कंप्यूटर का कार्य एवं मुख्य प्रोग्राम | Computer Work And Main Program In Hindi

Computer Work And Main Program In Hindi: चाहे आप कंप्यूटर का उपयोग व्यापार में करे या व्यक्तिगत तौर पर, यह महत्वपूर्ण है कि आपका कंप्यूटर दक्षतापूर्वक चलना चाहिए. जबकि कंप्यूटर के तेज गति से कार्य करना किसी एक कारक पर निर्भर नही करता है. यहाँ आपकों कुछ कारक के बारे में बता रहे है, जो आपके कंप्यूटर के सम्पूर्ण कार्य एवं गति को प्रभावित करते है.

कंप्यूटर के कार्य को प्रभावित करने वाले कारक (Factors affecting computer performance In Hindi)

सीपीयू गति (Speed of cpu)

सीपीयू कंप्यूटर का मस्तिष्क है और इसकी गति एक महत्वपूर्ण कारक है. जो सम्पूर्ण कंप्यूटर के कार्य एवं गति को प्रभावित करती है. सीपीयू की गति वह दर है, जिस पर सीपीयू एक कार्य का निष्पादन करता है. जैसे डेटा को रैम में भेजना और लाना.

या सांख्यिकी गणना करना. यदि आपके पास दो कंप्यूटर है तो सीपीयू की गति के अलावा एक समान है, तो तीव्र सीपीयू वाला कंप्यूटर कार्य को जल्दी पूरा करेगा.

हार्ड डिस्क कारक (Hard disk factor)

हार्ड डिस्क में भंडारण क्षमता अलग अलग होती है और साथ ही इनमे डाटा भंडारण एवं पुनः प्राप्ति की गति भी भिन्न होती है, यदि डेटा पुनः प्राप्ति की गति तेज है. तो वह कंप्यूटर को स्टार्ट होने व प्रोग्राम लोड होने करने में कम समय लेता है.

इसके अलावा हार्ड डिस्क की गति और आकार उस समय महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है जब बड़ी मात्रा में डेटा प्रोसेस करने वाले प्रोग्राम की आवश्यकता होती है.

कंप्यूटर की गति में रैम की भूमिका (Role of RAM in computer speed)

रैम पर रखे गये डेटा की पुनः प्राप्ति की गति बहुत तेज होती है. इसका कारण यह है कि कंप्यूटर इसका उपयोग ऐसी सूचना के भंडारण में करता है, जो वर्तमान में उपयोग में है. यदि रैम की मात्रा उपयोग में आने वाली सभी जानकारी को धारित करने के लिए पर्याप्त अधिक है तो परिणामस्वरूप कंप्यूटर निष्पादन में तेजी आएगी.

रैम की गति और रैम की मात्रा व्यक्तिगत कंप्यूटर निष्पादन महत्वपूर्ण भूमिका है. जब कंप्यूटर में पर्याप्त रैम नही है, तो कंप्यूटर धीमा हो जाता है, या अच्छी तरह कार्य करने में असफल रहता है.

कंप्यूटर के मुख्य प्रोडक्टिविटी प्रोग्राम (Computer Main Productivity Program)

आप अलग अलग कार्यों के लिए अलग अलग कंप्यूटर प्रोग्राम का उपयोग कर सकते है. आप संख्याओं को व्यवस्थित करने, पत्र या प्रस्ताव लिखने, रिकॉर्ड करने, तस्वीर बनाने और संशोधित करने, टेक्स्ट को विजुअल में बदलने और पत्रिका तथा विवरणिका बनाने में कंप्यूटर प्रोग्राम उपयोग कर सकते है. यहाँ आपकों मुख्य कंप्यूटर प्रोग्राम और उनके उपयोग बता रहे है.

  • वर्ड प्रोसेसिंग और पब्लिशिंग प्रोग्राम (Word processing and publishing program)– आप टेक्स्ट आधारित दस्तावेज बनाने और संशोधित करने के लिए वर्ड प्रोसेसिंग प्रोग्राम का उपयोग कर सकते है. आप टेक्स्ट टाइप और संशोधित कर सकते है. वर्तनी जांच कर सकते है और अंतर निर्मित शब्दकोश का उपयोग कर सकते है तथा डोक्युमेंट में फोर्मेट कर सकते हो. इन प्रोग्राम का इस्तमोल करते हुए आप व्यक्तिगत और व्यावसायिक दस्तावेज भी बना सकते है.
  • माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस (एमएस) सामान्य तौर पर वर्ड प्रोसेसिंग में प्रयुक्त कंप्यूटर प्रोग्राम है. पब्लिशिंग प्रोग्राम का इस्तमोल दस्तावेज के बनाने के लिए टेक्स्ट और ग्राफिक्स जोड़ने को किया जाता है, वैसे विवरणिका, शुभकामना कार्ड, वार्षिक रिपोर्ट, पुस्तकों या पत्रिकाओं को बनाने में. इन प्रोग्राम में वर्ड प्रोसेसिंग और ग्राफिक विशेषताएं भी होती है ताकि आप डोक्युमेंट को और परिष्कृत बना सके.
  • प्रजेंटेशन प्रोग्राम (Presentation program)– आप स्लाइडों के रूप में अपनी जानकारी प्रस्तुत करने के लिए प्रजेंटेशन प्रोग्राम का उपयोग कर सकते है. आप इन स्लाइड को और अधिक आकर्षक तथा सूचनाप्रद बनाने के लिए ध्वनि और तस्वीरें भी डाल सकते है. माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस (एमएस) पॉवर पॉइंट सामान्य तौर पर इस्तमोल होने वाला प्रजेंटेशन प्रोग्राम है.
  • स्प्रेडशीट प्रोग्राम (Spreadsheet program)– आप बजट बनाने, लेखा प्रबंधन, गणितीय गणनाओं के निष्पादन और साख्यिकी आंकड़ो को चार्ट तथा ग्राफ में बदलने के लिए स्प्रेडशीट प्रोग्राम का उपयोग कर सकते है. स्प्रेडशीट में एक तालिका में जानकारी रखी जाती है, जिसमे आड़ी कतारों व खड़े स्तम्भों में मान भरा जाता है, प्रत्येक मान को एक सेल में भरा जाता है. एक सेल कतार और स्तम्भ का मिलन बिंदु है. माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एमएस एक्सल स्प्रेडशीट प्रोग्राम का एक उदहारण है.
  • डेटाबेस प्रोग्राम (Database program)– आप एक संगठित रूप में अपने डाटाबेस प्रोग्राम रख सकते है. और डाटा का प्रबन्धन भी कर सकते है. इन प्रोग्राम का उपयोग करते हुए आप डाटाबेस में रखी हुई सूचना को चुन सकते है या खोज सकते है, इसके अलावा आप रखे गये डाटा से सरल रिपोर्ट भी बना सकते है. उदहारण के लिए आप ग्राहकों के विवरण रखने, माल की सूची बनाने  और उसके प्रबंधन उसकी बिक्री पर नजर रखने के लिए डाटाबेस प्रोग्राम का उपयोग कर सकते है. तब आप बिक्री के लक्ष्य की रिपोर्ट या ग्राहक सेवा योजना बना सकते है. डाटाबेस प्रोग्राम का एक उदहारण माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एक्सेस है.
  • ग्राफिक प्रोग्राम (Graphic program)आप चित्र बनाने और एडिट करने के लिए ग्राफिक प्रोग्राम उपयोग कर सकते है. आप तस्वीरों को बेहतर बनाने के लिए भी इन प्रोग्राम का इस्तमोल कर सकते है. पेंट प्रोग्राम ग्राफिक प्रोग्रामों  एक ऐसा उदहारण है जो आपकों ड्राइंग बनाने की भी सुविधा देता है.

संचार कार्यक्रम (कम्युनिकेशन प्रोग्राम) (Communication program)

जैसे आप टेलीफोन या डाक सुविधा की सहायता से अपने मित्रों और परिवारों से सम्पर्क कर सकते है, उसी प्रकार आप लोगों से संचार के लिए कंप्यूटरों का भी उपयोग कर सकते है कंप्यूटर में विशेष प्रोग्राम होते है जिन्हें कम्युनिकेशन प्रोग्राम कहते है और इनसे आप डिजिटल रूप से अन्य लोगों को संदेश भेज सकते है और प्राप्त कर सकते है.

कंप्यूटर में ईमेल सेवा की सुविधा (Email service facility in computer)

ई मेल संदेश भेजना एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर प्रयोक्ता से संदेश के आदान प्रदान की प्रक्रिया है. यह आदान प्रदान एक स्थानीय क्षेत्र के अंदर या देश के एक हिस्से से दुसरे हिस्से तक हो सकता है. आप दिन में किसी भी समय एक या अनेक व्यक्तियों को ई मेल संदेश भेज सकते है.

और ईमेल संदेश प्राप्त भी कर सकते है. ईमेल संदेश भेजने के लिए आपके पास इंटरनेट कनेक्शन और ईमेल अकाउंट होना चाहिए. यह इंटरनेट कनेक्शन एक इंटरनेट सेवा प्रदाता द्वारा दिया जाता है. आप कई प्रकार के प्रोग्राम जैसे विडोज मेल का उपयोग करते हुए भी ईमेल अकाउंट बना सकते है.

यदि आपके पास ईमेल अकाउंट है तो इस यह इस प्रकार होगा USERNAME@EXAMPLE.com जहाँ प्रयोक्ता का नाम आपका नाम है इसमे @ होने का संकेत है और EXAMPLE.com डोमेन नेम है. डोमेन नाम से उस संगठन का नाम और प्रकार पहचाना जाता है, जिसके साथ आपका ईमेल अकाउंट है.

जब आपके पास ईमेल अकाउंट होता है तब आपकों उस व्यक्ति के ईमेल अकाउंट की जानकारी होनी चाहिए जिसे आप ईमेल भेजना चाहते है. आप ईमेल द्वारा टेक्स्ट या तस्वीरे दोनों ही भेज सकते है, जबकि यह विभिन्न कारको पर निर्भर करता है, जैसे आपके पास मौजूद सेवा का प्रकार या तस्वीर का प्र्काए जो आप भेज रहे है.

ईमेल भेजना और प्राप्त करना किसी के साथ संचार का तत्कालीन तरीका है. ईमेल भेजना और प्राप्त करने में कुछ ही सैकंड का समय लगता है. यह आपके इन्टरनेट कनेक्शन पर ही निर्भर करता है.

कंप्यूटर में चैट करने की सुविधा (Computer chat facility)

संचार का अन्य प्रकार चैट प्रोग्राम के जरिये किया जाता है, जिसमे आप तत्काल संदेश भेजते और प्राप्त करते है. आप एक साथ कई लोगों के साथ सम्पर्क के लिए चैट प्रोग्राम इस्तमोल कर सकते है. सामान्य तौर पर इस्तमोल होने वाला प्रोग्राम विंडोज लाइव मैसेंजर है.

जब आप किसी के साथ चैट करते है तो दूसरी और बैठा व्यक्ति तुरंत आपके संदेश प्राप्त कर लेता है. चैट के जरिये आप उस व्यक्ति से बात भी कर सकते है, जिसके साथ आप चैटिंग कर रहे है, इसे वौइस् चैट कहते है. एक अन्य प्रकार की चैटिंग से आप उस व्यक्ति को देख भी सकते है. जिससे आप बात कर रहे है. इसके लिए आपकों वेब कैम नाम युक्ति का प्रयोग करना होगा.

Hope you find this post about ”Computer Work And Main Program In Hindi” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update keep visit daily on hihindi.com.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Computer Basic information in Hindi ( What is Computer, Types & Parts of Computers ) and if you have more information History of Computer Basic information then help for the improvements this article.

कंप्यूटर का परिचय | Computer Introduction In Hindi... कंप्यूटर का परिचय | Computer Introd...
कंप्यूटर क्या हैं | What Is Computer And Fundamentals In Hindi... What Is Computer कंप्यूटर शब्द लेटि...
ईमेल क्या है, इसकी जानकारी | Email In Hindi... what is email in hindi: इलेक्ट्रानि...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *