मेघा लैम्प परियोजना मेघालय | megha lamp project in meghalaya in hindi

MBDA megha lamp project in meghalaya in hindi: किसानों को मार्केट लीकेज प्रदान कर उनकी आय में सुधार के लिए मेघालय के मुख्यमंत्री ने 4 सितम्बर 2015 को उद्घाटन किया. इस योजना का उद्देश्य पर्वतीय राज्य में पारिवारिक आय तथा जीवन की गुणवत्ता को सुधारना हैं. मेघा लैंप परियोजना का मेघालय लाइवलीहुड एंड एक्सेस टू मार्केट प्रोजेक्ट प्रमुख कार्यक्रम हैं, जो सतत आजीविका के लिए बाजारों तथा मूल्य श्रंखला के विकास पर ध्यान देता हैं तथा सुनिश्चित करता हैं कि ये आजीविका मेघालय के भौगोलिक सन्दर्भ एवं जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के अनुरूप हो. इस योजना के तीन घटक हैं प्राकृतिक संसाधन, प्रबंधन एवं खाद्य सुरक्षा, उद्यम एवं आजीविका विकास तथा ज्ञान प्रबंधन.

मेघा लैम्प परियोजना मेघालय | megha lamp project in meghalaya in hindiमेघा लैम्प परियोजना मेघालय | megha lamp project in meghalaya in hindi

`इस परियोजना को एकीकृत बेसिन विकास एवं आजीविका कार्यक्रम के अंग के रूप में लागू किया जा रहा हैं. तथा इसे अंतर्राष्ट्रीय कृषि विकास कोष से सहायता मिल रही हैं. मेघा लैम्प से सभी 39 ब्लाक में ग्रामीण समुदायों द्वारा 47,000 उद्यमों का विकास किया जाने और कम से कम 18 ब्लाक में 54 मूल्य श्रंखला एवं आजीविका क्लस्टर स्थापित होने की अपेक्षा हैं, जिससे कुल 1,40,000 परिवार लाभान्वित होंगे.

मेघा-लैंप के तहत लक्ष्य

मेघा-एलएएमपी सभी 39 ब्लॉक में ग्रामीण समुदाय भागीदारों द्वारा स्थापित 47,000 उद्यम विकसित करेगा, और कम से कम 18 ब्लॉक में 54 मूल्य श्रृंखला और आजीविका समूहों की स्थापना करेगा। इस प्रकार मेघा-एलएएमपी का लक्ष्य मेघालय में 420,000 ग्रामीण परिवारों में से 140,000 परिवारों तक पहुंचना है, जिसमें गरीब परिवारों, महिलाओं और सामाजिक रूप से पिछड़े शामिल हैं।

मेघालय लाइवलीहुड एंड मार्केट प्रोजेक्ट (मेघा-एलएएमपी), मेघालय के पहाड़ी राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में पारिवारिक आय और जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए एक परियोजना, गुरुवार को मुख्यमंत्री, डॉ। मुकुल संगमा। 
योजना भवन, मुख्य सचिवालय, शिलांग में परियोजना के शुभारंभ में बोलते हुए डॉ संगमा ने कहा कि उनकी सरकार लोगों को सशक्त बनाने के लिए अपने संवैधानिक दायित्वों को पूरा करने की कोशिश कर रही है ताकि वे अपनी सामाजिक जरूरतों और भोजन, कपड़े की मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा कर सके.

READ MORE:-

Leave a Reply