दिवाली 2017 मुहूर्त इतिहास कहानी बधाई संदेश शायरी और कविता | Diwali 2017 Muhurta History Story Badhai Messages Shayari Kavita

Diwali 2017 Muhurat History Story Badhai Messages Shayari Kavita– सभी धर्मावलम्बियों को अन्धकार पर विजय के प्रतीक एवं प्राचीन हिन्दू त्यौहार दीपावली की हार्दिक बधाईयाँ. दिवाली 2017 के अवसर पर सभी पाठकों के लिए लक्ष्मी पूजन मुहूर्त, दिवाली का इतिहास इसके मनाने का महत्व और जुड़ी कथाएँ, दिवाली पर स्वजनों को अग्रिम शुभकामनाएँ प्रेषित करने के लिए हिंदी में दिवाली पर sms शायरी और कविता इस लेख में पढ़ने को मिलेगी.

दिवाली 2017 मुहूर्त इतिहास कहानी बधाई संदेश शायरी और कविता

दिवाली 2017 मुहूर्त (Diwali 2017 Puja Muhurat & Vidhi In Hindi)

आमधारणा के अनुसार भगवान श्री राम जी के 14 वर्ष का वनवास पूर्ण करने के बाद वे रावण को मारकर इसी दिन घर वापिस आये तो इस ख़ुशी में दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है. इस वर्ष यानि 2017 में यह पर्व 19 अक्टूबर के दिन आ रहा है. इसी दिन दीवाली की शाम माँ लक्ष्मी का पूजन किये जाने की प्रथा है.

Diwali Puja Vidhi में इस कार्तिक अमावस्या के दिन बिना भोजन ग्रहण किये सांयकाल को पूजा किये जाने का प्रावधान है. घर में स्वच्छ जगह को चुनकर दिए जलाने के बाद माँ लक्ष्मी, गणेश जी और विद्या की देवी सरस्वती की नवीनतम मूर्ति और तस्वीर की स्थापना की जाए. नारियल, चावल और पूजा सामग्री को थाली में रखकर कलश से मंत्रोच्चार के साथ कलश का सम्पूर्ण घर में छिड़काव करे.

प्रदोषकाल में Deepawali Puja सबसे उत्तम मानी जाती है. lakshami pooja के साथ साथ Lord Vishnu, Kali Maa और Kuber Dev की आराधना भी की जाती है. Deepawali Puja Samgari में रोली, चावल, पान- सुपारी, लौंग, इलायची के साथ कपूर एवं देशी घी का भरा दीपक भी होना चाहिए. धार्मिक पंडितो के अनुसार दिवाली 2017 का शुभ मुहूर्त रात को 7:11 से लेकर 08: 16 तक है दूसरा मुहूर्त 11 बजकर 40 मिनट से शुरू होकर मध्यरात्रि 12 बजकर 31 मिनट तक चलेगा. इन समय में लक्ष्मी स्थापना और पूजा करने से परिवार में कभी सुख सम्पदा की समस्या नही रहती है.

दिवाली का इतिहास और कथाएं (History and stories of Diwali/Deepawali)

Diwali Stories में आपकों दिवाली मनाने के इतिहास और उनके कारणों से जुड़ी कुछ दीपावली की कथाएं आपकों बता रहे है.

  • राम जी के वनवास की समाप्ति और अयोध्या लौटने की कहानी बच्चा बच्चा जानता है. कैकेयी द्वारा राजा दशरथ से किसी समय वर मागने का वरदान मिला था. जिनका उपयोग उसने भरत को राज्य दिलाने के लिए राम को 14 साल के वनवास के रूप में उपयोग किया. राम ने जब पिता के वचन की खातिर वनगमन किया तो उनके साथ मैया सीता और भाई लक्ष्मण भी थे. यहाँ रावण द्वारा सीता का हरण होता है जिसके बाद राम जी सुग्रीव की सेना की मदद से लंका पर चढाई करके रावण का अंत कर विभीषण को वहां की सता सौपकर वापिस लौटते है इसी ख़ुशी के अवसर को लोगों ने दीपों के पर्व दिवाली को मनाया और सदियों से हम इन्हे मनाते आ रहे है.
  • एक अन्य कथा के अनुसार नरकासुर नेपाल राज्य का शासक हुआ करता था. जो बेहद क्रूर था जिन्होंने देवताओं की कन्याओं को अपने कब्जे में कर लिया था. कहते है सत्यभामा ने इस दैत्य का वध का जिनमे श्री कृष्ण ने उनका सहयोग किया था.
  • आपने भी इस कहानी को सुना होगा कि मामा सकुनी की वजह से कौरवों ने पांड्वो को हस्तिनापुर से निष्काषित कर 13 वर्ष की अवधि के लिए वनवास दिलाया था. माना जाता है कि इसी दिन पांडव अपनी वनवास अवधि पूर्ण कर कार्तिक अमावस्या को घर लौटे थे.
  • कार्तिक अमावस्या यानि दिवाली के दिन ही सिख धर्म के छठे गुरु हरगोविंद जी को जहाँगीर की कैद से मुक्त किया गया था. इस दिन को यादगार बनाने के लिए सिख सम्प्रदाय के लोग दिवाली की कथा का सम्बन्ध इस घटना से जोड़ते है.

दिवाली 2017 बधाई संदेश शायरी (Happy Diwali Messages shayari In Hindi)

Happy Diwali Sms In Hindi

दीप जलते और जगमगाते रहे
हम आपकों और आप हमे याद आते रहे
जब तक जान है दुआ है हमारी
आप यू ही दियें की तरह जगमगाते रहे.
******हैप्पी दीपावली ******

————————————————————

pal pal sunahare phool khile,
kabhee na ho kaanto ka saamana,
jindagee aapakee khushiyo se bhaaree rahe,
Diwali par humaaree yahee shubhakaamana…

इस दिवाली माँ लक्ष्मी और गणेश जीआपके जीवन को सुख,सफलता और सम्रद्धि से सम्पूर्ण भर देआपकों और आपके परिवार को हमारी तरफ से शुभ दीपावली.

 

दिवाली 2017 शायरी (Diwali 2017 Shayari)

दीप से दीप जलते रहे,
मन से मन मिलते रहे.
गिले शिकवे दिल से निकलते रहे
सारे जग में सुख शांति का सवेरा ले आए,
ये दीपो का त्यौहार ख़ुशी की सौगात ले आए.


मेरे साथ
एक ह्रदय
दौ आँखों
7 लीटर रक्त
206 हड्डियों
4.5 बिलियन लाल रक्त कोशिकाओ
60 ट्रिलियन डीएनए
सबकी ओर से आपकों दिवाली की शुभकामनाएँ.



दुआ मांगते है हम अपने भगवान् से
चाहते है आपकी ख़ुशी पुरे ईमान से
सब हसरते पूरी हो आपकी,
और आप मुस्कराएँ दिलों जान से
हैप्पी दिवाली टू यू

कविता दिवाली 2017 पर | Poem On Diwali In Hindi

खूब मिठाई खाओ छक कर,
लड्डू, बर्फी, चमचम, गुझिया
पर पर्यावरण का रखना ध्यान,
बम कही फोड़े न कान
वायु प्रदूषण, धुए से बचना
रोशनी से घर द्वार को भरना
दिवाली के शुभ अवसर पर,
मन से मन का दीप जलाओ.

 


 

सच्चाई की रीत दिवाली
बुराई के विपरीत दिवाली
सफाई के संग प्रीत दिवाली
पावनता की रीत दिवाली

———————————-

दीप उस घर भी रखना,
जिसने अपना खोया.
पुरे वर्ष मनाया मातम,
फूट फूट कर रोया
आज उसे कुछ लगे कि जैसे
उसने भी कुछ पाया है
ज्योति पर्व आया है.

Diwali 2017 Muhurta History Story Badhai Messages Shayari Kavita दोस्तों आज का यह लेख आपकों कैसा लगा कमेंट कर हमे अपनी राय जरुर बताए.दीपावली का इतिहास कहानी sms शायरी कोट्स विशेज पढ़ने के लिए रिलेटेड पोस्ट को देखे.

Leave a Reply