Essay On Hindi Bhasha Ka Mahatva In Hindi- हिंदी भाषा के महत्व पर निबंध

Essay On Hindi Bhasha Ka Mahatva In Hindi:- हिंदी हमारी मातृभाषा होने के साथ साथ भारत की राष्ट्रभाषा बनने की प्रबल दावेदार एवं योग्य हैं. 14 सितम्बर 2018 को हिंदी दिवस (Hindi Diwas) के अवसर पर आपके लिए अपनी भाषा हिंदी के महत्व, आधुनिक भारत के विकास में हिंदी का महत्व व योगदान जैसे विषयों पर बात करने जा रहे हैं. हमें Importance of Hindi Language की समझ होनी चाहिए. मात्र पढने लिखने एवं बोलने की भाषा होने के अतिरिक्त राष्ट्र की प्रतीक, राष्ट्रीय एकता, अंतर्राष्ट्रीय पहचान के रूप में भी हिंदी भारत का सम्मान बढ़ा सकती हैं. Hindi Bhasha Ka Mahatva Essay In Hindi (हिंदी भाषा का महत्व) में हम इस विषय पर विस्तृत रूप से प्रकाश डालेगे.Essay On Hindi Bhasha Ka Mahatva In Hindi- हिंदी भाषा के महत्व पर निबंध

Hindi Bhasha के महत्व को इस छोटी कविता से समझा जा सकता है, यानि जीवन की परिभाषा ही हिंदी है. एक हिंदी भाषी के लिए दुनियां तभी सजीव है जब उसे कोई समझने एवं बात का जवाब देने वाला हो. हिंदी हमारे देश को एकता के सूत्र में पिरोए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं. Hindi Diwas मनाने का इतिहास संविधान के उस प्रावधान से जुड़ा हुआ है, जब 14 सितम्बर 1949 के दिन भारतीय संविधान द्वारा औपचारिक रूप से हिंदी को भारत की राष्ट्र भाषा का दर्जा प्रदान किया गया था.

पहली बार Hindi Bhasha के सम्मान में राष्ट्रीय हिंदी दिवस 1953 को मनाया गया था. उसके बाद हर साल इसी दिन देशभर में हिंदी डे मनाया जाता हैं. इस अवसर पर विद्यालयों, कॉलेजों एवं अन्य सरकारी दफ्तरों में हिंदी दिवस पर निबंध, भाषण, नाटक, कविता, शायरी, कवि सम्मेलन प्रतियोगिताओं का आयोजन होता हैं.

हमारी सोशल मिडिया पर भी Hindi Bhasha के महत्व को लोग बखूबी समझते हैं. बहुत से लोग इस दिन अपने स्टेट्स हिंदी में ही पोस्ट करते हैं तथा हिंदी दिवस विशेस शायरी कोट्स से सारा माहोल हिन्दीमय रूप ले लेता हैं. Hihindi.com की टीम की तरफ से आपकों हिंदी भाषा को समर्पित हिंदी दिवस 2018 की हार्दिक शुभकामनाएं.

हिंदी भाषा का महत्व पर निबंध हिंदी में- Hindi Bhasha Ka Mahatva Essay In Hindi- Hindi Diwas Ka Mahatva Par Nibandh

हिंदी भाषा का महत्व क्या है, वर्तमान में हिंदी भाषा का महत्व, राजभाषा हिन्दी का महत्व, भाषा का महत्व निबंध, मानव जीवन में भाषा का महत्व, शिक्षा में भाषा का महत्व, हिन्दी भाषा का महत्व पर कविता, हिंदी भाषा का महत्व पर छोटा निबंध, हिंदी भाषा के महत्व पर निबंध.

hindi ka mahatva in hindi wikipedia, matra bhasha ka mahatva in hindi, bhasha ka mahatva hindi mai, adhunik bharat mein hindi bhasha ka mahatva, hindi bhasha par nibandh hindi me, essay on hindi language in hindi for students, hindi bhasha ka mahatva kya hai, desh ke vikas me hindi ka mahatva, Essay On Hindi Bhasha Ka Mahatva In Hindi.

essay on hindi language in hindi for students, importance of hindi in modern india, hindi bhasha ka mahatva, hindi bhasha ka mahatva essay in hindi language, hindi bhasha ka vikas, hindi bhasha ka mahatva speech in hindi, hindi ka mahatva, hindi bhasha ka mahatva par nibandh, hindi bhasha ka vikas essay in hindi, hindi diwas ka mahatva, hindi bhasha ka mahatva essay in hindi, rashtrabhasha hindi essay in hindi, hindi ka mahatva par nibandh, hindi bhasha ka mahatva in hindi, rashtrabhasha hindi, hindi bhasha, hindi bhasha ka mahatva par kavita, hindi ka mahatva par bhashan, essay on hindi language in hindi, hindi diwas poem.

Essay On Hindi Bhasha Ka Mahatva In Hindi

आज हिंदी का इन्टरनेट पर निरंतर विकास हो रहा हैं. गूगल ने भी हिंदी में टाइपिंग के लिए ऐसे टूल विकसित किए हैं. जिनसे अंग्रेजी में टाइप करने पर स्वतः हिंदी के वर्ण आ जाते हैं. हिंदी के विकास में इसका अहम योगदान रहा हैं. जिसकी बदौलत आज इन्टरनेट के युग में हम विभिन्न वेबसाइटों पर हिंदी में कंटेट पढने को मिल रहे हैं.

भारत के बहुत से दक्षिणी एवं पूर्वी राज्यों में आज हिंदी को समझा जाने लगा हैं. भले ही कहने को हम गर्व करते है कि हमारी मातृभाषा हिंदी विश्व की तीसरी सबसे बड़ी भाषा हैं. मगर हम इसका अपमान स्वयं करते हैं. पहली क्लाश में एडमिशन लेने वाले बच्चे को यस सर और मे आई कम इन सर जैसे अंग्रेजी शब्दों के साथ लाते है. जिसका मतलब स्वयं उस बालक को भी पता नही होता हैं.

हम भी अपनी बोलचाल की भाषा में अंग्रेजी के शब्दों को बोलना गर्व की बात समझते है. हमें कब समझ आएगा. एक गुलामी की प्रतीक अंग्रेजी भाषा को टूटी फूटी बोलकर हम कब तक उन्हें अपमानित करते रहेगे. क्या दोष है हमारी हिंदी में जो हम अंग्रेजी के दीवाने होते जा रहे हैं. सबसे बड़ी प्रशासनिक नौकरियों में आज भी हिंदी माध्यम की सरकारी स्कूलों में पढ़े बच्चें आगे आ रहे हैं.

हमारी न्याय व्यवस्था हो या सरकारी सिस्टम इन्होने भी हिंदी भाषा का बढ़ चढकर अपमान किया हैं. आज भी हमारे लोगों की यह मानसिकता बनी हुई है कि दो चार अंग्रेजी की स्पेलिंग, ट्विंकल-ट्विंकल लिटिल स्टार कविता और अंग्रेजी वर्णमाला क्या सीख लेते पूरे मोहल्ले में ढिढोरा पीटने लग जाते हैं.

16 वीं एवं 17 वीं सदी का युग जब भारत में पुनर्जागरण एवं सुधारवाद का काल ऐसा था. जब भारत के उत्तर दक्षिण पूर्व पश्चिम चारों दिशाओं में Hindi Bhasha को बोला जाता था. बस लार्ड मेकाले की बदनीयती ने भारत पर अंग्रेजी थोपने की तमन्ना ने भारत की सांस्कृतिक एकता को ही ध्वस्त नही किया बल्कि आज की युवा पीढ़ी को अंग्रेजी के गुलाम बनाकर रख दिया.

आज भी हमारे शासन की भाषा का माध्यम अंग्रेजी बनी बैठी हैं. हिंदी कुछ ही मातृभाषा प्रेमियों, कवियों एवं साहित्यकारों तक सिमट कर रह गई हैं. हिंदी की दुर्दशा के लिए जितने जिम्मेदार अन्य कारक है उससे कही अधिक फिल्म जगत ने हिंदी को अपमानित करने में कोई कसर नही छोड़ी हैं.

हिंदी भाषा की फिल्म बनाने वाले अभिनेता सिर्फ और सिर्फ अंग्रेजी में ही इन्टरव्यू देते नजर आएगे. उन्हें यह एहसास नही है हम जिसकी वजह से आज स्टार बने है वह हिंदी ही हैं. मगर खुद को साना दिखाने के लिए वो अंग्रेजी बोलते है. उनके लाखों अंध भक्त उनकों फॉलो करते हैं. हिंदी दिवस के अवसर पर हमें स्वयं जागना होगा तथा हिंदी का अपमान करने वालों को सबक सिखाना होगा. तभी इस देश की राष्ट्र भाषा के पद पर हिंदी भाषा स्थापित हो सकेगी.

हमारे युवा वर्ग को चाहिए कि वो अपनी मातृभाषा हिंदी के महत्व को समझे, अपने ह्रदय में इसे सजोकर रखे और इसकी दुर्दशा होने से केवल हम और आप ही बचा सकते हैं. आज जरुरी नही उच्च पदों के लिए हमें हिंदी को छोड़ना पड़ेगा. यदि ऐसा किसी नौकरी के लिए करना भी पड़े तो हमें हिंदी से दूरी बनाने की बजाय इसे अपनी भाषा ही बनाकर रखना चाहिए. जब भारत के प्रधानमन्त्री हिंदी से ही विश्व भर में अपना काम चला सकते हैं. फिर हम क्यों नही.

हिंदी का महत्व पर निबंध। Essay on Hindi ka Mahatva

निजभाषा उन्नति अहै, सब उन्नति कौ मूल।
बिन निज भाषा ज्ञान के, मिटे न हिय को सूल।

एक आजाद मुल्क के प्रतीक उनका क्षेत्रफल, राष्ट्र ध्वज, राष्ट्र गान, राष्ट्रीय चिह्न जितने मायने रखते हैं. उतनी ही महत्वपूर्ण उस देश की राष्ट्रभाषा होती हैं. देश की एकता, अखंडता एवं स्थायित्व के लिए एक राष्ट्रभाषा होना परिहार्य हैं.

भारत के स्वतंत्रता सैनानियों का सपना था, कि हम विषम भाषा परिस्थतियों से गुजरे है वो आजाद भारत के नागरिकों को नही झेलनी पड़े. इसके लिए उन्होंने हिंदी को भारत की राष्ट्र भाषा बनाने की बात कही थी.

इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारी संविधान सभा द्वारा 14 सितम्बर 1949 को भारतीय संघ की राजभाषा के रूप में हिंदी को स्वीकार किया था.

सर्वव्यापकता, प्रचुर साहित्य रचना, बनावट की दृष्टि से सरलता और वैज्ञानिकता ये वो गुण है जो किसी देश की आधुनिक भाषा में होने चाहिए. जो राष्ट्रभाषा बनने का दावा करती हैं. हिंदी भाषा इन सम्पूर्ण गुणों से परिपूर्ण हैं. अतः अब समय आ चूका है. गुलामी की निशानी अंग्रेजी को उखाड़ फेककर हिंदी को भारत की राष्ट्रभाषा बनानी चाहिए.

आज भारत में ऐसा कोई राज्य नही हैं. जहाँ के लोग बिलकुल भी हिंदी से अपरिचित हैं. अहिन्दी भाषी राज्यों में बड़ी संख्या में लोग मिल जाएगे जो हिंदी को अच्छी तरह समझते हैं. इसके उल्ट भारत के 1 या 2 प्रतिशत ही लोग ऐसे है जो अंग्रेजी को ठीक से समझते हैं अथवा आम बोलचाल में उसका उपयोग करते हैं.

  • हिंदी भाषी राज्य- उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली
  • द्वितीय भाषा हिंदी वाले राज्य- पंजाब, गुजरात, महाराष्ट्र और अंडमान निकोबार
  • अहिन्दी भाषी राज्य- तमिल नाडु, पाण्डिचेरी, मणिपुर, मिज़ोरम, त्रिपुरा, मेघालय (इन राज्यों में 1 से 2 प्रतिशत लोग ही हिंदी जानते हैं)

(हिंदी भाषा का महत्व)

आशा करता हूँ आपको यहाँ Hindi Bhasha Ka Mahatva का Hindi Essay का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. इन्हें आप 14 सितम्बर हिंदी दिवस 2018 पर भाषण, निबंध के रूप में प्रस्तुत कर सकते हैं.

हिंदी भाषा के महत्व को राष्ट्र विकास एवं एकता के सन्दर्भ में कभी भी नकारा नही जा सकता हैं. तुलसी जैसे कवियों की याद आती है. जब लोग हिंदी के हश्र की बात करते हैं. विदेशी आक्रान्ताओं के आक्रमण से त्रस्त भारतीय जनता को भक्ति मार्ग से बांधने वाली भाषा हिंदी ही थी.

14th September Hindi Day के दिन मातृभाषा हिंदी के इतिहास, महत्व, भविष्य एवं साहित्य का समाज में योगदान को देखा जाता हैं.

Hindi Bhasha से जुड़े अन्य लेख आप पढना चाहते हैं. तो हम आपकें लिए हिंदी डे 2018 के लिए कई बेहतरीन आर्टिकल लेकर आए हैं. जिनकी लिंक आपकों निचे मिल जाएगी.

यदि आपको इस पोस्ट में Hindi Bhasha Ka Mahatva Essay In Hindi On Hindi Diwas अच्छी लगे तो इन्हें अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे।

कंप्यूटर का परिचय | Computer Introduction In Hindi... कंप्यूटर का परिचय | Computer Introd...
राष्ट्रीय एकता और अखंडता पर निबंध | Essay on National Unity and Integr... राष्ट्रीय एकता और अखंडता पर निबंध |...
आतंकवाद की समस्या पर निबंध | Hindi Aatankwad Ki Samasya Essay... आतंकवाद की समस्या पर निबंध | Hindi ...
प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *