मेरा कमरा पर निबंध | Essay On My Room In Hindi

मेरा कमरा पर निबंध Essay On My Room In Hindi: नमस्कार दोस्तों आपका स्वागत है यहाँ हम मेरे कमरे के बारे में अनुच्छेद निबंध भाषण उपलब्ध करवा रहे हैं. छोटे बच्चे इस निबंध को मेरा प्रिय कमरा, मेरे घर का कमरा आदि पर छोटा और शानदार एस्से लिख सकते हैं.

Essay On My Room In Hindi

Essay On My Room In Hindi

We all love our room very much. Often children in small classes are asked to write essays on my room in Hindi. With the help of this essay, speech, article, you can submit a simple short essay on my room in simple language.

मेरा कमरा निबंध एस्से इन हिंदी। My Room Essay in hindi

हम सभी अपने घर से बेहद लगाव रखते हैं तथा स्वर्ग से अधिक सुंदर बनाने के लिए प्रयत्न करते हैं. घर में हमारे लिए अलग अलग कमरे होते है माता, पिता, भाई, बहिन के लिए होते है. जहाँ हम पढ़ने लिखने, टीवी देखने तथा अन्य व्यक्तिगत कार्य करते हैं.

मुझे भगवा रंग बेहद प्रिय है जो मेने अपने कमरे में करवाया हैं. बेहद सुंदर एवं बड़ा मेरा कमरा मुझे अति प्रिय हैं. मैं अपने चाहत के सारे कार्य यही करता हूँ. रात को बड़े से बिस्तर पर अपने प्रिय खिलौने टेडी बियर के साथ सो जाता हूँ. कमरे में दो छत पंखे एवं एक टेबल पंखा है.

मेरे पढ़ने के लिए एक मेज एक कुर्सी एवं छोटे पुस्तकालय के रूप में एक अलमारी रखी हुई हैं. मेरे बिस्तर के सामने वाली दीवार पर एक घड़ी, महापुरुषों की तस्वीरे एवं एक कपड़ों की अलमारी हैं, जिसमें मेरे सभी कपड़े रखे हैं. अलमारी के ऊपर प्रकृति की सुंदर तस्वीरें भी लगाई हुई हैं.

मेरा कमरा एक आदर्श रूम है जहाँ नित्य जरूरत की सभी चीजे उपलब्ध है. एक बड़ा दर्पण, मेरे जूते व स्कूल के बस्तें को रखने का स्टेंड, क्रिकेट की किट और बड़ा सा रंगीन बेड. रात को बेड पर सोकर भरपूर नींद लेने के बाद सवेरे स्कूल चला जाता हूँ.

मैं रोजाना बाजार से अपने कमरे को सजाने के लिए कोई न कोई तस्वीर, स्टीकर या माला अवश्य लाता हूँ. दिवाली, होली और जन्मदिन इन तीन अवसरों पर मेरा कमरा पूरी तरह दुल्हन की तरह सज धज जाता हैं. प्रवेश द्वार पर रंगोली सुंदर लाइट से यह स्वर्ग की तरह प्रतीत होता हैं.

इस तरह मेरा कमरा मेरे दिल के बेहद करीब हैं. जब स्कूल से थककर घर आता हूँ, तो यही बैठकर खाना खाता हूँ. कुछ मिनट बिताने के बाद जो सुकून एवं शान्ति मिलती है अन्यत्र दुर्लभ हैं. एक मन्दिर की भांति पावन एवं पवित्र वातावरण और मेरी भावनाओं से जुड़ा कमरा मैं कभी खोना नहीं चाहूँगा.

सवेरे उठने के बाद मेरा पहला काम बिस्तर ठीक करने के बाद कमरे में झाड़ू लगाने का होता हैं. मुझे अपने हाथ से सफाई करने के बाद ही संतुष्टि मिलती है इसी कारण यह कार्य किसी के भरोसे छोड़ने या टालने की बजाय दिल से करता हैं. हर रविवार के दिन की छुट्टी को मैं पुरे कमरे को अच्छी तरह साफ़ रखता हूँ.

पहले पहले मैं बहुत लापरवाह था. मम्मी पापा पर हरेक काम के लिए निर्भर रहा करता था. मगर धीरे धीरे मैंने स्वावलम्बी बनने के लिए इसकी शुरुआत अपनी जीवन शैली में बदलाव लाकर की. साफ़ सफाई के विषय में मेरी जागरूकता माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देखकर उनके विचारों को सुनकर जगी. तभी से मैं पूरे मन से सफाई करता हूँ. मेरे कमरें में लगी तस्वीरों में एक सुंदर तस्वीर मोदीजी की भी हैं.

यह भी पढ़े

आशा करता हूँ दोस्तों Essay On My Room In Hindi का यह निबंध आपकों पसंद आया होगा. यदि आपकों इस लेख में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *