किशमिश खाने के फायदे | kishmish ke fayde

kishmish ke fayde अक्सर लोग किशमिश को अच्छे टेस्ट के लिए खाते हैं, यह मीठा स्वाद हमारे स्वास्थ्य पर क्या असर डालता हैं. इसके शारीरिक स्वास्थ्य से जुड़े ऐसे कई फायदे हैं. हालाँकि हर किसी को किशमिश फायदों के बारे में जानकारी नही होती हैं. फिर भी वो उनके स्वाद का एक हिस्सा बना रहता हैं. यहाँ आपकों किशमिश के उन बेहतरीन लाभों के बारे में अवगत करवा रहे हैं. यकीनन आप 5-10 किशमिश रोजाना खाते हैं तो जरुर कहेगे ये तो बड़ी काम की चीज हैं.

किशमिश खाने के फायदे kishmish ke fayde In Hindi

हम ये जाने इससे पूर्व हमे यह जानना चाहिए आखिर ये किशमिश बनता कैसे हैं. सूखे मेवे अंगूर को सुखाकर बनाया जाता हैं. इसमे वे सारे तत्व और लाभ मौजूद होते हैं. जो अगुर में हुआ करते हैं. मेवे के साथ इसके रहने और सूखने के बाद इसके गुण कई गुना तक बढ़ जाते हैं. कई सामान्य बीमारियों में यह किशमिश आपका मददगार साबित हो सकता हैं. मुख्यत इसके सेवन से शरीर में पाचन रस, रक्त और वीर्य की मात्रा को बढाने का कार्य करता हैं.

दूध के मेवे के साथ रहने के कारण इसमे फाइबर पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन बड़ी मात्रा में पाया जाता हैं, साथ ही दूध में पाए जाने वाले विटामिन और अधिकतर गुण किशमिश में आ जाते हैं, सुबह एक गिलाश पानी के साथ किशमिश का उपयोग स्वास्थ्यप्रद माना जाता हैं.

kishmish ke fayde (किशमिश के फायदे)

  • नित्य प्रातकाल पानी के साथ इसका सेवन करने से लीवर को मजबूती प्रदान करता हैं चयापचय के वर्तमान स्तर से इन्हें संतुलित करता हैं.
  • 5-6 किशमिश के नित्य उपयोग से गैस कब्ज, एसिडिटी और आलस्य को दूर करने में मददगार हैं.
  • शरीर में बढ़ी हुई कोलेस्टेरॉल की मात्रा को कम करने के साथ ही ट्राईग्लिसेराइड्स के स्तर को कम करने का किशमिश एकमात्र तरीका हैं.
  • चमड़ी रोग, बालों का झड़ना, चेहरे पर झुरिया, दाग (धब्बे) को पूर्णत दूर कर शरीर को स्वस्थ बनाने में उपयोगी हैं.
  • किशमिश बैक्टीरिया विरोधी होता हैं, जो हलकी खासी, बुखार और मलेरिया को जड़ से समाप्त कर देता हैं.
  • किशमिश में मौजूद कई ऐसे तत्व हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाते हैं, जो बड़ी से बड़ी लायलाज बिमारी से लड़ने में मदद करता हैं.
  • इसके अतिरिक्त ये भूख बढाने, पेट की अच्छी तरह सफाई करने व reproductive organ को विभिन्न इम्पेक्ट से बचाता हैं.

किशमिश के उपयोग का तरीका (how to Eat raisins in hindi)

यहाँ हमने देख इसके खाने से हमे कितने अधिक स्वास्थ्य लाभ की प्राप्ति हो सकती हैं. वैसे आप साधारनतया भी इसका उपयोग खाने में कर सकते हैं. मगर सुबह के समय किशमिश का पानी सबसे अच्छा माना जाता हैं. इसके उपयोग का साधारण सा तरीका हैं. जो आपकों यहाँ बता रहे हैं.

कोई छोटे से बर्तन में एक डेढ़ गिलास पानी लेकर उसमे 5-7 किशमिश डाल देवे, कुछ देर तक इसे गरम कर सुरक्षित जगह पर रख देवे. सुबह उठते ही उस किशमिश वाले पानी को बिना छाने ही पी ले. तथा उसमे डाली गईं किशमिश को बाद में धीरे-धीरे चबा लेवे.

किशमिश खाने के नुकसान (Risk eating disadvantages/SideEffect In Hindi)

किशमिश जिन्हें मुनक्का भी कहा जाता हैं. यह एक बहुगुणकारी फल हैं जो अंगूर को सुखाकर मेवे के साथ तैयार किया जाता हैं. ऊपर दिए गये किशमिश के लाभ को जानकर हर कोई यही कहेगा कि यह तो बहुगुणी आयुर्वैदिक औषधि हैं, जिनके फायदे ही फायदे हैं. मगर इसके उपयोग की कुछ सीमाए भी हैं.

स्पष्ट कहे तो इनका उपयोग स्वस्थ व्यक्ति ही करे. किशमिश का उपयोग कुछ रोगियों के लिए नुकसान देह भी हो सकता हैं. मुख्यतः शुगर से पीड़ित व्यक्ति को इसका उपयोग बिना चिकित्सक की सलाह लिए नही करना चाहिए. अधिक मीठेपन के कारण यह आपके शुगर लेवल को बढा सकता हैं. साथ ही प्रत्येक चीज के सिमित या एक सीमा तक उपयोग ही लाभदायक होता हैं. इसलिए किशमिश का उपयोग हर कोई स्वस्थ व्यक्ति करे मगर अधिक मात्रा में नही. किशमिश का अधिक मात्रा में उपयोग कभी-कबार नुकसानदायक भी हो जाता हैं.

किशमिश क्या हैं कैसे बनता हैं.  (raisins in hindi )

जब भी dry fruits name की बात आती हैं. तो किशमिश का नाम सबसे पहले आता हैं. हमारी भाषा में इन्हे मुनक़्क़ा भी कहा जाता हैं. जो विभिन्न जातीय अंगूरों को सुखाकर तैयारी की आने वाली प्रक्रिया के बाद बनता हैं. इसमे विधमान तत्वों की बात करे तो सबसे अधिक मात्रा में शुगर होता हैं.

जिन्हें ग्लोकोज भी कहा जाता हैं. इसके अतिरिक्त 6% तक प्रोटीन और पाचन रस पाया जाता हैं. जो भोजन को पचाने पेट सम्बन्धी शिकायतों को दूर करने और शरीरिक क्षमता बढाने के साथ ही शरीर के वजन को घटाने में भी सहायक माना जाता हैं. कहा जाता हैं, कि यदि मुनक़्क़ा यानि किशमिश से निर्मित कोई उत्पाद कुत्ते को खिला दिया जाता हैं तो उसके गुर्दे पूरी तरह खराब हो जाते हैं. जिसकी वजह कुत्ते के पाचन क्षमता से अधिक मात्रा में ग्लूकोज का पाया जाना हैं.

अब तक किश-मिश पर कई शोध हो चुके हैं जिनके निष्कर्षो के मुताबिक यह कई सारे रोगों की अंग्रेजी दवाई से अधिक कारगर मगर शुगर के पेशेंट के लिए नुकसानदेह बताया जाता हैं.

किशमिश की तासीर इनमे पाए जाने वाले पोषक तत्वों की मात्रा (raisins nutrition facts )

इसके पोषण तथ्य प्रति 100 की बात करे तो इसमे कैलोरी (kcal) 299,वसा (फैट) 0.5 ग्राम,Saturated fat 0.1ग्राम, मोनोअसंतृप्त वसा 0.1 ग्राम, कोलेस्टेरॉल जिरो मिलीग्राम, पोटैशियम 749 मिलीग्राम, कार्बोहायड्रेट 79 ग्राम, सोडियम 11 मिलीग्राम, पाचन रस (रेशा) 3.7 ग्राम, शर्करा (ग्लूकोज,शक्कर) 59ग्राम, प्रोटीन 3.1 ग्राम तथा पर्याप्त मात्र में विटामिन a सी आयरन, बी 6, बी 12, कैलिशियम और मैग्नीशियम पाया जाता हैं.

मित्रों किशमिश खाने के फायदे का ये लेख आपकों कैसा लगा, हमारे लिए kishmish ke fayde इस लेख के बारे में कोई सुझाव या सलाह के लिए हमे आपके कमेंट का इन्तजार रहेगा. आप भी अपनी रचित कोई कविता, लेख, निबंध, कहानी अथवा कोई अन्य सामग्री आप इस वेबसाईट के द्वारा अधिक लोगों तक पहुचाना चाहते हैं. तो आपका स्वागत हैं. आप हमे अपने लेख merisamgari@gmail.com पर इमेल कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *