Corruption Essay In Hindi 250 Words भ्रष्टाचार पर निबंध 250 शब्दों में

Corruption Essay In Hindi 250 Words भ्रष्टाचार पर निबंध 250 शब्दों में: जब एक नागरिक अथवा राजकीय पद पर स्थापित व्यक्ति निजी लाभ के लिए अनुचित गतिविधियों से धन घूस अथवा रिश्वत के रूप में अर्जित करता हैं  उसे करप्शन अथवा भ्रष्टाचार कहा जाता हैं. वह इस कार्य में अपने दायित्वों तथा कर्तव्यो को ताक पर रखकर अनुचित सेवा अथवा सामान को अनुमति अथवा मूक स्वीकृति प्रदान कर देता हैं. आज हम 250 Words में स्टूडेंट्स के लिए सरल भाषा में Corruption Essay यहाँ उपलब्ध करवा रहे हैं.

Corruption Essay In Hindi 250 Words

Corruption Essay In Hindi 250 Words

essay on corruption in hindi in 250 words: भ्रष्टाचार एक गहरी समस्या हैं जिसकी जड़े भारत की आजादी के साथ ही शुरू हो गई थी. निचले स्तर से उच्च स्तर तक घूस का साम्राज्य रसा बसा हैं. अपने आंशिक लाभों के लिए जिम्मेदार पदों पर बैठे लोग अपना ईमान बेच डालते हैं.

प्रत्येक नागरिक को यह समझना आवश्यक हैं कि किसी अच्छे भविष्य के लिए सरकार द्वारा नियत मानदंडों पर चलकर ही एक सशक्त व्यवस्था तैयार की जा सकती हैं. जिससे वक्त के साथ राष्ट्र की प्रगति में भी गति मिलेगी तथा जब हमारा देश तरक्की की ओर बढ़ेगा तो निश्चय ही राष्ट्र के नागरिकों का जीवन भी सुखमय हो सकेगा.

essay on corruption in hindi 250 words

आज के दौर में किसी भयानक बिमारी की भांति समाज के हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार अपनी जड़े जमा चूका हैं. भारत के स्वतंत्रता सेनानी जिन्होंने जिस भारत का सपना देखकर अपना जीवन कुर्बान कर दिया था. क्या हम वो भारत बना पाए हैं. हम अपने थोड़े से फायदे के लिए राष्ट्र के साथ द्रोह जैसे करप्शन का सहारा लेने से नहीं चूकते. हमें उन लोगों से सबक लेना चाहिए जिन्हों ने अपना सम्पूर्ण जीवन राष्ट्र सेवा में लगा दिया था, तभी हम महसूस कर पाएगे कि हमारी जिम्मेदारियां क्या थी और हम क्या कर रहे हैं.

आम जनता के जीवन, राजनीति, केंद्र सरकारों, राज्य सरकारों, व्यवसायों, उद्योगों, सरकारी भर्तियों जहाँ तक नजर जाएं भ्रष्टाचार अपनी जड़े जमा चूका हैं. आम आदमी के जीवन का ऐसा कोई क्षेत्र नहीं बसा जहाँ करप्शन, अवैध धन, सत्ता, शक्ति का प्रयोग न होता हो.

एक तरफ हम करप्शन फ्री इंडिया की बात करते हैं, दूसरी तरफ हमारे देश में करप्शन खत्म होने की बजाय नित्य नयें घोटालों के नाम सामने आ रहे हैं. नेता से लेकर पुलिस ऑफीसर तथा रंगे हाथ पकड़े जा रहे हैं. विलासिता की भूख किस स्तर तक लोगों को गिरा सकती हैं इसे समझने के लिए आज का वातावरण उदाहरण योग्य हैं.

ऐसा प्रतीत होता है लोग अपने मूल्य, आदर्श तथा संस्कार सब कुछ भूलकर विलासिता तथा पैसे के पीछे भाग रहे हैं, जो जितने बड़े पद पर बैठा हैं वह उतने ही बड़े घोटाले कर रहा हैं. इस देश की सेना के हथियारों की खरीद तक में सरकारे घोटाला करती हैं तो स्पष्ट समझा जा सकता हैं सफेद पोशाक के ये राजनेता राष्ट्र हित के लिए अपने परिवार के हित के लिए पोलिटिक्स करते हैं.

अब वक्त आ चूका हैं हमें अपने नैतिक मूल्यों का स्मरण करना चाहिए. धन की तृष्णा की इस संस्कृति के कुचक्र को पूरी तरह कुचलने के बाद ही भारत से करप्शन की समस्या का समाधान किया जा सकता हैं. जब तक व्यक्ति समाज तथा देश से अधिक महत्व पैसे को देगा, तब तक भ्रष्टाचार की जड़ों की काटा जाना सम्भव नहीं होगा.

यह भी पढ़े-

प्रिय दोस्तों उम्मीद करता हूँ, Corruption Essay In Hindi 250 Words का यह आर्टिकल आपकों पसंद आया होगा, यदि आप हमारे द्वारा दिए कंटेंट का समर्थन करते हैं तो प्लीज इसे सोशल मिडिया पर भी शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *