महात्मा गांधी का प्रेरक प्रसंग | Mahatma Gandhi Prerak Prasang

Mahatma Gandhi Prerak Prasang: 2 अक्टूबर 2018 की गांधी जयंती पर प्रेरक प्रसंग शोर्ट स्टोरी प्रस्तुत कर रहे हैं. ऐसे महान प्रेरणादायक महापुरुषों के प्रसंग हमें जीवन जीने का एक नया तरीका बतलाते हैं. उन्के जीवन की झलक इन प्रेरक प्रसंगों में मिलती हैं. लीजिए पढिए 2 अक्टूबर के लिए Mahatma Gandhi Hindi Prerak Prasang…

महात्मा गांधी का प्रेरक प्रसंग | Mahatma Gandhi Prerak Prasang महात्मा गांधी का प्रेरक प्रसंग | Mahatma Gandhi Prerak Prasang

October 2, 2018 short story mahatma gandhi hindi language:-

एक बार महात्मा गांधी राजकोट में सौराष्ट्र-काठियावाड़ राज्य प्रजा परिषद् के सम्मेलन में भाग ले रहे थे. वे गणमान्य व्यक्तियों के साथ मंच पर थे. उनकी दृष्टि सभा में बैठे एक वृद्ध सज्जन पर पड़ी. अचानक वे उस स्थान से उठे और लोगों के देखते देखते उन वृद्ध महोदय के पास जा पहुचे.

सभी लोग चकित थे कि गांधीजी आखिर क्या कर रहे हैं. गांधीजी ने उन वृद्ध सज्जन के चरण स्पर्श किए और उन्ही के पास बैठ गये. आयोजकों ने जब उनसे मंच पर चलने की प्रार्थना की तब वे बोले- यह मेरे गुरुदेव हैं. मैं अपने गुरुदेव के चरणों में बैठकर ही सम्मेलन की कार्यवाही का अवलोकन करुगा.

वे नीचे बैठे और मैं ऊपर मंच पर यह कैसे हो सकता हैं. सम्मेलन की समाप्ति पर उन गुरु ने गांधीजी को आशीर्वाद देते हुए कहा; तुम जैसे निरभिमानी व्यक्ति एक दिन संसार के महान पुरुषों में स्थान बनाएगा.

पूरी सभा गांधीजी का अपने गुरुदेव के प्रति ऐसा आदर भव देखकर हर्ष से अभिभूत हो उठी. गुरु का आदर ज्ञान का आदर हैं और ज्ञान का आदर अपने मनुष्य जीवन का आदर हैं. यही व्यक्ति को महान बनाता हैं.

अगर ऐसे दुर्लभ मनुष्य जीवन में जन्म मृत्यु जैसे महादुख का विनाश करने वाले कोई परम गुरु, ब्रह्माज्ञानी सद्गुरु मिल जाए तो कहना ही क्या ! उनका जितना आदर करे कम ही हैं.

जलती आग बुझा ना पाये वह नीर ही क्या ?
अपने लक्ष्य को भेद न पाये वह तीर ही क्या ?\
संग्राम में लाखों विजय पानेवाले अगर
मन को जीत न पाये तो वीर ही क्या ?

Gandhi Jayanti Mahatma Gandhi Prerak Prasang, Prerak Prasang Of Mahatma Gandhi का यह लेख आपकों कैसा लगा कमेंट कर जरुर बताएं. गुरु के महत्व को बताने वाले इस प्रेरक प्रसंग को आप गांधी जयंती 2018 पर भाषण के रूप में भी बोल सकते हैं.

Leave a Reply