हल्दी वाला दूध पीये या नही, ये है इसके फायदे और नुकसान

दूध हमारे शरीर में केल्शियम की पूर्ति करता है. तथा कई पोषक तत्वों से युक्त होने के कारण अकसर हर उम्र के लोग इसका सेवन करते है. प्रतिदिन एक गिलाश दूध आपकी सेहत को तन्दुरस्त बनाता है, तथा मजबूती भी प्रदान करता है. आपने बहुत से लोगों को हल्दी वाला पीते हुए अवश्य देखा होगा. बहुत सारे डोक्टर खासी जुकाम और बुखार में रोगी को हल्दी वाले दूध के सेवन की सलाह देते है. हम सुनते है कि स्वास्थ्य के लिए हल्दी मिला दूध फायदेमंद होता है, मगर क्या आप जानते है कि यही सजीवनी रूपी दूध कुछ स्थतियों में जहर का भी काम करता है, नही न चलिए आपकों बताते है कि कब हल्दी के दूध का सेवन करना हानिकारक होता है.haldi ka dudh

हल्दी वाला दूध ये नही पीये हो सकता है फायदे की जगह उल्टा नुकसान

हल्दी के दूध में तासीर का गुण पाया जाता है, जो काफी गर्मिला होता है. जो शरीर में जाकर खून को पतला करता है, यही वो मुख्य वजह है जिस कारण हल्दी मिला दूध सभी के लिए लाभकारी नही होता है. जिन लोगों को पाइल्स और नाक से खून आने की समस्या रहती है, उन्हें विशेष कर इस दूध से दूर ही रहना चाहिए. क्योकिं यह उनके शरीर में जाकर लाभ पहुचाने की बजाय उल्टा नुकसान ही करता है. कुछ विशेष प्रकार की बीमारियों तथा पेट सम्बन्धी समस्या से ग्रस्त लोगों को हल्दी वाले दूध का सेवन करना चाहिए. यदि आप लम्बे समय से इसका सेवन कर रहे है तो आपकों सावधान हो जाने की जरुरत है तथा इसे बिना चिकित्सक की सहायता के लम्बे समय तक जारी नही रखना चाहिए. इस artical में हम आपकों हल्दी के दूध पीने से लाभ और नुकसान के बारे में बता रहे है. जिनसे आप जान सकेगे कि इसका सेवन किसे करना चाहिए और किन्हें नही.

गॉलब्लैडरगॉलब्लैडर

गॉलब्लैडर यानि पित्त पथरी जो पिताशय में होती है. जिन्हें इस प्रकार की समस्या है उन्हें हल्दी के दूध का सेवन बिलकुल नही करना चाहिए. यदि आप ऐसा करते है तो एक बार चिकित्सक से सलाह अवश्य ले. क्युकि यह दूध आपके पित्त पथरी (गॉलब्लैडर) की समस्या को बढ़ा सकता है तथा कोई नई समस्या खड़ी हो सकती है.

यदि गैस और एसिडिटी की समस्या हो तोगैस और एसिडिटी

हर साधारण व्यक्ति में यह समस्या देखि जा सकती है. लेकिन कुछ में अधिक तो कुछ में इसकी मात्रा कम ही होती है. यदि आप गैस की समस्या से परेशान है हल्दी वाला दूध पीना बंद कर देना चाहिए. यह एसिडिटी की समस्या को और बढ़ा सकता है. न सिर्फ यह स्तर को बढ़ाता है बल्कि एसिडिटी की दवा का असर कम कर देता है. गैस और एसिडिटी अलावा पेट में अल्सर होने पर भी इसे उपयोग में नही लेना चाहिए.

प्रेग्नेंसी पीरियड्स का समय चल रहा है तो नही काम में लेPregnancy Periods

यह काल अवधि हर स्त्री के लिए होती है. तो उन्हें इस बात का विशेष तौर पर ध्यान रखना चाहिए. गर्म हल्दी का तासीर वाला दूध यूटरस स्टिम्यूलेट के द्वारा कई समस्याओं को जन्म दे सकता है. इसलिए डॉक्टरों द्वारा भी इस बात का विशेष ध्यान देने की सलाह दी जाती है.

blood thinning drugs का सेवन कर रहे है तो हल्दी का दूध ना पीयेblood thinning drugs

खून के गाढ़ापन को कम करने के लिए यदि आप ब्लड क्लॉटिंग का कोई कौर्स ले रहे है. तो इस समय हल्दी का दूध आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है. यह आपकी दवाई के प्रभाव को कम करने के साथ ही कई साइड इफेक्ट्स को भी जन्म दे सकता है. इसलिए आप यदि रक्त को पतला करने की दवाई का सेवन करते है तो प्लीज बिना डॉक्टर की सलाह के हल्दी वाला दूध न पीये.

दोस्तों, हमें उम्मीद है कि आपको हमारा ये पोस्ट पसंद आया होगा. पसंद आने पर इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *