Home Remedies For Gas | वायु गैस या अफारा का घरेलू उपचार

Home Remedies For Gas: कई दफा वक्त पर न खाने या कुछ अपच भोज्य सामग्री के उपयोग से हमारे पेट में दूषित गैस का भराव हो जाता है, आम भाषा में इसे अफारा या वायु गैस भी कहते है. गैस के कारण नसों में खिचाव तथा पेट फूल जाता है, तथा व्यक्ति दवाब, घबराहट और बैचेनी महसूस करता है. गैस की समस्या आम है, किसी को भी किसी भी वक्त हो सकती है. Home Remedies For Gas के उपयोग से आसानी से इस तरह की समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है.

Home Remedies For Gas in Hindi

वायु गैस या अफारा का घरेलू उपचार

  • अजवायन, सौंफ, काला नमक 10-10 ग्राम , काली मिर्च 5 ग्राम बारीक कूट छानकर 2 ग्राम ताजा पानी से ले, अफारा ठीक ठीक हो जाएगा.
  • काली मिर्च 5 नग पीसकर गौमूत्र के साथ सेवन करने से पेट का अफारा नष्ट हो जाता है.
  • पेट में वायु गैस बनने की अवस्था में भोजनोपरांत 125 ग्राम मुठ्ठे में 2 ग्राम अजवायन और 1/2 ग्राम काला नमक मिलाकर खाने से गैस बनना समाप्त हो जाती है.
  • एक लहसुन की फाँके छीलकर बीज निकाली हुई मुन्नका 4 नग में लपेटकर, भोजन के बाद चबाकर निगल जाए. इस विधि से पेट में रुकी हुई वायु तत्काल निकल जाएगी.
  • अलसी के पतों की सब्जी बनाकर खाने से गैस की शिकायत दूर हो जाती है.
  • अजवायन 2 ग्राम, नमक आधा ग्राम चबाकर खाए, पेट दर्द, गैस ठीक हो जाएगा. 
  • पानी के साथ 5 माशा हिंगाष्टक चूर्ण खाने से भी सभी प्रकार का वायु विकार दूर होता है.

Home Remedies For Gas Pain In Chest

कम से कम एक चौथाई लोग आज गैस की समस्या से त्रस्त नजर आते है. कुछ लोग तो यहाँ तक मानते है कि गैस अत्यधिक चढ़ जाए तो वह दिल और दिमाग तक पहुच जाती है. जो व्यक्ति के लिए काफी काफी खतरनाक हो सकती है, मगर यह एक लोगों की मनगढंत धारणा है, ऐसा कुछ नही होता है. यह भी सच है कि कुछ मात्रा में गैस हमारे पेट में हरदम अवश्य रहती है, जो खाली या भरे दोनों तरह के पेट में भी हो सकती है.

गैस बनने का कारण (What causes gas?)

यह जरुर है, कि गैस की समस्या होने पर व्यक्ति को कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है, मगर इसका मतलब यह कतई नही है कि गैस व्यक्ति के लिए जानलेवा हो सकती है. हमारे खाने पीने की अनियमितता और अधिक मसालेदार सब्जियों व शराब के सेवन से गैस की समस्या हो सकती है. एसिडिटी बढ़ने, अल्सर या पायरिया की वजह से भी गैस की समस्या हो सकती है.

यदि खाते वक्त बिना चबाए भोजन निगलने व अधिक पानी पीने की आदत भी गैस का कारण बनती है. गैस बनने के अन्य कारणों में यदि भोजन करते वक्त अधिक वायु पेट में प्रवेश कर जाए, अथवा हम अधपका भोजन ही खा ले, या भोजन में संतुलित मात्रा से अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट हो तो भी गैस हो सकती है, इसके अतिरिक्त अधिक चाय कॉफी या शराब पीने की लत, कच्चे सलाद फल खाने की आदत अधिक तेज नमक वाले तले हुए भोज्य पदार्थ भी एमियोबयोसिस के कारण पेट में गैस की समस्या उत्पन्न होने लगती है.

गैस की समस्या का उपचार (gas acidity treatment in hindi)

आज गैस एसिडिटी के अनेक उपचार उपलब्ध है, जिनमे कई प्रकार की यूनानी, आयुर्वेदिक, एलोपैथिक और होम्योपैथी गैस की समस्या को खत्म करने वाली दवाए मिल जाती है. मगर आज तक ऐसी कोई दवाई उपलब्ध नही है जो गैस का स्थायी इलाज कर सके. बस कुछ नुस्खे और दवाइया ही है जो कुछ समय तक गैस की समस्या से आराम दिलाती है.

गैस के ईलाज का सबसे सुलभ तरीका यही है कि अपने खान पान का ध्यान रखे तथा आवश्यक परहेज को रखे. यदि अधिक स्तर पर गैस की समस्या है तो दवाई भी लेनी चाहिए, मगर कारगर इलाज के लिए परहेज का भी ध्यान रखा जाना आवश्यक है.

गैस की समस्या होने पर क्या करे क्या नहीं (treatment,TIPS acidity problem solution in hindi)

  • खाना स्वच्छ और शीघ्र पचने वाला हो, उनमे अत्यधिक चिकनाई मसाले तेज मिर्च का प्रयोग न किया जाए.
  • गैस के मरीज पोष्टिक संतुलित भोजन करे मगर पेट पूरी तरह भरे नही, आवश्यकता का तीन चौथाई ही खाए.
  • खाना आराम से बिना बोले चबा चबा कर खाए ताकि लार भोजन के साथ पेट में जाए, यह लार भोजन को शीघ्र पचाने में सहायक होती है और आंतो को सेहतमंद रखने में भी.
  • भोजन के प्रारम्भ,मध्य अथवा अंत में पानी या अन्य कोई तरल पदार्थ का सेवन नही करे क्योकि तरल पदार्थ लार को भोजन से अलग कर देते है जिससे खाना देर से पचता है और गैस व एसिडिटी का खतरा बढ़ जाता है, पानी को भोजन करने के उपरांत आधे घंटे बाद ही पीना चाहिए.
  • चाय कम पिए, हो सके तो खाली पेट चाय या कोफ़ी का सेवन नही करना चाहिए, जब भी चाय पीने का मन हो साथ में कुछ पौष्टिक पदार्थ अवश्य खाए.
  • सुबह जल्दी व्यायाम अवश्य करे, गैस की बिमारी वाले मरीजों को वज्रासन तथा शलभासन विशेष रूप से उपयोगी है.
  • कच्चा प्याज, फूल गोभी, मटर उबले हुए चने गैस बनाते है इनसे बचे.
  • बाजार के चाट पकोड़े, भुट्टे, ढाबों के भोजन से बचे क्योंकि इनमे खटाई, तेज मिर्च मसालों का उपयोग होता है साथ ही अशुद्धियों की मात्रा भी अधिक रहती है.
  • जब गैस ज्यादा हो जाए तो जरा सी हीग तवे पर भुनकर गुनगुने पानी के साथ ले. पुदीने के पत्तों का ताजा रस एक चम्मच निकालकर मामूली से काले नमक के साथ आधा कप पानी मिलाकर पिए.
  • लहसुन के एक दो दाने घी में तलकर चबाए मुली के साथ ताजे रस का पानी मिलाकर पीना चाहिए.
  • अजवायन को तवे पर हल्का सा भुनकर पीस ले, इनमे मामूली सा नमक मिलाकर गुनगुने पानी के साथ ले. साबुत हल्दी आंच पर भुनकर नमक के साथ पीसकर आधा चमच्च हल्दी के साथ लेने से भी गैस पर काबू पाया जा सकता है. यह गैस का रामबाण ईलाज है.

दोस्तों Home Remedies For Gas का लेख आपकों अच्छा लगा हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

बवासीर के कारण लक्षण और घरेलू इलाज | Piles Causes & Treatment And... बवासीर के कारण लक्षण और घरेलू इलाज ...
संतरा खाने के फायदे व नुकसान | Orange benefits in Hindi... संतरा खाने के फायदे व नुकसान | Oran...
प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *