संयुक्त राष्ट्र संघ (यू.एन.ओ.) पर निबन्ध | Essay On United Nation Organisation U.N.O.in Hindi

संयुक्त राष्ट्र संघ (यू.एन.ओ.) पर निबन्ध | Essay On United Nation Organisation U.N.O.in Hindi

संयुक्त राष्ट्र संघ की स्थापना इसके महासचिव सदस्य देश UNO के उद्देश्य, संयुक्त राष्ट्र संघ और भारत का योगदान इसके अंग व उनके नाम तथा महत्वपूर्ण सिद्धांतों के बारे में इस निबंध में विस्तार से जानकारी दी गईं हैं.संयुक्त राष्ट्र संघ (यू.एन.ओ.) पर निबन्ध | Essay On United Nation Organisation U.N.O.in Hindi

सम्राज्यवाद के पतन के बाद भी विज्ञान के अत्याधुनिक उपकरणों के आविष्कार के बाद युद्ध तथा विजय से एक राष्ट्र का दूसरे पर अधिकार जमाने का दौर फिर से 1950 के दशक में चला था. विश्व दो महाशक्तियों में विभाजित हो चूका था एक तरफ सोवियत संघ रूस एवं उनके समर्थक देश थे तो दूसरी तरफ अमेरिका के नेतृत्व में पूंजीवादी देश. छोटे मोटे कारणों से युद्ध जैसी तनाव की स्थति उत्पन्न हो गयी थी. विश्व इससे पूर्व पहले वर्ल्ड वॉर की बर्बादी झेल चूका था. अतः विश्व शांति के लिए एक ऐसे अंतर्राष्ट्रीय मंच की आवश्यकता महसूस की गईं, जहाँ विश्व के सभी देश एक साथ बैठकर विवादों का हल निकाल सके, यही से संयुक्तराष्ट्र संघ यानि U.N.O. का जन्म हुआ.

कई सारे उद्देश्य जिनमें अंतर्राष्ट्रीय कानून निर्माण तथा उनको लागू करना, विश्व सुरक्षा, आर्थिक व सामाजिक विकास, देशों के बिच विवादों के निपटारे को लेकर 24 अक्टूबर 1945 को संयुक्त राष्ट्र संघ U.N.O. की स्थापना की गईं. इसी वजह से 24 अक्टूबर को ही हर साल संयुक्त राष्ट्र संघ दिवस भी मनाया जाता हैं.

आज U.N.O. सदस्य देशों की संख्या 200 के पार पहुच चुकी हैं, स्थापना के समय इसके सदस्य देशों की संख्या मात्र 51 थी, जिनमें भारत में शामिल हैं. कोई भी राष्ट्र U.N.O. की सदस्यता ले सकता हैं, इसके लिए उन्हें इन शर्तों का पालन करना होगा.

  1. U.N.O. द्वारा निर्धारित जिम्मेदारियों को पूरा करना
  2. इनकी मुख्य परियोजनाओं को पूरा करने के लिए हर समय तैयार रहना
  3. उस सदस्य की सदस्यता के लिए सुरक्षा परिषद के पाँचों स्थायी देशों की सहमती आवश्यक हैं,
  4. तथा संयुक्त राष्ट्र संघ महासभा से दो तिहाई बहुमत प्राप्त हो.

U.N.O. द्वारा छ भाषाओं को मान्यता प्रदान की गईं हैं जिनमें अंग्रेजी, फ्रेंच, रुसी, चीनी, अरबी और स्पेनिश. इस संगठन का मुख्यालय अमेरिका के न्यूयार्क शहर में हैं. 20 अक्टूबर 1947 को U.N.O. का अपना ध्वज स्वीकार किया गया था, जों नीली प्रष्टभूमि तथा सफेद रंग से तैयार किया गया विश्व मानचित्र का प्रतिरूप हैं. इसमें जैतून की पत्तियां विश्व शांति के प्रतीक के रूप में दर्शाई गईं हैं.

संयुक्त राष्ट्र के वर्तमान महासचिव एंटोनियो गुटेरेश है जो पुर्तगाल के हैं, जिन्होने 1 जनवरी 2017 को अपना कार्यकाल सँभाला. U.N.O. के छ अंग हैं, जो निम्नलिखित हैं.

  1. महासभा
  2. सुरक्षा परिषद्
  3. आर्थिक एवं सामाजिक परिषद
  4. न्यासी परिषद्
  5. अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय
  6. सचिवालय व महासभा.

संयुक्त राष्ट्र संघ महासभा U.N.O. का मुख्य अंग है. जिसमें सभी सदस्य देशों के प्रतिनिधि शामिल होते है, जिसकी वर्ष में एक बार बैठक होती है. महासभा में भारत के प्रतिनिधि अकबरुद्दीन हैं. U.N.O.की सबसे प्रभावशाली संस्था सिक्योरिटी कौंसिल यानि सुरक्षा परिषद होती हैं, जिनके रूस, अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन व चीन स्थायी पांच सदस्य है. जबकि दस अस्थायी सदस्यों में भारत भी एक हैं. जिसका कार्यालय न्यूयार्क में हैं. कानूनों के निर्माण उनकों लागू करना तथा अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा व शान्ति व्यवस्था में सुरक्षा परिषद् का अहम योगदान हैं.

सुरक्षा परिषद के अस्थायी दस सदस्यों का निर्वाचन महासभा द्वारा किया जाता हैं. स्थायी सदस्यों के पास विशेष निषेधिकार यानि वीटो पॉवर होता हैं, जो संघ के किसी भी निर्णय व प्रस्ताव के विरोध में देने पर प्रस्ताव पारित नही हो पाता हैं. आर्थिक एवं सामाजिक U.N.O. का महत्वपूर्ण अंग हैं, जिसके 54 सदस्य देश हैं, जिनका कार्यकाल तीन वर्ष का होता हैं. इसका मुख्यालय न्युयोर्क में हैं.

आर्थिक एवं सामाजिक सुरक्षा परिषद के 1/3 सदस्य प्रतिवर्ष पदमुक्त होते हैं उसके स्थान पर नये सदस्यों का निर्वाचन किया जाता हैं. इस संस्था द्वारा विश्व के सभी देशों के मध्य चल रहे आपसी विवादों का निपटान तथा सभी आर्थिक गतिविधियों का आंकलन, सर्वेक्षण एवं आकंडे जारी करने का कार्य भी किया जाता हैं.

न्यासी परिषद U.N.O. का महत्वपूर्ण अंग हैं, जिनके १२ देश सदस्य हैं. जिनमें चार प्रबन्धीय राष्ट्र, तीन स्थायी तथा पांच निर्वाचित सदस्य होते हैं. इस अंतर्राष्ट्रीय संगठन का अपना एक न्यायालय हैं, जिसे अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के नाम से जाना जाता है, जिसकी स्थापना 3 अप्रैल 1946 कनीदरलैंड की राजधानी हेग में की गईं, जो अंतर्राष्ट्रीय कानूनों तथा इससे सम्बन्धित विवादों का निपटारा करता हैं. इसके न्यायधीशों का निर्वाचन नौ वर्षों के लिए होता हैं, वर्तमान में इसमें 15 न्यायधीश हैं.

इस न्यायालय की आधिकारिक भाषा अंग्रेजी व फ्रेंच हैं, इसके पांच जज हर 3 साल में पदमुक्त होते हैं. एक ही देश के दो जज नहीं चुने जाने का भी प्रावधान हैं. इन पांच अंगों के अतिरिक्त सचिवालय यूनाईटेड नेशंस ऑर्गेनाइजेशन का महत्वपूर्ण अंग हैं, जिसका भी एक महासचिव होता हैं, जो अपने निर्वाचन से आगामी पांच वर्षों तक अपने पद पर बना रहता हैं. सचिवालय संसार भर में घटित हर छोटी मोटी घटना पर नजर रखता हैं, जिससे विश्व सुरक्षा व शान्ति को खतरा उत्पन्न हो सकता हैं. तथा इसकी रिपोर्ट सुरक्षा परिषद को देता हैं.

इनके अतिरिक्त कुछ और संस्थाएं है, जिनमें अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन, अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा अधिकरण, खाद्य एवं कृषि संगठन, सयुक्त राष्ट्र शिक्षा, विज्ञान एवं संस्कृति से जुड़ा यूनेस्को तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन मुख्य कार्यकारी संस्थाएं व संगठन हैं.

संयुक्त राष्ट्र संघ के मुख्य उद्देश्य निम्न हैं.

  • अंतर्राष्ट्रीय शान्ति व सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखना
  • विभिन्न देशों के बिच उनके अधिकारों का संरक्षण तथा आत्म निर्णय के आधार पर दोस्ताना सम्बन्धों को बढ़ावा.
  • आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक एवं मानव हितवादी अंतर्राष्ट्रीय समस्याओं को सुलझाने के लिए मानवीय अधिकारों तथा सबके लिए मौलिक स्वाधीनता के प्रति समान भावना बढ़ाने में अंतर्राष्ट्रीय सहयोग प्राप्त करना.
  • समान लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए राज्य द्वारा किए जाने वाले कार्यों में सामजस्य बैठाना.

संयुक्त राष्ट्र संघ की सफलता और असफलताओं पर गौर किया जाए तो U.N.O.अपने उद्देश्यों में काफी हद तक सफल रहा है. इस बात में कोई शंक नही कि इस पर अमेरिका का वर्चस्व अभी तक चल रहा हैं, जिस कारण इसकी निष्पक्षता का दावा खोखला ही नजर आता है. दूसरी तरफ संयुक्त राष्ट्र संघ की सफलता को भी नजर अंदाज नही किया जा सकता, आज वैज्ञानिक प्रगति के साथ साथ U.N.O. ने कई क्षेत्रों में महत्वपूर्ण कार्य किए हैं.

कई देशों के आपसी विवादों को सुलझाने में इसने सफलता हासिल की हैं. सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य वीटों पावर का उपयोग अपने निजी स्वार्थ के लिए न करके मानव कल्याण के लिए मिलकर कार्य करे तो निसंदेह संयुक्त राष्ट्र संघ आगामी वर्षों में कई महत्वपूर्ण भूमिकाएं अदा कर सकता हैं.

READ MORE:-

Please Note :- अगर आपको हमारे sanyukt rashtra sangh in hindi अच्छे लगे तो जरुर हमें Facebook और Whatsapp Status पर Share कीजिये.

Note:- लेख अच्छा लगा हो तो कमेंट करना मत भूले. These uno Wikipedia in Hindi used on:- निर्जला एकादशी व्रत कथा इन हिंदी, about Uno, united nations history, Essay On United Nation Organisation U.N.O.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *