My Neighbour Essay In Hindi And English | मेरे पड़ोसी पर निबंध

My Neighbour Essay: Being humans we live in groups after the family member Neighbour is own. we share & spent with him happiest and sorrow with our Neighbour. in this My Neighbour Essay, we are talking about the importance of Neighbour, why these are the partner of our every moment. My Neighbour Essay In Hindi And English is helpful for students and children they read in class 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10. short and long length (100,150,200,250,300,350,400,500) words essay on My Neighbour gave blow first in English language after that in Hindi language.

My Neighbour Essay In Hindi And English | मेरे पड़ोसी पर निबंधMy Neighbour Essay In Hindi And English | मेरे पड़ोसी पर निबंध

Mr. Jain is next door neighbor. I live in bazar sita ram. MR Jain is a teacher. he serves in ramjas school Karol Bagh. he is the good-natured fellow. his wife is a gentle lady. he has cultured children.

we respect the feelings of each other. MR jain is not proud. he belongs a middle-class family. he is regular in his duty routine. he gets up early. he goes for a walk. after taking bath, he worships god for a few minutes. he is a God fearing.

he calls on us. he asks about our welfare. he exchanges sweets on Diwali. his wife is a fine lady. both of them treat us like relatives.

we are on good terms with our Neighbour. no doubt, my good terms with our Neighbour, is a friend relative, and guide, to me.

मेरे पड़ोसी पर निबंध- My Neighbour Essay In Hindi

श्री जैन मेरे घर के पास ही रहते है, वो मेरे अच्छे पड़ोसी हैं। मैं सीता राम बाजार में रहता हूं। एमआर जैन एक शिक्षक है। वह रामजास स्कूल करोल बाग में पढ़ाते है। वे अच्छी प्रकृति वाले इंसान है। उनकी पत्नी एक सभ्य महिला है। उनके बच्चे अच्छी तरह सुसंस्कृत एवं सभ्य है।

हम एक-दूसरे की भावनाओं का सम्मान करते हैं। मुझे अपने पड़ोसी एमआर जैन पर गर्व  है। वह एक मध्यम श्रेणी के परिवार से संबंधित है। वह नियमित रूप से अपनी ड्यूटी करते है। वे सुबह जल्दी उठते है। उठने के बाद ये मोर्निंग वाक पर जाते है। स्नान करने के बाद, वह कुछ मिनटों के लिए भगवान की पूजा करते है।

कभी कभी वो हमें अपने घर पर बुलाता है, हमारे हाल-चाल के बारे पूछता है. दिवाली इत्यादि त्योहारों पर मिठाई आदान प्रदान करते है. उसकी पत्नी एक अच्छी महिला है। वे दोनों रिश्तेदारों की तरह हमारे साथ व्यवहार करते हैं।

हमारे अपने पड़ोसी के साथ अच्छे रिश्ते हैं। निस्संदेह, हमारे पड़ोसी के साथ मेरे रिश्ते, मेरे लिए एक दोस्त एवं रिश्तेदार, मार्गदर्शक की तरह हैं।

READ MORE:-

कंप्यूटर का परिचय | Computer Introduction In Hindi... कंप्यूटर का परिचय | Computer Introd...
राष्ट्रीय एकता और अखंडता पर निबंध | Essay on National Unity and Integr... राष्ट्रीय एकता और अखंडता पर निबंध |...
प्लीज अच्छा लगे तो शेयर करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *