Gudi Padwa Essay In Hindi | गुड़ी पड़वा पर निबंध स्पीच 2019

Gudi Padwa Essay In Hindi: गुड़ी पड़वा 2019 महाराष्ट्र में मनाया जाने वाला एक महत्वपूर्ण हिन्दू पर्व हैं. गुड़ी पड़वा पर निबंध स्पीच 2019 में आपके साथ छोटे बच्चों के लिए हिन्दू नव वर्ष के दिन मनाए जाने वाले उगादी पर्व पर छोटा बड़ा हिंदी भाषण व निबंध यहाँ उपलब्ध करवा रहे हैं.

Gudi Padwa Essay In Hindi | गुड़ी पड़वा पर निबंध 2019

Gudi Padwa Speech In Hindi  गुड़ी पड़वा पर भाषण स्पीच 2019

Essay On Gudi Padwa In Hindi : भारत को त्योहारों का देश कहा जाता हैं यहाँ महीनों के सभी 30 दिनों कोई न कोई पर्व व उत्सव अवश्य मनाया जाता हैं. हिन्दू नववर्ष की शुरुआत चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को गुड़ी पड़वा के रूप में मनाया जाता हैं गुड़ी पड़वा का अर्थ विजय पताका होता हैं.

हिन्दू धर्म में विश्वास रखने वाले इस त्योहार को भिन्न भिन्न तरीके से मनाते हैं. महाराष्ट्र में इस दिन गुड़ी का पूजन किया जाता हैं तथा इसे घर के दरवाजे पर लगाया जाता हैं.

ऐसी मान्यता हैं कि इस दिन घर के द्वार पर गुड़ी अथवा आम के पत्तों के बंदनवार लटकाने से घर में सुख सम्रद्धि का वास होता हैं. इस दिन सभी घरों में मीठे पकवान बनाये जाते हैं तथा कुछ क्षेत्रो में लोग इस दिन सुबह नीम को कोपल भी खाते हैं.

यह एक कृषि पर्व भी हैं इस समय तक वंसत ऋतु का आगमन हो चुका होता हैं तथा पूरी प्रकृति में नयें पत्तों तथा फूलों की बहार आ जाती हैं. हिन्दुओं में यह मान्यता हैं कि ब्रह्माजी ने इसी दिन को सृष्टि की रचना की थी. इस दिन भगवान् राम ने अयोध्या में राज्याभिषेक किया था तथा स्वामी दयानत सरस्वती ने भी आर्य समाज की स्थापना इसी दिन से की थी.

इस दिन लोग पारम्परिक वस्त्र धारण करते हैं तथा ईश्वर की प्रार्थना व मित्रों रिश्तेदारों को नव वर्ष के उपहार देने की परम्परा भी हैं. इस तरह से यह एक दावत का दिन भी माना जाता हैं. गुड़ी पड़वा के अवसर पर लोग अपने घरों की साफ़ सफाई कर उन्हें स्वच्छ बनाते हैं तथा आंगन में रंगोली बनाई जाति हैं.

ऐसी मान्यता है कि ब्रह्मदेव ने गुड़ीपड़वा के दिन ही सृष्टि के रचना की शुरुआत की थी. संवत्सर का पूजन, नवरात्र घटस्थापन, ध्वजारोपण के साथ इस दिन की शुरुआत होती हैं. शुक्ल प्रतिपदा का दिन चंद्रमा की कला का प्रथम दिवस माना जाता है.

यह भी पढ़े-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *