HOLIKA DAHAN 2018 DATE AND TIME SHUBH MUHURTA PUJA VIDHI AND HOLIKA DAHAN STORY

HOLIKA DAHAN 2018 DATE AND TIME SHUBH MUHURTA PUJA VIDHI AND HOLIKA DAHAN STORY Holi is the main festival of Hindus. Holika Dahan festival is celebrated on the full moon day (Purnima) of Phalgun month. This festival of clours is being held on March 1, 2018. next day on March 2, this Holi tommrow, also called Dhulandi, will be celebrated. On this day people will congratulate Holi on by different colors. The auspicious time of Holikdahan is believed to be from 18:16 to 20:47 according to Indian time day of 1 March. Other information related to Holi festival such as HOLIKA DAHAN 2018 DATE AND TIME SHUH MUHURTA PUJA VIDHI AND HOLIKA DAHAN STORY is giving in this artical.

होली पूजा का महत्व Importants of Holi Puja 2018

जब भी होली का नाम आता है, तो दिलों में ढेरों खुशिया और बड़े बूढ़े व सारे मुहल्ले वालों से शरारत की सूझती है. यही तो होली Holi के त्योहार का ख़ास महत्व है, जो सभी को रास आता है. इस दिन कोई छोटा बड़ा नही, सालों पुरानी दुश्मनी भी होलिका दहन और धुलंडी के दिन भूल जाते है. फाल्गुनी पूर्णिमा 2018 में 1 मार्च को है, इस शाम होलिका दहन और पूजन किया जाना है. अगले दिन रंगो का त्योहार कहे तो धुलण्डी मनाई जावेगी.

होली मनाने का कारण reason for celebrating holi festival

holi background में जाए तो होली फेस्टिवल मनाने के कारण और कथा शिव पार्वती, श्रीकृष्ण और कंस तथा प्रहलाद और हिरण्यकश्यप के प्रसंग से जोड़कर देखा जाता है. कहा जाता है कि शिव पार्वती आपस में विवाह का बंधन करना चाहते थे. अतः दोनों ने कठोर तपस्या की मगर इंद्र को यह बात रास नही आ रही थी. उन्होंने तपस्या भंग करने के लिए कामदेव को भेजा, मगर शिवजी को उस पर गुस्सा आया और कामदेव को जलाकर भस्म कर दिया. इस सम्बन्ध में माना जाता है, कि होली मनाने की कहानी के अनुसार इस दिन होलिकादहन में उन सभी बुराइयों तथा काम की भावना को होली की लपेट में जलाकर उज्जवल प्रेम का प्रतीक मानते है.

होलिका दहन की इस पौराणिक कथा से आप भी परिचित होंगे. जब हिरण्यकश्यप नामक एक राजा हुआ था. जिन्होंने कई वर्षो तक विष्णु की कठोर तपस्या की और उनसे अमर रहने का वर प्राप्त कर लिया था. विष्णु ने उन्हें वर देते हुए कहा था कि तुम्हे न कोई दिन में मार सकेगा, न रात को न घर में न बाहर, न नर न दानव. इस तरह मृत्यु के भय से मुक्त हिरण्यकश्यप स्वयं भगवान बन बैठा तथा राज्य की जनता को उनकी पूजा करने का हुक्म दे दिया, तथा वह तरह तरह के अत्याचार भी करने लगा. इससे आहत होकर विष्णु ने प्रहलाद के रूप में हिरण्यकश्यप के घर जन्म लिया.

पिता की बात न मानने के कारण प्रहलाद को कई मृत्यु दंड दिए गये, किन्तु वह उसका बाल भी बांका नही कर सका था. अतः हिरण्यकश्यप ने अपनी बहिन होलिका की मदद से प्रहलाद को मारने की योजना बनाई, होलिका को अग्नि से न जलने का वरदान था मगर नर के स्पर्श की शर्त भी थी. इस यत्न में भी हिरण्यकश्यप को निराशा हाथ लगी, उसकी बहिन होलिका जलकर राख हो गई तथा प्रहलाद बच गये. इसी प्रसंग के अनुसार आज भी होली के त्योहार पर होलिका दहन कर विष्णु की पूजा की जाती है. इस कथा के अनुसार जब हिरण्यकश्यप को मारने का एक और प्रयत्न करने लगा तभी विष्णु नरसिंह अवतार में आए और गौधुली वेला में घर की चौखट पर हिरण्यकश्यप का वध कर इस पापी का अंत किया.

होलिका दहन करने का समय डेट Time of Holika Dahan

होलिका दहन हर साल की भांति फाल्गुन की पूर्णिमा की रात्रि को प्रदोष व्रत के शुभ मुहूर्त के मुताबिक़ दहन किया जाता है. जैसा कि आपकों ऊपर होली 2018 टाइम और डेट के बारे में जानकारी दी जा चुकी है. इस वर्ष संयोग वश भद्र काल के चौघडिये में होलिका के मुहूर्त का समय है. भद्र काल भारतीय ज्योतिष के अनुसार अच्छा नही समझा जाता है. इस कारण होलिका दहन के लिए 1 मार्च को शाम 6.26 मिनट से लेकर 8.55 मिनट समय सबसे अच्छा बताया जाता है.

अलग अलग ज्योतिषियों की राय पृथक् हो सकती है, तथा भारत के समय में अंतर होने के कारण कुछ क्षेत्रों में घड़ी के समय में अंतर भी हो सकता है. इसलिए आपकों कम से कम भद्र मुहूर्त के समय होलिका दहन न करके इसी समय के दौरान शुभ मुहूर्त में Holika Dahan करना चाहिए.

होलिका दहन का शुभ मुहूर्त 2018 shubh muhurat of holika dahan 2018

अलग अलग राज्यों में होली का त्योहार तथा इसके दूसरे दिन यानि धुलण्डी Dhulandi को मनाने के अलग अलग तरीके एवं परम्पराएं है. पूर्णिमा की रात्रि को होली का दहन होता है. इस सम्बन्ध में सबसे अच्छा मुहूर्त क्या है. इसकी जानकारी आपकों यहाँ बता रहे है.

होली पर्व की तिथि व मुहूर्त 2018 Holi Date and Mhurt

  • Holi 1 March 2018
  • Shubh Muhurat Holi of Holi – 18:16 to 20:47
  • Bhadra punch- 15:54 to 16:58
  • Bhadra mouh- 16:58 to 18:45
  • rango ki holi (Dhulandi) – March 2
  • purnima holi pooja dahan – 08:57 (March 1)
  • falgun purnima Date 2018 – 06:21 (March 2)

होली के गाने holi gana bhojpuri

Leave a Reply