Matlabi Duniya Shayari In Hindi | मतलबी दुनिया शायरी

Matlabi Duniya Shayari In Hindi मतलबी दुनिया शायरी : दुनिया में एक चीज धड़ल्ले से चलती है और उसे हाथो हाथ लिया जाता हैं, वो हैं अपना मतलब. वक्त और जमाना इतना मतलबी हो गया हैं कि आप पूरा बाजार छान आइये, कोई आपसे दुआ सलाम तक नहीं करेगा, यदि आप बहुत से लोगों से ऊँचे पायदान पर हैं तो लोगों की वाहवाही सुनते सुनते दिन छोटा पड़ जाएगा, किसी ने ठीक ही कहा है कि दुनिया न पैसे से चलती है न पॉवर से बल्कि दुनिया अपने मतलब से चलती हैं. हर कोई बस अपने हित साधने में लगा हैं. Matlabi Duniya Shayari SMS Jokes, Sms Quotes Hindi में यहाँ साझा कर रहे हैं.

Matlabi Duniya Shayari In Hindi | मतलबी दुनिया शायरी

Matlabi Duniya Shayari In Hindi मतलबी दुनिया शायरी

matlab ki duniya mein koi kisi ka nahi hota shayari

लोग खोजने है तो
परवाह करने वालों को खोजिए
यूज करने वाले तो आपको
खुद ही खोज लेंगे.


अपने मतलब के लिये लोग, अक्सर बदल जाते हैं
वे अपनो को पीछे छोड़ कर, आगे निकल जाते हैं
कोई मरता भी हो तो उनकी बला से,
वो तो मरे पर कदम रखकर, आगे बढ़ जाते हैं


urdu shayari matlabi duniya

मतलबी दुनिया का इतना सा उसूल है
आज तेरा दिन है तुझे यार बनाना हैं.


दिक्कत यह भी है इस कातिल दुनिया का ..
कोई अगर अच्छा भी है तो वो अच्छा क्यों है..


मै सूरज के साथ रहकर भी भूला नही अदब…
लोग जूगनू का साथ पाकर मगरूर हो गये…


selfish status in hindi

कोहनी पर टिके हुए लोग,
टुकङो पर बिके हुए लोग,
करते है बरगद की बाते
ये गमले मे उगे हुए लोग


प्यार भी आजकल टाइम पास करने का जरिया बन गया है, कोई ज्यादा अमीर या बेहतर साथी मिलने पर


Best Shayari On Matlabi Duniya In Hindi

दुनिया बहुत मतलबी है,
साथ कोई क्यो देगा,
मुफ्त का यहा कफ़न नही मिलता,
तो बिन पीड़ा के प्यार कौन देगा।


कोई समझे तो एक बात कहू साहब,
तनहाई सौ गुना बेहतर है मतलबी लोगो से।


मतलबी रिश्तों की लगभग एक सी ही कहानी है
अच्छे वक्त में खूबियाँ
और बुरे वक्त में कमियां गिनानी है.


मतलब की इस दुनियां में
प्यार बस एक झांसा है
धोखा तुम्हे भी मिलेगा दोस्त
ये मेरा दावा हैं.


matlabi sms messages

प्यासी ये निगाहे तरसती रहती है
तेरी याद मे अक़्सर बरसती रहती है
हम तेरे खयालों मे डूबे रहते है
और ये ज़ालिम दुनिया हम पर हसती रहती है


सबके दिलो मे धङकना ज़रूरी नही होता साहब..
कुछ लोगो की आखोँ मे खटकने का भी एक अलग मज़ा है


यह कटु यथार्थ है, कि मतलब की दुनिया में बिना किसी स्वार्थ के शायद ही कोई किसी की परवाह करता है.


खून के बने सभी रिश्तों को में मैंने निस्वार्थ प्यार ढूढा कई बार
हर इट को जोड़े सीमेंट में छुपे मिले मतलब लाखों हजार.


shayari on matlabi insan

स्वयं की कमियों को बताता कोई नहीं
अपने मतलब के बगैर हाथ मिलाता कोई नहीं
प्यार से सभी करते हैं आपसे
मगर किसी का साथ निभाता कोई नहीं


बदला हुआ वक़्त है, ज़ालिम ज़माना है..
यहा मतलबी रिश्ते है, मगर निभाना भी है..!


matlabi hain log poetry

दुनिया मे सबको दरारो मे से झाक ने की आदत है,
दरवाजे खुले रख दो, कोई आस पास भी नही दिखेगा


मतलबी दुनियां मे लोगो की तादाद तो बढ़ रही है
पर मानव विलुप्त होता जा रहा है.


कभी मतलब के लिए
तो कभी बस, दिल्लगी के लिए
हर कोई इश्क ढूढ रहा है
यहाँ ज़िन्दगी के लिए


मतलब का भार
काफी ज्यादा होता है
तभी तो मतलबी निकलते है
तो रिश्ते हल्के हो जाते हैं.


selfish hindi shayari on matlab ki duniya

मतलबी दुनिया मे लोग दुःख से कहते है की,
कोई किसी का नही…?
मगर कोई यह नही सोचता की हम किसके हुए…


पीड़ा तो तब हुई
जब लोग अपने दिलो में
गिले शिकवे रखकर
माफ़ी मांग चले गये
सिर्फ अपने मतलब के लिए


जब मतलब हो जाते हैं न पुरे
तब रिश्तें रह जाते है अधूरे


मुझको क्या हक, मै किसी को मतलबी कहू..
मै खुद ही ईश्वर को, कठिनाई मे याद करता हू !


यह भी पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *