प्रेरक हिंदी कहानी ज्ञान सूत्र | Inspirational Stories In Hindi

Inspirational Stories In Hindi कहानी वो विधा हैं, जो कई बार ऐसा ज्ञान भेट कर जाती हैं. जो लोगों को सालों के अनुभव के बाद भी प्राप्त नही होता हैं.

प्रेरणादायक हिंदी कहानियाँ सत्य भी हो सकती हैं, और काल्पनिक भी. मगर उसका ज्ञान तो बहुमूल्य होता हैं,

सही सीख देने वाली एक कहानी किसी के जीवन में बड़ा बदलाव ला सकती हैं.

यहाँ आपकों ज्ञान का सूत्र नामक अच्छी सीख देने वाली (story in hindi with moral ) कहानी प्रस्तुत कर रहे हैं,

यकीनन इस कहानी को पढ़ने के बाद ‘ मान गये गुरु’ तो यकायक ही निकल आता हैं.

Inspirational Stories In Hindi : ज्ञान का सूत्र

इस कहानी को आप एक अन्य शीर्षक भी दे सकते हैं, क्रोध के 2 मिनट’

अपने पिता के एकलौते युवक की शादी के दो साल बाद उन्होंने कमाई के लिए विदेश जाने का फैसला किया.

उस समय उनकी पत्नी गर्भवती थी. मगर उन्हें माता-पिता के पास छोड़कर उनकी आज्ञा से कमाई करने के उदेश्य से विदेश चला गया. 20 सालों तक व्यापारी के लड़के ने विदेश में खूब पैसा-माल कमाया और आखिर फिर से अपने घर लौट जाने का निश्चय किया. आज से 20 वर्ष पूर्व का निर्धन नवयुवक एक धनी सेठ बन चूका था, उस समय सुदूर यात्रा का एक ही जरिया था. जलयान.

उस नवयुवक ने एक नाव में अपने सामान को डाला और वतन वापसी की यात्रा आरम्भ की.

तभी उनकी नजर एक व्यक्ति पर गईं. देखने से पंडित लगने वाला व्यक्ति भारतीय लगता था.

वह धनी नवयुवक उस परेशान व्यक्ति के पास पंहुचा और उनसे ख़ामोशी का कारण पूछा

तो उन्होंने बताया मै एक पंडित हु और ज्ञान सूत्र बेचता हु.

तो वह बोला इन देशो में ज्ञान की कोई कीमत नही हैं, हर कोई पैसे के पीछे पड़ा रहता हैं.

यह बात उस धनी युवक के दिल पर जा लगी, उसने ज्ञान सूत्र खरीदने का फैसला किया.

सोचा हमने ढेरों पैसा कमाया हैं, वैसे भी यह अपने वतन का आदमी हैं,

अपने वतन की मर्यादा रखने के लिए उनके उस ज्ञान मन्त्र को खरीदने की तम्मना जताई.

ज्ञान का सूत्र यह Inspirational Stories आप hihindi.com पर पढ़ रहे हैं.

उस पंडित ने अपनी एक ज्ञान के सूत्र की कीमत 1000 सोने की मुद्रा बताया .

वैसे तो उसको यह कीमत कुछ ज्यादा ही लगी, मगर अपने वतन की लाज रखने की खातिर

उन्होंने वो एक सूत्र खरीद लिया.

उस पंडित ने इस ज्ञान के सूत्र को समझाते हुए उसका सार बताया कि-

कोई भी कर्म करने से पूर्व 2 मिनट तक रुके फिर उस कार्य को अंजाम दे.

धनवान युवक ने यह सूत्र अपनी पुस्तिका में लिख दिया,

और यात्रा करने लगे.कुछ दिनों की यात्रा के बाद वो धनी युवक अपने शहर पंहुचा.

उसने सोचा बिना किसी को मेरे आने की खबर दिए यकायक उनके सामने जाकर आश्चर्यचकित कर दू.

इसी उद्देश्य से उन्होंने द्वारपालों को बिना उनके आने की सूचना दिए सीधे अपनी पत्नी के सामने जाकर हाजिर हुआ,

विदेश जाते वक्त उन्हें गर्भवती छोड़कर गया था.

पत्नी के कमरे में वह युवक पंहुचा तो उनकी आखोँ पर यकीन नही हो रहा था.

पत्नी एक युवक के साथ लिपटकर सोई हुई थी.

उस धनी युवक का दिमाग बिलकुल काम नही कर रहा था,

मै विदेश में भी इसकी दिन ब दिन चिंता किये जा रहा था. और ये तो पराए मर्द के साथ मजे ले रही हैं.

यह सोच उनका गुस्सा कई गुना बढ़ गया. उसने झट से तलवार उठाई

और दोनों को मौत के घाट उतारने ही वाला था.

कि उन्हें 1000 सोने की मुद्रा वाले ज्ञान के सूत्र की याद आई.

झट स्वय को नियंत्रित किया और सोचने के लिए अपनी तलवार वापिस खिची तो पास ही रखे बर्तन से टकरा गईं,

बर्तन की आवाज सुनते ही उसकी पत्नी की नीद खुल गईं.

जब सालों से परदेश गये पति उनके सामने खड़े थे वो रोते हुए उनसे लिपट गईं.

और बीते वर्षो की सूनी जिन्दगी की दासता सुनानी लगी,

मगर उस युवक का ध्यान तो बिस्तर पर लेटे युवक पर था.

पत्नी से भावावेग में सोए हुए बेटे को उठाकर कहा- देख बेटे तेरे पापा कितने वर्ष बाद आए हैं,

उस बेटे ने जैसे ही उस धनी पिता को दंडवत प्रणाम किया. सिर से उसकी पगड़ी गिर गईं,

घने और लम्बे बाल भुजाओं पर बिखर गये.उस नवयुवक की पत्नी बोली- स्वामी ये आपकी बेटी हैं,

आपके चले जाने के बाद दुनिया की नजरो से बचाने के लिए मैंने इसका एक बेटे की तरह पालन-पोषण किया.

यह सुनकर उस धनी युवक की आँखों से प्रेम की धारा बह पड़ी, और बेटी को गले लगा दिया.

तभी वह मन ही मन सोचने लगा,

काश मेने इस 1000 सोने की मुद्रा के ज्ञान सूत्र का उपयोग ना किया होता, तो कितना बड़ा अनर्थ हो जाता.

2 मिनट में मेरा परिवार तबाह हो जाता.ये ज्ञान तो बहुमूल्य हैं,

पूरी जिन्दगी की पूंजी देकर भी खरीदता तो भी महंगा नही होता.

शिक्षा-

Inspirational Stories In Hindi ज्ञान के सूत्र कहानी से मित्रो हमे यही शिक्षा मिलती हैं,

कि कोई भी कार्य करने से पूर्व 2 मिनट सोचना चाहिए, ज्ञान बहुमूल्य होता हैं.

उसकी कद्र करे और अपने जीवन में उसका अमल करे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *