हुमायूँनामा | Humayun Nama In Hindi

हुमायूँनामा Humayun Nama In Hindi: हुमायूँनामा ग्रंथ की लेखिका हुमायूँ की बहिन गुलबदन हैं. अकबर के अनुरोध पर उसने इस ग्रंथ की रचना कीविद्वानों का मानना हैं कि उसने अपनी स्मरणशक्ति के आधार पर बाबर और हुमायूँ के शासनकाल की घटनाओं का वर्णन किया हैं. अतः उसके वर्णन में त्रुटियाँ स्वाभाविक हैं.

हुमायूँनामा Humayun Nama In Hindi

हुमायूँनामा Humayun Nama In Hindi

फिर भी बाबर के सम्बन्ध में जो कुछ लिखा हैं, वह काफ़ी महत्वपूर्ण हैं. और हमारी जानकारी क बढाता हैं. हुमायूँ से सम्बन्धित घटनाओं की तो वह प्रत्यक्षदर्शी थी. इस सम्बन्ध में रिजवी ने लिखा हैं कि स्त्री होने के नाते गुलबदन बेगम ने युद्धों का संक्षिप्त विवरण ही दिया हैं.

परन्तु उसने मुगल हरम के जीवन तथा हुमायूँ के पलायन का रोचक विवरण दिया हैं. कुछ मामलों में लेखिका ने हुमायूँ की कमजोरियों पर पर्दा डालने का प्रयास किया हैं तथा मालदेव के बारे में पक्षपात किया हैं. कुल मिलाकर, ऐतिहासिक दृष्टि से यह ग्रंथ महत्वपूर्ण हैं.

यह भी पढ़े-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *