मेहनत की कमाई हिंदी कहानी | hard earned Money hindi story

मेहनत की कमाई हिंदी कहानीमेहनत की कमाई हिंदी कहानी

mehnat ki Kamai/ hard earned Money Hindi story:- एक अमीर बाप ने अपने आलसी बेटे को बुलाकर कहा, ”जा कुछ कमा ला” लड़का लापरवाह और निर्लज्ज था. काम करने की उसकी आदत न थी. सीधा माँ के पास गया और रो धोकर मिन्नते कर उसे कुछ देने के लिए राजी कर दिया. माँ से बेटे का दुःख देखा न गया, उसने एक रुपया बक्से से निकाल कर दे दिया.

रात को बाप ने पूछा बेटा तूने क्या कमाया? लड़के ने झट से रुपया निकाल कर रख दिया. अनुभवी पिता सब कुछ समझ गया. उसने कहा- जा इसे कुँए में फेक आ’ लड़के ने झटपट जाकर रुपया कुँए में डाल दिया. अगले दिन पिता ने फिर कहा- ” जा कुछ कमा ला, नही तो आज भोजन नही मिलेगा.

लड़का अपनी बहिन के पास जाकर रोने लगा. बहिन ने तरस खाकर अपने पास से एक रुपया उन्हें दे दिया. बाप ने रात्रि में उस लड़के से पूछा- ”आज तू क्या कमाकर लाया हैं? लड़के ने जेब में से निकालकर एक रुपया बाप के सामने रख दिया. बाप बोला इसे कुए में जा फेक आ. लड़के ने वैसा ही किया.

अनुभवी पिता ने पत्नी और बेटी को बाहर भेज दिया. पिता ने बेटे से प्रातः उठते ही कहा ”जा कुछ कमा कर ला” नही तो रात को भोजन नही मिलेगा. बेटा दिन भर सुस्त बैठा रहा. उसकी आँखों में आंसू बहते रहे, कोई उसकी सुध लेने वाला नही था. विवश होकर संध्या के समय उठकर बाजार में जाकर मजदूरी खोजने लगा. एक सेठ ने कहा यह मेरा सन्दुक उठाकर घर तक पहुचा दे, मैं तुझे चार आने दुगा.

अमीर बाप के बेटे ने सन्दुक उठाकर सेठ के घर पहुचा दिया. वह थककर चूर हो गया. उसके पाँव काप रहे थे और गर्दन व पीठ में भयंकर दर्द हो रहा था. रात को बाप ने पूछा ”बेटा आज तूने क्या कुछ कमाया हैं ? लड़के ने चवन्नी निकालकर दिखाई. बाप बोला- ”जा इसे कुँए में डाल आ” लड़के को क्रोध आ गया. वह बोला यह मेरे मेहनत की कमाई हैं मेरी गर्दन, कमर और पैर दुखने लगे हैं और आप कहते है इसे कुँए में डाल आ” अनुभवी पिता सब कुछ समझ गया. अगले दिन उसने सारा व्यापार लड़के के ह्वाले कर दिया.

कठिन मेहनत की कमाई इस हिंदी कहानी को कक्षा 1,2,3,4,5,6,7,8 के छात्रों को शिक्षाप्रद छोटी कहानी के रूप में प्रस्तुत किया जा सकता हैं. मेहनत की कमाई हिंदी कहानी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे. हमारी अन्य हिंदी कहानियां नीचे दी जा रही हैं.

Leave a Reply