भारत की विरासत पर निबंध | Essay On Indian Heritage In Hindi

आज के लेख में Essay On Indian Heritage In Hindi का भारत की विरासत पर निबंध साझा कर रहे हैं, बच्चों के लिए सरल भाषा में भारत की कला संस्कृति इतिहास पर आधारित essay on indian heritage and culture Speech बता रहे हैं. कक्षा 1,2,3,4, 5, 6,7,8,9, 10 के बच्चों के लिए यहाँ भारत की विरासत छोटा बड़ा निबंध लिख रहे हैं.

Essay On Indian Heritage In Hindi

Essay On Indian Heritage In Hindi

किसी भी देश की अपनी सभ्यता संस्कृति होती हैं. जो सम्बन्धित देश एवं राज्य को विरासत में मिलती हैं. संस्कृति एवं सभ्यता ही वह चीज होती हैं जो दूसरे देश से अलग करती हैं. भाषा रहन सहन, जीवन दर्शन, साहित्य ललित कला परम्परा आदि उसे एक देश को दूसरे अन्य देश से अलग करती हैं.

भारत को आध्यात्मिक जीवन दर्शन, साहित्य, ललित कला, संस्कृति, भाषा आदि भारत को सदियों पुरानी विरासत में मिले हैं. भारत की विरासत की दुनियां भर अपनी अलग पैठ हैं जिसकों देखने व समझने के लिए हर साल लाखों की संख्या में विदेशी सैलानी यहाँ आते हैं.

हमारे देश में भारतीय दर्शन, आध्यात्म, धार्मिक सहिष्णुता, विविधता में एकता और ऐतिहासिक धरोहरों कुछ ऐसी अनूठी विरासत हैं जिन पर प्रत्येक भारतीय को अभिमान होता हैं.

भारत की सभ्यता का प्रमाणित इतिहास पांच हजार से अधिक वर्षों का हैं. इतने लम्बे कालखंड में सैकड़ों विदेशी आक्रमणकारी जातियों ने यहाँ आक्रमण किये और यही के होकर रह गये. भारत की सनातन परम्परा को छोड़कर अन्य कोई विचारधारा अपने अस्तित्व में नहीं हैं अगर हैं भी तो वे न के बराबर हैं.

प्राचीन भारतीय हिन्दू समाज सहिष्णु था जिसका प्रभाव आज के सम्पूर्ण भारतीय समाज पर स्पष्ट रूप से देखा जा सकता हैं. भारत में आज हिन्दू, मुस्लिम, सिख, इसाई, बौद्ध, जैन, पारसी, यहूदी सभी मतों को मानने वाले लोग रहते हैं. भारत का संविधान भी राज्य को धर्म से अलग रखते हुए, धर्मनिरपेक्षता के विचार को अपनाएं हुए हैं.

भारत में 12 महीने तक त्योहारों मनाए जाए हैं जिसके चलते इसे त्योहारों का देश भी कहते हैं. 15 अगस्त, 26 जनवरी, गांधी जयंती ये भारत के तीन राष्ट्रीय त्यौहार माने गये हैं. इनके अलावा बड़े त्योहारों में होली, दिवाली, ईद, क्रिसमस, लोहिड़ी, राखी आदि को सभी धर्मों के अनुयायी मिलकर भाईचारे का संदेश देते हुए मनाते हैं.

इतिहास से जुड़े कई महत्वपूर्ण स्थल भारत की विरासत का हिस्सा हैं. जिनमें नालंदा, राजगीर, बोधगया और वैशाली गौतम बुद्ध से जुड़े स्थल हैं. वही अन्य स्थलों में कुरुक्षेत्र, मथुरा, वाराणसी, प्रयाग, हरिद्वार, सारनाथ, अयोध्या, खजुराहों, साँची, अजन्ता एलोरा, पुरी आदि भारत के पुरा ऐतिहासिक स्थल हमारी विरासत की धरोहर हैं.

भारत के धार्मिक एवं ऐतिहासिक स्थलों पर भ्रमण के लिए लाखों की संख्या में विदेशी यात्री भारत आते हैं. मुगलकालीन स्थापत्य एवं ललित कला की दुनियां में अपनी एक अलग पहचान हैं. जिनमें आगरा का ताजमहल, दिल्ली का लाल किला, कुतुबमीनार आदि शामिल हैं. महाराष्ट्र की अंजता एवं एलोरा की गुफाओं, बिहार के नालंदा तथा उड़ीसा के पुरी जैसे महत्वपूर्ण स्थलों पर सरकार की कई योजनाएं कार्य कर रही हैं.

भारत की आध्यात्मिक नगरी काशी का पुनरोद्धार भारत की विरासत को बचाने की दिशा में एक मील का पत्थर हैं. भारतीय शास्त्रीय संगीत की विश्व में अलग ही स्थान हैं. शास्त्रीय के अतिरिक्त अन्य गीत शैलियाँ निम्न हैं. ध्रुपद, धमार, ख्याल, तराना, ठुमरी, गजल, टप्पा, होरी, भजन, गीत, लोकगीत आदि भारत की संगीत की प्राचीन शैलियाँ हैं.

Bookshindi: यहाँ आप समस्त हिन्दी पुस्तकों को फ्री में पढ़ सकते हैं अथवा खरीद भी सकते हैं. क्योकि जब पढ़ेगा इण्डिया तभी बढ़ेगा इंडिया.

यह भी पढ़े

मित्रों भारत की विरासत पर निबंध में दिया गया निबंध एक बुरी घटना का था, भगवान करे ऐसा किसी के साथ न घटे. Essay On Indian Heritage In Hindi आपकों भी याद हो तो हमारे साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *