Kanhaiyalal Sethia Biography In Hindi | कन्हैयालाल सेठिया का जीवन परिचय

Kanhaiyalal Sethia Biography In Hindi | कन्हैयालाल सेठिया का जीवन परिचय: कन्हैयालाल सेठिया ( 11 सितंबर 1919 – 11 नवंबर 2008) राजस्थानी भाषा के महान रचनाकार थे, इन्होने अपनी कई रचनाएं हिंदी में भी लिखी. जन जन की भाषा राजस्थानी को अपना माध्यम बनाकर रचना करने वाले सेठिया जी ने लोगों के दिलों में जगह बना ली थी. वो एक तंत्रता सेनानी, सामाजिक कार्यकर्ता, सुधारक, परोपकारी और पर्यावरणविद थे.Kanhaiyalal Sethia Biography In Hindi

Kanhaiyalal Sethia Biography In Hindi

(कन्हैयालाल सेठिया की जीवनी रचनाएं, पुस्तकें, कविता, इतिहास हिंदी में)

लोकप्रिय गीत धरती धोरा री और अमर लोकगीत पाथल और पीथल के यशस्वी रचयिता साहित्यकार कन्हैयालाल सेठिया का जन्म 11 सितम्बर 1919 को राजस्थान के सुजानगढ़ चुरू में हुआ था. सुजानगढ़ और कलकत्ता से इन्होने शिक्षा प्राप्त की.

1934 ई में गांधीजी के सम्पर्क में आने के बाद इन्होने खादी पहनना और दलितोंद्धार का कार्य शुरू किया. 1941 ई में इनका पहला काव्य संग्रह वनफूल प्रकाशित हुआ. देशप्रेम और राष्ट्रीयता से ओत प्रेत काव्य संग्रह अग्निवीणा के कारण इन पर राजद्रोह का आरोप लगा.

1942 ई के भारत छोड़ो आंदोलन में इन्होने कराची में जनसभाओं में भाग लिया. 1945 ई में बीकानेर के प्रजा परिषद् के प्रमुख कार्यकर्ता के रूप में सेठिया ने सामन्तवाद का विरोध किया. राजस्थान निर्माण के दौरान इन्होने आबू को राजस्थान में शामिल करने के लिए संघर्ष किया.

हल्दीघाटी चतुःशती समारोह, चित्रकूट मेला, पश्चिमी सांस्कृतिक परिषद्, उदयपुर आदि में सक्रिय भूमिका निभाकर इन्होने राजस्थान की कला और पर्यटन की प्रगति में अपना योगदान दिया. 1976 ई में इनको लीलटांस कृति पर केन्द्रीय साहित्य अकादमी, नई दिल्ली द्वारा पुरस्कृत किया गया.

1988 ई में इनकी कृति निर्ग्रन्थ पर मूर्तिदेवी पुरस्कार, 1987 ई में सबद पर सूर्यमल्ल मीसण पुरस्कार तथा सतवादी पर टांटिया पुरस्कार से सम्मानित किया गया. सेठिया राजस्थानी भाषा को संवैधानिक मान्यता के लिए भी अथक प्रयास किये.

आज के भौतिक युग में भी कविता को जीवित रखने का श्रेय इन्हें प्राप्त हैं. 31 मार्च 2012 को राजस्थान सरकार ने प्रथम राजस्थान रत्न सम्मान देने की घोषणा की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *