गुलाबी नगरी जयपुर पर निबंध – Essay On Jaipur In Hindi

This Paragraph About information about Jaipur in Hindi. Short Best Long Essay on Jaipur in Hindi Language. गुलाबी नगरी जयपुर पर निबंध, Jaipur par Nibandh Pink City Rajasthan Ki Rajdhani Ki Jankari.

गुलाबी नगरी जयपुर पर निबंध – Essay On Jaipur In Hindi

गुलाबी नगरी जयपुर पर निबंध - Essay On Jaipur In Hindi

आज हम उस शहर की यात्रा पर हैं जिनके साथ अपनापन जुड़ा हैं. जी हाँ राजस्थान के राजधानी शहर जयपुर की बात चल रही हैं, मैं इसी मेट्रो सिटी में रहता हूँ राजस्थान का ही नहीं भारत के अग्रणी दर्शनीय स्थलों में शुमार मेरे जयपुर को पिंक सिटी यानी गुलाबी नगर के नाम से भी जाता हैं. इसके भवनों की पुताई गुलाबी रंग से होने के कारण इसको यह नाम दिया गया था. राजा महाराजाओं के काल में इस क्षेत्र की राजधानी आमेर हुआ करती थी, जो जयपुर के पास ही स्थित हैं. आमेर के महाराजा सवाई जय सिंह द्वितीय ने १७२७ ईस्वी में आमेर से 11 किमी दूर जयपुर नगर को बसाया था. 

वर्तमान में जयपुर की कुल आबादी 50 लाख से अधिक हैं. इस शहर के इतिहास से एक महत्वपूर्ण घटना जुडी हुई हैं, जिसके चलते इसका रंग रूप पूरी तरह बदल गया था. 

1833 में जब प्रिंस ऑफ वेल्स के जयपुर आगमन पर महाराजा ने नगर के समस्त भवनों को उनके स्वागत में  गुलाबी रंग से पुतवा दिया. तब से यह आज तक परम्परा के रूप में चला आ रहा हैं.रोजाना हजारों की  संख्या में देशी विदेशी  पर्यटक  जयपुर घूमने के लिए आते हैं. यहाँ के मुख्य आकर्षण प्राचीन किले व दुर्ग के आलावा चंद्रमहल रामनिवास उद्यान में स्थित म्यूजियम¸ जलमहल¸ शीशमहल¸ जयगढ़¸ नाहरगढ़ का किला जंतर-मंतर खासे प्रसिद्ध हैं. जयपुर दस्तकारी रंग-बिरंगे कपड़ें रत्न व राशियों के नगीने और जयपुर की रजाइयाँ में विश्व भर में अपनी एक अलग धाक रखता हैं.

Jaipur Essay In Hindi

जयपुर शहर की प्रसिद्धि का अन्य कारण उसकी स्थापत्य कला एवं कलाकृति भी हैं. प्राचीन भारतीय वास्तुकला के अनुरूप इस शहर को तैयार किया गया था. पर्यटन के लिहाज से जयपुर एशिया महाद्वीप का सातवाँ बड़ा शहर हैं.

स्वतंत्रता के बाद शहर के विकास पर पर्याप्त ध्यान दिया गया. आज यह शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार के हब के रूप में विकसित हो चूका हैं. जयपुर में आज 40 से अधिक इंजीनियरिंग कॉलेज 27 बिजनेस मैनेजमेंट संस्थान 15 फार्मेसी संस्थान 4 होटल मैनेज मेंट संस्थान 3 मेडीकल कॉलेज और 6 डेंटल कॉलेज तथा 8 सरकारी व निजी युनिवर्सिटी भी हैं.क्रिकेट की बड़ी प्रतियोगिताओं के लिए सवाई मानसिंह क्रिकेट स्टेडियम भी हैं इसके अलावा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा व मेट्रो प्रणाली के सहारे शहरी जीवन को आधुनिक सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही हैं. जयपुर में सन् 1592 में बने किले एवं महलों में हिन्दू व मुगल वास्तुकला का सुंदर समन्वय देखने को मिलता हैं.

# जयपुर की यात्रा पर निबंध #Essay on Jaipur Visit in Hindi

ध्यान दें– प्रिय दर्शकों Essay on Jaipur in Hindi Language ( Article ) आपको अच्छा लगा तो जरूर शेयर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *