तो पॉइंटर आपके स्क्रीन पर संगत रूप से चलता है. माउस आपकों स्क्रीन पर एक आइटम चुनने की सुविधा देता है. जब आप स्क्रीन पर विभिन्न हिस्सों में पॉइंटर को चलाते है तो आइटम या पॉइंटर बदल जाते है.

इन बदलावों से संकेत मिलता है, कि आप एक आइटम को खोलने के लिए उस पर क्लिक कर सकते है. या इसके अन्य विकल्प को देख सकते है. आप पॉइंटर को घुमाकर एक आइटम को खोल सकते है. और इसके लिए बाए माउस बटन को दो बार दबाना पड़ता है.

एक दस्तावेज में आप माउस से टाइपिंग करने का स्थान चुन सकते है. आपकों दस्तावेज में पॉइंटर उस स्थान पर ले जाना होता है. जहा से आप टेक्स्ट जोड़ना चाहते है और फिर टाइपिंग के लिए कीबोर्ड का इस्तमोल कर सकते है. एक आइटम को अपने स्थान से हटाने के लिए आपकों इसे एक क्लिक करना होता है. और इसके बाद माउस को पकड़े हुए उसे अन्य स्थान पर ले जाना होता है.

जब आप आइटम को नए स्थान पर ले जाते है तो आप माउस बटन छोड़ देते है. माउस का राइट बटन मीनू डिस्प्ले करने में उपयोग किया जाता है. इस मीनू के विकल्प में सबसे सामान्य कार्य में शामिल है, जैसे एक टेक्स्ट को कॉपी करने के बाद एक स्थान से ले जाकर दूसरे स्थान पर पेस्ट किया जा सकता है. इन्हें सन्दर्भ संवेदनशील मीनू कहते है. इस मीनू से आपकों जल्दी कार्य करने में सहायता मिलती है.

अधिकांश माउस युक्तियों (Mouse Devices) में एक एक पहिया होता है जो आपकों दस्तावेज या पेज देखने में सहायता देता है. स्क्रोल करने के लिए आपकों पहिये पर अंगुली रखनी होती है और इसे आगे व पीछे की ओर रोल किया जाता है. इससे दस्तावेज उपर नीचे देखा जा सकता है. बाजार में कई प्रकार के माउस उपलब्ध है. एक रेगुलर माउस में रबर या धातु की बॉल अंदर की ओर होती है. माउस की यांत्रिक गतिविधि से बॉल चलती है.

यदि गति पुनः स्क्रीन पर पॉइंटर को चलाती है. इसी रेगुलर माउस के समान एक ऑप्टिकल माउस का भी उपयोग किया जा सकता है. जबकि इसमें बॉल नही होती है. इसमें गतिशीलता का पता लगाने के लिए लेजर उपयोग किया जाता है.

माउस का आविष्कार किसने किया – Computer mouse Inventor

कंप्यूटर में कर्सर के लिए उपयोग किये जाने वाले माउस उपकरण की खोज 1960 में डग एंजेलबर्ट ने आविष्कार किया था. उस समय कंप्यूटर अपने प्रथम चरण में था, जिनका आकार एक कमरे के जैसा हुआ करता था. उस समय बनाया गया पहला माउस भी आज के कंप्यूटर माउस से दिन रात का अंतर था.
डग एंजेलबर्ट का यह माउस लकड़ी का बना हुआ था. जिनमें दो धातु के बने विशाल पहिये हुआ करते थे. जैक हॉली और बिल 1972 में जीरॉक्स पार्क पहला डिजिटल माउस बनाया था, जिसमें लगी गोल बॉल मेटल की बनी हुआ करती थी. माइक्रोसॉफ्ट ने पहली बार 1983 में माउस की सेल आरम्भ की थी.

माउस कितने प्रकार के होते है – Type Of Computer Mouse

  • मैकेनिकल माउस (Mechanical mouse) 
  • ऑप्‍टो मैकेनिकल माउस (Optomechanical Mouse)
  • ऑप्टिकल माउस (Optical mouse) 
  • वायरलेस माउस (Wireless mouse) 

READ MORE:-

मित्रों Computer Mouse In Hindi लेख आपकों कैसा लगा, कमेंट कर जरुर बताए. हमारे लेख आपकों पसंद आते हो तो प्लीज अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *