मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध | My Favourite Game Essay

मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध | My Favourite Game Essay 

हर किसी के शौक अलग-अलग होते है. मगर जब बात खेल की आए तो अधिकतर लोगों की पहली पसंद क्रिकेट ही है. भले ही कहने को तो इसे अमीरों का खेल भी कहते है. लेकिन हर-गली मोहल्ले में आपकों क्रिकेट के धुरंधर मिल ही जाएगे. जमाना बदला तो खेल ग्राउंड से चलकर हमारे मोबाइल फोन तक भी आ चूका है. भले ही बाहर जाकर खेलने का समय मिले न मिले ऑफिस के आधा घंटा मध्यांतर में ही मोबाइल में डाउनलोड क्रिकेट गेम खेलकर भी संतुष्ट हो जाते है. जब आईपीएल हो तो लगता है भारत में होली दिवाली से कोई बड़ा पर्व आ रहा है. जी नही ये हमारा खेल ही नही हमारी जान है. आपका भी पसंद कुछ ऐसी ही है तो आपके लिए आज का यह मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध (My Favourite Game Essay) जरुर पढ़े.

मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध (My Favourite Game Essay)

क्रिकेट वर्तमान में दुनियाँ का सबसे अधिक लोकप्रिय खेल है.

बताया जाता है, इसे सबसे पहले 13 वी सदी में अंग्रेजो द्वारा खेला गया था. जब अंग्रेजो ने भारत पर शासन किया तो धीरे-धीरे हमारे देश में भी इसका चलन शुरू हुआ. भारत में सबसे पहले 1972 को कलकता में इसे खेला गया था.

धीरे धीरे यह अन्य बड़े स्थानों में खेला जाने लगा.

1848 में जाकर यह भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में आया. और इसे बाद धीरे-धीरे देश के हर एक कोने तक इस खेल को खेला जाने लगा. समय बीतने के साथ ही कई ग्राउंड और क्लब बनाएं जाने लगे. उस समय तक बड़े अंग्रेज अधिकारी, यहाँ के देशी राजा महाराजे ही क्रिकेट को खेलते थे. इसलिए इसे अमीरों के खेल के नाम से भी जाना जाता था. परन्तु आज 21वी सदी आते आते यह सभी का प्रिय खेल हो गया है. मेरा भी प्रिय खेल क्रिकेट ही है.

क्रिकेट खेलने का तरीका (How to play cricket)

इसे खेलने के लिए मैदान के मध्य 22 गज की पिच तैयार की जाती है.

इसके दोनों छोर पर एक दल के दो खिलाडी बैट लेकर खड़े रहते है. उनके पीछे तीन-तीन विकेट खड़े रहते है. जिनके ऊपर बेल्स (गिल्ली) हुआ करती है. दुसरे दल के खिलाडी विकेट की सीधाई में गेद फेकते है. उस गेद को छोट मारकर रन बनाए जाते है. क्रिकेट के खेल में एक टीम के ग्यारह खिलाड़ी होते है. गेद फेकने के लिए ओवरो का निश्चय किया जाता है. एक ओवर में छ: बार गेद फेकी जाती है. इस खेल में प्रत्येक खिलाड़ी साफ़ सुथरी पौशाक में रहता है.

क्रिकेट में कई बातो का ध्यान रखा जाता है.

मैच की अवधि, टॉस का समय, अम्पायर की स्थति इन सभी बातो पर नियम बनाए गये है. बेस्टमेन द्वारा बॉल को हिट किये जाने के बाद पिच पर जितनी बार दौड़ लगाईं जाती है उन्हें रन (RUN) कहते है.एक खिलाड़ी के आउट होने के बाद उसका स्थान लेने दूसरा खिलाड़ी मैदान में आता है. इस प्रकार दस खिलाड़ियों के आउट होने पर दस विकेट गिर जाते है और पूरी टीम आल आउट हो जाती है. एक खिलाड़ी निम्न प्रकार से आउट हो सकता है.- एल. वी. डब्ल्यू, रन आउट, हिट विकेट व कैच आउट.

इस तरह दूसरी टीम को बल्लेबाजी करने का अवसर दिया जाता है.

यह खेल 20 ओवर का, पांच दिवसीय या 50-50 ओवर का होता है. क्रिकेट का खेल कई कारणों से आज दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल है. इसका मैदान गोलाकार होता है. प्रत्येक  खिलाड़ी पूर्ण स्वस्थ व् मुस्तेद रहते है. जब वह गेद पकड़ने या कैच करने के लिए दौड़ता है तो उनकी स्फूर्ति देखते ही बनती है. यह सभ्य जनों का खेल है, क्रिकेट के नियमों और उपनियमों को समझे बिना इसे नही खेला जा सकता है.

देश के बड़े शहरों में हर दिन राष्ट्रिय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट मैच व टूर्नामेंट का आयोजन सालभर चलता रहता है.

कई बार दुसरे देशों की टीम भी यहाँ खेलने आया करती है. इस प्रकार के बड़े मैचों को देखने के लिए लाखों की संख्या में खेल प्रेमी मैदान की ओर रुख करते है. आजकल तो गली गली गाँव गाँव तक क्रिकेट के खेल का प्रचार हो चूका है. इसके खेल को खेलने में हर उम्रः का बालक या वयस्क रूचि दिखाता है. इस खेल को खेलने वाले राष्ट्रिय खिलाड़ियों का बहुत मान सम्मान होता है. जिन्हें आज के युवा अपना हीरो भी मानते है.

उपसंहार

प्रत्येक खेल का स्वस्थ जीवन के विकास में बड़ा महत्व है. अन्य खेलो में कम समय लगता है. परन्तु क्रिकेट के खेल में अधिक समय और धन खर्च होता है. फिर भी यह खेल स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का परिचायक है. इस कारण क्रिकेट का खेल हमे बहुत प्यारा लगता है.

मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध (My Favourite Game Essay) आपकों कैसा लगा कमेंट कर जरुर बताइयेगा. my favourite sport essay,my favourite game essay for kids,my favourite game cricket जैसे विषयों के लिए आप मेरा प्रिय खेल निबंध का उपयोग कर सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *