Metro Rail Essay In Hindi | भारतीय मेट्रो रेल पर निबंध

Metro Rail Essay In Hindi: आज हम Metro Rail par nibandh आपके साथ साझा कर रहे हैं. दुनियां के 21 फीसदी क्षेत्र में सड़कों का जाल बिछ जाने उपरान्त ट्रेफिक जाम जैसी समस्या हर शहर के बाशिंदे को भुगतनी पड़ रही हैं दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद,  जयपुर, कलकत्ता  जैसे शहरों में मेट्रो रेल ने   अवश्य इस जाम की समस्या से लोगों को निजात दिलाई हैं आज हम benefits of metro train essay in hindi मेट्रो का विस्तार इतिहास लाभ हानि पर निबंध बता रहे हैं.

Metro Rail Essay In Hindi | भारतीय मेट्रो रेल पर निबंध

Metro Rail Essay In Hindi

विश्व की प्रथम मेट्रो रेल लन्दन में 1863 में प्रारम्भ हुई यह भूमिगत मेट्रो थी. शंघाई मेट्रो चीन विश्व की सबसे लम्बी मेट्रो रेल प्रणाली हैं. विश्व की सबसे व्यस्ततम मेट्रो चीन की बीजिंग सब वे हैं. विश्व की मेट्रो रेल प्रणाली में सर्वाधिक स्टेशन न्यूयार्क सिटी मेट्रो में हैं.

भारतीय मेट्रो रेल परियोजनाएं (essay on metro train in hindi language)

कोलकाता मेट्रो रेल- कोलकाता मेट्रो भारत की प्रथम भूमिगत मेट्रो रेलवे हैं. यह 24 अक्टूबर 1984 को प्रारम्भ हुई. 29 दिसंबर 2010 को मेट्रो रेलवे कोलकाता को क्षेत्रीय रेलवे का दर्जा दिया गया.

दिल्ली मेट्रो रेल– यह भारत की द्वितीय मेट्रो रेल प्रणाली हैं. इसके निर्माण हेतु मेट्रो रेल निगम DMRC की 3 मई 1995 को स्थापना की गई. DMRC ने दिल्ली मेट्रो रेलवे का शुभारम्भ शाहदरा व तीस हजारी के मध्य 25 दिसम्बर 2002 को किया.

बैगलौर नम्मा मेट्रो– बेंगलौर मेट्रो को नम्मा मेट्रो के नाम से जाना जाता हैं. बंगलौर मेट्रो का शुभारम्भ 20 अक्टूबर 2011 को हुआ जब बैयप्प्नहल्ली से एम् जी रोड़ बंगलौर मेट्रो चलाई गई. बंगलौर मेट्रो भारत की तृतीय रेल प्रणाली हैं. इसका संचालन BMRCL द्वारा किया जा रहा हैं.

मुंबई मेट्रो रेल– मुंबई मेट्रो की शुरुआत 8 जून 2014 को 11.4 किमी लम्बे स्टेंडर्ड गेज रेलमार्ग पर वर्सोवा अँधेरी घाटकोपर तक चलाई गई. इसकी संचालक रिलायंस इंफ़्रा हैं. मुंबई मेट्रो भारत की पीपीपी मॉडल पर आधारित पहली मेट्रो रेल प्रणाली हैं.

जयपुर मेट्रो– राजस्थान में जयपुर मेट्रो की शुरुआत 3 जून 2015 से की गई हैं. इसके लिए एशियन डेवलपमेंट बैंक की सहायता प्राप्त हो रही हैं. इसकी क्रियान्विति हेतु जयपुर मेट्रो रेल कोर्पोरेशनलिमिटेड का गठन किया गया हैं.

चेन्नई मेट्रो– चेन्नई मेट्रो 29 जून 2015 से प्रारम्भ हुई हैं. इसका संचालन जापान के सहयोग से चेन्नई मेट्रो रेल लिमिटेड द्वारा किया जा रहा हैं. चेन्नई में वर्तमान में एमआरटीएस प्रणाली भी कार्यरत हैं. यह एक नवम्बर 1995 को प्रारम्भ हुई थी, यह भारत की पहली एलिवेटेड लाइन थी.

रेपिड मेट्रो रेल गुडगाँव– यह रेपिड मेट्रो रेल गुडगाँव लिमिटेड द्वारा संचालित गुडगाँव हरियाणा की मेट्रो रेल प्रणाली हैं. जिसे सिकन्दरपुर में दिल्ली मेट्रो की येलो लाइन से जोड़ा गया हैं. रेपिड मेट्रो भारत में संचालित प्रथम पूर्ण निजी मेट्रो प्रणाली हैं. यह NH 8 को दिल्ली मेट्रो वाया साइबर सिटी गुडगाँव से जोड़ती हैं.

भारत की निर्माणाधीन मेट्रो रेल परियोजनाएं (paragraph on metro rail in hindi)

कोच्ची मेट्रो– कोच्ची केरल में कोच्ची मेट्रो की आधारशिला 13 सितम्बर 2012 को रखी गई. इसका निर्माण कोच्ची मेट्रो रेल कोर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा फ्रांस व जापान के सहयोग से किया जा रहा हैं.

हैदराबाद मेट्रो– इसकी आधारशिला 26 अप्रैल 2012 को हैदराबाद में रखी गई. इस परियोजना का संचालन लार्सन एंड टुब्रो मेट्रो रेल हैदराबाद लिमिटेड व केंद्र सरकार द्वारा किया जा रहा हैं.

नागपुर मेट्रो– इसकी आधारशिला 21 अगस्त 2014 को नागपुर महाराष्ट्र में रखी गई. इसका संचालन 18 फरवरी 2015 को गठित नागपुर मेट्रो रेल कोर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा किया जा रहा हैं. 30 सितम्बर 2017 को नागपुर माझी मेट्रो का ट्रायल रन किया गया. इसे महा मेट्रो भी कहते हैं.

मेगा अहमदाबाद गांधीनगर मेट्रो रेल प्रोजेक्ट– अहमदाबाद गांधीनगर मेट्रो रेल प्रोजेक्ट की आधारशिला 14 मार्च 2015 को गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल द्वारा रखी गई. इसके लिए एक SPV मेट्रो लिंक एक्सप्रेस गांधीनगर एंड अहमदाबाद कोर्पोरेशन लिमिटेड का गठन किया गया.

लखनऊ मेट्रो– लखनऊ मेट्रो की आधारशिला 27 सितम्बर 2014 को रखी गई. इसके संचालन हेतु लखनऊ मेट्रो रेल कोर्पोरेशन का गठन किया गया. इसकी शुरुआत 5 सितम्बर 2017 को की गई.

नवी मुंबई मेट्रो- इसकी नींव 1 मई 2011 को रखी गई. इसे सिटी एंड इंडस्ट्रियल देवलोपमेंट कारपोरेशन द्वारा संचालित किया जा रहा हैं.


यह भी पढ़े

आपका कीमती समय हमारे साथ बिताने के लिए धन्यवाद् देते हैं. हमें आशा हैं Metro Rail Essay In Hindi भारतीय मेट्रो रेल पर निबंध इस लेख में आपकों दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी. यदि आपकों मेट्रो रेल एस्से इन हिन्दी का यह लेख पसंद आया हो तो प्लीज अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *