जीवन में शिक्षा का महत्व | Main Purpose Education

Main Purpose Education IN HINDI:- शिक्षा साध्य नही है वरन किसी लक्ष्य को पाने का साधन है. हम बच्चो को शिक्षा देने के लिए शिक्षा नही देते है. हमारा प्रयोजन होता है उन्हें जीवन के लिए योग्य और सक्षम बनाना.

जीवन में शिक्षा का महत्व | Main Purpose Education

जैसे ही हम इस सत्य को अच्छी तरह ग्रहण कर लेगे, वैसे ही यह बात हमारे समझ में आ जाएगी कि महत्वपूर्ण यह है कि हम ऐसी शिक्षा पद्दति को चुने, जो बच्चो को वास्तव में जिन्दगी जीने के लिए तैयार करे.

यह काफी नही है. कि उसी पद्दति को चुन ले, जो हमे सबसे पहले प्राप्त हो. या अपनी पुरानी पद्दति को ही, बिना यह जांचे हुए कि वह सचमुच उपयुक्त है या नही, आगे चलाते चले.

बहुत से आधुनिक देशों में कुछ समय से यह सोचना फैशन बन गया है. कि शिक्षा को सबके लिए चाहे वह गरीब हो या अमीर बुद्दिमान हो या बुद्दू मुक्त कर देने में समाज की समस्याएं हल की जा सकती है. और एक परिपूर्ण त्रुटिहीन राष्ट्र का निर्माण हो सकता है.

पर यह तो आज भी दिखाई पड़ रहा है कि सबके लिए मुफ्त शिक्षा का प्रबंध कर देना काफी नही है. यह पता चलता है कि ऐसे देशों में विश्वविद्यालयों के उपाधि धारियों की संख्या उपलब्ध नौकरियों से कही अधिक है. जिसे वे नीचा समझते है.

वास्तव में इन लोगों द्वारा हाथ से किये जाने वाले श्रम के कार्य गंदे और शर्मनाक माने जाते है.

जब हम यह कहते है कि हमे इस प्रकार शिक्षित किया जाना चाहिए कि हम जीवन के योग्य बन सके तो आशय यह होता है. कि एक तो हममें से प्रत्येक उन सभी कार्यो के योग्य हो सके जो उपरी बुद्धि और क्षमता के अनुकूल हो.

दुसरे हम इस बात को मन से स्वीकार कर सके कि समाज के लिए सभी कार्य आवश्यक है और अपना काम करने में शरमाना या दुसरे काम को नीचा समझना बहुत ही खराब बात है.

शिक्षक दिवस पर लेख | Article On Teachers Day... Article On Teachers Day प्रत्येक वर...
प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *