Hindi Kahani : बालक का स्वप्न

inspirational & motivational funny short stories about dreams and goals with moral in hindi

BALAK KA Swapna INSPIRATIONAL HINDI STORY FOR STUDENTS: एक समय की बात हैं, एक गरीब लड़का एक अमीर सेठ के घर पर नौकरी किया करता था. एक रात को सोते वक्त उस लड़के ने एक स्वप्न देखा और सपने में ही तेज आवाज में चिल्लाया- ”ओह मेरा भाग्य”. सेठ लड़के की आवाज सुनकर घबरा गया उसने तुरंत लड़के को जगाया और पूछा क्या बात हैं अभी क्या कह रहा था तू? लड़का शांत स्वर में कहने लगा- सेठजी कोई बात नही, बस यूँ ही कर रहा था.INSPIRATIONAL HINDI STORY

अगले दिन भी सेठ लड़के की उस बात को नही भूल पाया, उसने तुरंत लड़के को बुलाया और कल रात के स्वप्न की बात फिर पूछी- लड़का इस बार भी वह बात टाल गया. उस रात के स्वप्न के बाद वह बालक रोजाना रात को छिप छिपकर पढ़ने लगा. एक दिन सेठ ने उस लड़के से कहा- ऐ लड़के ध्यान से सुन या तो मुझे अपने उस रात के स्वप्न की बात बता दे अथवा मेरे यहाँ काम करना बंद कर दे. लड़का बेहद बुद्दिमान व होशियार था उसने तुरंत उस सेठ के घर काम करने की नौकरी छोड़ दी.

घर जाकर उसने अपनी पढाई को अनवरत रखा, इसी समय उन्हें गाँव के जमीदार के यहाँ पर नौकरी मिल गई. एक दिन सेठ जमीदार के यहाँ कपड़े लेकर आया, उसने लड़के को वहां काम पर देखा. सेठ ने जमीदार को लड़के के स्वप्न और निकाले जाने की बात बता दी. इस पर जमीदार ने लड़के को बुलाकर कहा- ऐ लड़के या तो तू अपने स्वप्न की बात बता दे अन्यथा आज मैं तुझे अपने यहाँ काम से निकाल दूंगा.

वह बालक अपनी धुन का पक्का व दृढ निश्चयी था. वह कुछ नही बोला और जमीदार की नौकरी छोड़कर अपने घर की ओर चल पड़ा. उसने अपनी पढाई चालु रखी. किसी तरह उसने अपनी सूझ बुझ से राजा के यहाँ नौकर की नौकरी प्राप्त कर ली. कई बार राजा का दिल जीतकर वह राजा का मंत्री बन गया.

एक दिन किसी काम के चलते वह उस जमीदार के यहाँ गया. उसने उस बालक को पहचान लिया तथा बालक के स्वप्न की सारी बात राजा को बता डाली. राजा ने उस मंत्री को बुलाकर पूछा मंत्रीजी आपने बहुत समय पहले सेठजी के यहाँ क्या स्वप्न देखा था. आप यहाँ तो अपना स्वप्न हमे बता दीजिए अथवा दंड भुगतने के लिए तैयार हो जाइए.

मंत्री ने स्वप्न बताने से इनकार कर दिया. राजा ने क्रोधित होकर मंत्री को कैद में डाल दिया. कुछ दिन बाद पड़ोसी राजा ने इस राजा पर चढ़ाई करने की सोची. उसने सीमा पर अपनी सेना जमा कर दी. उसने इस राजा तथा मंत्रियों की चतुराई जानने के लिए दों घोड़ियाँ भेजी और पुछवाया कि इनमें माँ कौनसी हैं और बेटी कौनसी हैं. सभी ने अपनी अपनी बुद्धि लगाई पर इस समस्या का कोई हल न कर सका.

राजा का नौकर बंदी मंत्री को नित्य भोजन देने जाया करता था. उसने सारी बात मंत्री को बताई. राजा की परेशानी सुनकर मंत्री कहने लगा. यह क्या कठिन हैं दोनों को नदी में नहलाने ले जाओं जो आगे नदी में घुसे वही माँ हैं और जो पीछे पीछे चले वही बेटी हैं. इसके बाद राजा ने इसी प्रकार के दों तीन प्रश्न मंत्री को भेजे. मंत्री ने सभी को हल कर दिया. राजा ने यह सोचकर कि इस राजा को हराना कठिन हैं अपनी सेनाएं हटा ली. उसने संदेश भिजवाया कि जिस व्यक्ति ने मेरे प्रश्नों को हल किया हैं, उससे हम अपनी कन्या का विवाह करना चाहते हैं.

इस समाचार से राज्य भर में सनसनी फ़ैल गई. उस बंदी मंत्री की चारों और प्रशंसा होने लगी. राजा ने तुरंत उसे मुक्त कर दिया. इसके बाद पड़ोसी राजा ने अपनी कन्या के साथ उसका विवाह कर दिया. राजा ने मंत्री को अपना आधा राज्य भी दे दिया. इसके बाद भी राजा ने उसे बहुत सारी चल अचल सम्पति दी.

कुछ दिन बाद एक दिन प्रातकाल इस मंत्रीराजा ने दोनों राजाओं, जमीदार तथा सेठ सभी को अपने यहाँ आमंत्रित किया. जब वे सब वहां एकत्रित हुए तो उस समय यह मंत्रीराजा पलंग पर महल के विशाल एवं सज्जित कक्ष में लेटे हुए थे. उनकी पत्नी उनके पास बैठी हुई थी. इसके अतिरिक्त अन्य कई नौकर भी इनकी सेवा में जुटे हुए थे. चारों व्यक्ति भी उसके आस-पास बैठे हुए थे.

तब उस मंत्रीराजा ने कहा ”यही द्रश्य जो आप लोग इस समय यहाँ देख रहे हैं, मैंने स्वप्न में देखा था, और तभी मै स्वप्न में चिल्लाया था” अहो मेरा ऐसा भाग्य” मैंने तब यह बात आप लोगों को बता दी होती तो आप में से कोई भी इसे पूरा न होने देता, हो सकता था इर्ष्या, लोभ और अपमान के वशीभूत आप मुझे मौत के घाट भी उतरवा देते.

Hindi Kahani : बालक का स्वप्न की शिक्षा (MORAL)- सच हैं, अपने मस्तिष्क में जो विचार आए, उसकी व्यर्थ चर्चा न करते हुए योजनाबद्ध तरीके से इसे पूर्ण करने में लग जाना चाहिए. कर्म, कठोरता, लगन और निष्ठां से कोई भी व्यक्ति महान बन सकता हैं.

THIS HINDI STORY WRITTEN BY निरुपमा कश्यप जी.

अपनी वस्तु हिंदी कहानी | Apni Vastu hindi story For Students & Ki... अपनी वस्तु हिंदी कहानी short Hindi ...
मेहनत की कमाई हिंदी कहानी | hard earned Money hindi story... मेहनत की कमाई हिंदी कहानी mehnat k...
अनोखी सूझ कहानी- Wisdom Stories For Students In Hindi... अनोखी सूझ कहानी short stories for ...
भील बाला गुरुभक्त कालीबाई की कहानी... गुरुभक्त कालीबाई का बलिदान शिक्षा ज...
माँ भ्रामरी देवी की पौराणिक कथा । Bhramari Devi Story In Hindi... माँ भ्रामरी देवी की पौराणिक कथा । B...
रक्तदंतिका देवी की गाथा मंदिर । Raktadantika Devi Temple Sadhana Stotr... रक्तदंतिका देवी की गाथा मंदिर । Rak...
प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *