Father’s Day In Hindi निबंध कविता मेसेज और इतिहास

Father’s Day In Hindi-18 जून 2017 रविवार को भारत में फादर्स डे (पितृ दिवस) International father’s day मनाया जाएगाः. यह पश्चिम संस्क्रति और सभ्यता का एक त्यौहार हैं , जिन्हेँ अमेरिका यूरोप सहित दुनिया के लगभग सभी देशो में मनाया जाता हैं | इस दिन पिता के योगदान को याद कर उन्हें सम्मानित कर उपहार भेट कर उनकी लम्बी आयु की कामना की जाती हैं, दुनियाभर में इस दिन सरकारी अवकाश घोषित होता हैं, संयोगवश इस वर्ष रविवार को फादर्स डे होने के कारण भारत में अधिकतर दफ्तर बंद रहेगे | भारतीय सभ्यता में माता-पिता को भगवान् का दर्जा प्राप्त हैं , बदलते वैश्विक परिद्रश्य में हमारी नईं पीढ़ी इन गुणों को भूलती जा रही हैं, मगर फादर्स डे विशेष रूप से उन्ही को समर्पित हैं |

फादर्स डे निबंध (Father’s Day Nibandh In Hindi)

पितृत्व-बंधन को याद करने हेतु फादर डे विश्व के सभी देशो में जून महीने के तीसरे अथवा चौथे सप्ताह में प्रतिवर्ष मनाया जाता हैं | मदर्स डे की तरह ही इसमें भी पिता को उनकें पसंद की चीज भेट कर अच्छे प्रोग्राम आयोजित किये जाते हैं | इस दिन को मनाने के पीछे 100 साल पुरानीं कहानी हैं, इसकी पितृ दिवस शुरुआत इसी घटना के बाद हुई |

जिसमे जुलाई के पहले सप्ताह 1908 इसे पहली बार अमेरिका और यूरोप में एक साल पहले मारे गयें खान पिताओं की याद में मनाना शुरू किया गया | वर्जीनिया की एक कोयले की खान में 200 से अधिक मजदुर काम कर रहे थे. किसी कारणवश उस खान के ढह जाने से इन सभी की म्रत्यु हो गईं थी. इन्ही पिताओ को याद करने के लिए यह पितृ दिवस मनाया जाता हैं |

प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में उनके माता-पिता का अहम योगदान होता हैं, माँ को प्रत्येक सभ्यता और संस्क्रति में उच्च स्थान दिया गया खासकर हमारी सभ्यता और संस्क्रती में. जिनकी वो हकदार भी हैं | मगर जो इंसान स्वय भूखा प्यासा परेशान रहकर अपनीं सन्तान को समय और भोजन और अच्छी शिक्षा का दिलाने का प्रयत्न करता हैं. उन्हें भी उतना ही सम्मान मिलना चाहिए जितना माताजी को मिलता हैं |

मेरे पिताजी में वे सारे गुण हैं, जो एक आदर्श पिता में होने चाहिए | मेरे लिए मेरे पिता भगवान् से भी बढ़कर हैं. वे न सिर्फ पिता हैं बल्कि मेरे अच्छे मित्र मार्गदर्शक और गुरु भी हैं | वो किसी भी हालात में किस प्रकार व्यवहार करना चाहिए , क्या सही हैं क्या गलत | किस समय क्या करना चाहिए ? जैसे मुश्किल सवालों के सही मार्गदर्शन मुझे अपने पिता से ही मिला हैं |

अनुशासित जीवन जीने की शिक्षा पिताजी ने ही सिखाई हैं, वे स्वय अनुशासन में रहते हैं उनकी दिनचर्या में कही आलसीपन या काम को टालने का तरीका मेने आज तक नही देखा | इन्ही को देखकर मेरी दिनचर्या भी अनुशासित और कार्य समय पर पूरा करने की आदते विकसित हुई हैं, वे माहोल के मुताबिक व्यवहार करना जानते हैं, प्रेम करते हैं तो कुछ गलत होने पर डाटते भी हैं, उनकी डाट शुरुआत में तो अच्छी नही लगती थी. मगर धीरे-धीरे समझ आने लगा | वो मेरे अच्छे के लिए ऐसा करते हैं |

कोई भी पिता अपने बेटे-बेटी की शिक्षा परिवार के भरन-पोषण के लिए अपनी पूरी जिन्दगी लगा देता हैं, चाहे उन्हें कमाने में हजारो मुशिकले उठानी पड़ी हो या कर्जा लिया हो . वो हमेशा अपने परिवार की बेहतरी के लिए जी-तोड़ मेहनत करते हैं |

Father’s Day Kavita In Hindi (Poems)

dreams to mere the.
par unhe pura karne
ka rasta koi aur
bataae ja raha tha.
vo koi aur nhi mere papa..


ye dunia sirf paiso se
chalti hai
ek insaan mere liye,
kamae ja rha the.
vo aur koi nhi mere papa hi the..


mai kamane ke liye..
ghar se bahar ja rha tha.
esliye rona aa gya
magar koi tha jo,
man hi man ro rha tha.
aur koi nhi papa hi ho skte hai..

Father’s Day MSG In Hindi

VO PITA HI HOTA HAI
JO APNE BETE KO
ACCHE SCHOOL ME PADHANE
KI JID KARTA HAI,
PAISE UDHAAR LEKE
DONESHAN BHARTA HAI,
PAAS NA HO TO DUSRE KE
BHI PAIR PADTA HAI,
VO PAPA HI HOTA HAI..


Hansi To Kabhi Anushasn Hai Papa,
Kabhi Moun To Kabhi Bhashan Hai Papa,
Agr Maa Ghar Ki Rasoi Hai
Vo Chalti hai Jisse Rashan Hai Papa..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *