Few Lines On Lotus Flower In Hindi कमल के फूल पर कुछ पंक्तियाँ

Lotus Flower – कमल का फूल सर्वाधिक सुंदर पुष्पों में गिना जाता हैं. ये आम तौर पर जलीय स्रोतों में देखने को मिलता हैं ये सफेद या गुलाबी रंगों में पाया जाता हैं. कमल के फूल को अंग्रेजी में इंडियन लोट्स कहते है यह भारत का राष्ट्रीय पुष्प भी हैं यहाँ हम कमल के फूल के बारें में कुछ रोचक जानकारियाँ आपकों बता रहे हैं.

Few Lines On Lotus Flower In Hindi कमल के फूल पर कुछ पंक्तियाँ

Few Lines On Lotus Flower In Hindi कमल के फूल पर कुछ पंक्तियाँ

  1. कमल भारत का राष्ट्रीय पुष्प हैं.
  2. कमल का वैज्ञानिक नाम ” निलम्बो न्यूसीफेरा (Nelumbo Nucifera) ‘है
  3. संस्कृत में कमल को कई नामों जैसे पद्म, पंकज, पंकरुह, सरसिज, सरोज, सरोरुह, सरसीरुह, जलज, जलजात, नीरज, वारिज, अंभोरुह, अंबुज, अंभोज, अब्ज, अरविंद, नलिन, उत्पल, पुंडरीक, तामरस, इंदीवर, कुवलय, वनज कहते हैं.
  4. फारसी में कमल को ‘नीलोफ़र’ कहते हैं और अंग्रेजी में इंडियन लोटस या सैक्रेड लोटस, चाइनीज़ वाटर-लिली, ईजिप्शियन कहा जाता हैं.
  5. देखने में कमल का फूल बेहद आकर्षक होता है जो सफेद या गुलाबी रंग का होता है जिसके गोल एवं लम्बी डंडियों के रूप में रेसा निकलता हैं.
  6. कमल के रेशों से मन्दिरों में प्रयुक्त दीपों की बत्तियां बनाई जाती हैं.
  7. कमल का फूल कीचड़ भरे स्थानों में उगते है परन्तु इसके फूल पर तनिक भी कीचड़ नहीं ठहरता हैं.
  8. कमल के फूल चैत्र से सावण तक पुष्पित होते हैं.
  9. जितना कमल देखने में मनमोहक होता है उतनी ही प्यारी इसकी महक होती है जिस पर भंवरे और मधुमक्खियाँ मंडराती रहती हैं.
  10. कमल के पुष्प को बहुत पवित्र, पूजनीय और सुंदरता, सद्भावना व शांति-समृद्धि का प्रतीक माना जाता हैं, इसे कई धार्मिक अनुष्ठानों में उपयोग किया जाता हैं.
  11. कमल के फूल का व्यास 15 इंच का होता है.
  12. इसके बीज, जड़ तथा पुष्प में कई आयुर्वैदिक गुण होते हैं कई तरफ की दवाइयों के निर्माण में इसका उपयोग किया जाता हैं.
  13. रंग के आधार पर भी कमल के अलग अलग नाम होते हैं सफ़ेद कमल को पुंडरीक, लाल कमल को कोकनद, नीले कमल को इंदीवर नाम से पुकारा जाता हैं.
  14. हिन्दू पुराणों में ब्रह्मा को विष्णु की नाभि से निकले कमल के फूल से उत्पत्ति मानी गई हैं.
  15. कमल के पुष्प में देवी लक्ष्मी का वास माना गया हैं.
  16. यह फूल सूर्य की रोशनी में ही खिलता हैं.
  17. मूत्रविकार, अतिसार, त्वचा रोग, रक्तस्त्राव समस्याओं के निदान में कमल के फूल को कारगर माना गया हैं. फूल के सेवन से ह्रदय की धड्कन को नियंत्रित किया जा सकता हैं.
  18. कई स्थानों पर शरबत में भी कमल फूल का उपयोग किया जाता हैं.
  19. कमल के पुष्प का गुलकंद, इत्र तथा जड़ का उपयोग सब्जी बनाने में भी किया जाता हैं.
  20. भारतीय जनता पार्टी का चुनाव चिह्न भी कमल का फूल हैं.

यह भी पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *