Indian National Flag Designed By Information In Hindi | इंडियन नैशनल फ्लैग डिज़ाइन

Indian National Flag Designed By हमारे राष्ट्रिय ध्वज तिरंगे की डिजाइन का कार्य आंध्रप्रदेश के मूल निवासी और सच्चे देशभक्त एग्रीकल्चर साइंटिस्ट श्री पिंगली वैंकैया द्वारा की गईं थी. इससे पूर्व तक भारत में समय के साथ-साथ अलग अलग रंगो और डिजाइन के तिरंगे का उपयोग होता था. श्री पिंगली वैंकैया ने 1921 के आस-पास स्वय को सोच से राष्ट्रिय ध्वज की डिजाइन की और इन्हे महात्मा गाँधी के साथ साझा गया. राष्ट्रपिता को यह तिरंगे की डिजाइन बेहद रास आई और 1921 के राष्ट्रिय कांग्रेस अधिवेशन में इन्होने यह बात सभी के साथ साझा की.

Indian National Flag Designed By Information In Hindi

पिंगली वैंकैया जी द्वारा दी गईं डिजाइन में भारतीय ध्वज दो रंगो का था. जो आज भी हैं केसरिया, और हरा. महात्मा गाँधी उन दिनों देशभर में स्वदेशी आन्दोलन की बात कर रहे थे तभी उन्होंने इस झंडे के मध्य में अपना चरखा लगाने का सुझाव भी दिया था. आजादी के कई वर्षो तक चरखे के साथ इंडियन नैशनल फ्लैग डिज़ाइन थी. 22 जुलाई 1947 को इस झंडे को राष्ट्रिय ध्वज घोषित करने के साथ ही चरखे का स्थान अशोक के सारनाथ मन्दिर से लिए गये अशोक चक्र को प्रदान किया गया.

वैंकया के मन में भारत के प्रति असीम श्रद्धा और देशभक्ति का भाव था,इन्होने भारतीय ध्वज की डिजाइन के प्रारूप के लिए पांच वर्षो में 30 से अधिक देशो की यात्रा कर उन देशो के नेशनल फ्लैग के बारे में गहन शोध किया. राष्ट्र की एकता, अखंडता, शांति और सद्भाव जैसे मूल्यों को समाहित करते हुए इन्होने बड़े यत्न से तीन रंगो के तिरंगे का फौर्मुला तैयार किया और देश के दिग्गज नेताओ के साथ प्रस्तुत किया.

Who Designed Indian National Flag In Hindi

  • डिजायनर-पिंगली वैंकैया
  • प्रारूप & रंग- केसरिया, सफेद और हरा
  • निर्माण वर्ष- 1916 से 1921
  • प्रस्तुती-1921,भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस वार्षिक अधिवेशन (विजयवाड़ा)
  • संशोधन- मध्य में चरखा और बाद में अशोक चक्र
  • ध्वज के लिए उपयोग किया गया कपड़ा- खादी
  • स्वीकार्य- 1931 कराची अधिवेशन
  • देश के राष्ट्रध्वज के रूप में – 22 जुलाई 1947
  • आधार- धार्मिक सद्भाव हिन्दू (केसरिया) मुस्लिम (हरा)

Indian National Flag Designe & Construction In Hindi

  • माना जाता है भारत के ध्वज की पहली तस्वीर 1904 में भगिनी निवेदिता ने प्रस्तुत किया था. ये स्वामी विवेकानंद जी की भत्रीजी थी. इसके बाद कलकता के कांग्रेस अधिवेशन 1905 में भी सात सितारे और कमल सहित ध्वज प्रस्तुत किया गया था.
  • इसके दो साल पश्चात ही पेरिस में रह रहे भारतीय देशभक्तों द्वारा इन्हे रूप दिया गया था. इस ध्वज की डिजाइन और कलकता में बनाएँ गये ध्वज में लगभग समानताएं थी. ध्वज डिजाइन प्रक्रिया में 1917 में तिलक जी ने 9 रंगो का एक ध्वज प्रस्तुत किया था. जिनमे लाल और हरे रंगो का समिश्रण था.
  • वर्ष 1921 में पिंगली वैंकैया द्वारा प्रस्तुत की नई नेशनल फ्लैग डिजाइन को सभी कांग्रेसी लीडर्स ने सर्वसम्मति से अनुमति दे दी थी. जिसके बाद इसी फ्लैग डिजाइन को हमारे राष्ट्र ध्वज के रूप में रूपांतरित किया गया था.

मित्रों Indian National Flag Designed By का ये लेख आपकों कैसा लगा, हमारे लिए Who Designed Indian National Flag In Hindi इस लेख के बारे में कोई सुझाव या सलाह के लिए हमे आपके कमेंट का इन्तजार रहेगा. आप भी अपनी रचित कोई कविता, लेख, निबंध, कहानी अथवा कोई अन्य सामग्री आपकी इस साईट पर अधिक लोगों तक पहुचाना चाहते हैं. तो आपका स्वागत हैं.

आप हमे अपने लेख merisamgari@gmail.com पर भेज सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *