मानवेन्द्र नाथ राय की जीवनी | Manabendra Nath Roy Biography in Hindi

मानवेन्द्र नाथ राय की जीवनी Manabendra Nath Roy Biography in Hindi: 1888 में बंगाल के अरबालिया गांव में मानवेन्द्र नाथ राय का जन्म हुआ. इनका वास्तविक नाम नरेन्द्र भट्टाचार्य था. बंग-भंग आन्दोलन 1905 में इनका बहुत महत्व पूर्ण योगदान था. भारत की आजादी के अभियान में भारत के अलावा जर्मनी से भी अस्त्र शस्त्र जुटाने के लिए क्रांतिकारी संघ की ओर से चुने गये.

मानवेन्द्र नाथ राय जीवनी Manabendra Nath Roy Biography in Hindi

मानवेन्द्र नाथ राय जीवनी Manabendra Nath Roy Biography in Hindi

साम्यवादी विचारों के समर्थक राष्ट्रवादी एम एन राय का जन्म 1887 में एक बंगाली परिवार में हुआ था. वह बहुत कम अवस्था से ही राष्ट्रवादी क्रांतिकारी विचारों से प्रभावित व आकर्षित होने लगे थेक्रन्तिकारी उपलब्धियों के अपने अनुभव के कारण क्रांति कारियों के बीच एक प्रसिद्ध अग्रणी नेता के रूप में वह जाने जाते थे.

अपनी विदेशी यात्राओं के दौरान वह साम्यवादी विचारों से प्रेरित हुए थे. 1940 में वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सदस्य बने. पर वह इसके आधुनिक पहुच के कारणों से काफी निराश हो गये. राय गांधी की बहुत सी नीतियों से भी सहमत नहीं थे. जिसका परिणाम यह रहा कि वे कांग्रेस से अलग हो गये तथा एक नई पार्टी रेडिकल डेमोक्रेटिक पार्टी की स्थापना की.

इस पार्टी में किसानों व मजदूरों के प्रतिनिधित्व का विशेष रूप से महत्व था. 1948 में राय को मजबूर किया गया कि वे इस पार्टी को भंग कर दे या समाप्त कर दे. मार्क्सवादी साम्यवादी पार्टी की स्थापना हेतु राय ने स्वयं सक्रिय भूमिका निभाई. लेनिन ने राय को रूस आने का निमंत्रण दिया तथा वहां पर उन्होंने राष्ट्रवाद तथा उपनिवेशवाद के प्रश्न पर सैद्धांतिक प्रारूप का ढांचा तैयार किया.

राय भारत में साम्यवादी आंदोलन के जाने माने नेता के रूप में स्थापित हो गये. 1930 में भारत वापिस आने के बाद साम्यवादी षड्यंत्र आंदोलन में भाग लेने के कारण 6 वर्ष के लिए जेल में बंद कर दिए गये. भारत के लिए उनका सबसे महान योगदान था मार्क्सवादी विचारों से संबंधित पुस्तकों का अनुवाद करना.

यह भी पढ़े

आशा करता हूँ दोस्तों Manabendra Nath Roy Biography in Hindi का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. यदि आपकों Manabendra Nath Roy Biography में दी गई जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *