वन्य जीव जंतुओं के नाम हिंदी में | Name Of Wild Animals In Hindi

वन्य जीव जंतुओं के नाम हिंदी में Name Of Wild Animals In Hindi आज के इस आर्टिकल में हम आपके लिए लाए हैं animals name in hindi and english with photo दिखा रहे है. मुख्य रूप से राजस्थान एवं रेगिस्तान में रहने वाले इस वन्य जीव जन्तुओं के बारे में आपकों इन्फॉर्मेशन दे रहे है. शीर्ष 10 wild animals name बता रहे है जिनके बारे में आपने अवश्य ही कभी सुना व उनके बारे में पढ़ा होगा. वन्य जीवों के नाम (Names of Animals) की शुरुआत उन जीव धारियों से कर रहे है जो जंगल में स्वच्छद रूप से विचरण करते है.

वन्य जीव जंतुओं के नाम हिंदी में

वन्य जीव जंतुओं के नाम हिंदी में | Name Of Wild Animals In Hindi

Name Of Wild Animals In Hindi

  • बाघ (Tiger)- सामान्यतः बाघ दस फुट लम्बा एवं साढ़े तीन फुट उंचा होता है. इसका शरीर सुनहरा पीला चमकता हुआ होता हो. जिस पर काले रंग लो लम्बी धारियां ऊपर से नीचे की ओर जाती दिखाई देती है. इनकी आँखे उभरी हुई होती है. बाघ की घ्राण शक्ति बहुत विकसित होती हैं.
  • बघेरा (तेंदुआ) Baghera– इसके शरीर का रंग बादामी या हल्का भूरा होता है, जिसमें सुर्खी मिली सफेदी होती है. छाती का रंग एकदम सफेद होता है, इसके सारे शरीर पर गोल चित्तियाँ होती है.
  • जरख Girakh– जरख को साधारण बोली में लकड़बग्घा भी कहते हैं इसकी शक्ल कुत्ते से मिलती जुलती होती है. इसकी पीठ गर्दन व दुम पर काफी बाल होते है. इसका रंग स्लेटी या राख जैसा होता है , जिस पर खड़ी व आड़ी धारियां होती है. जरख की सुघ्नें की शक्ति बहुत ही तीव्र होती है. इसी विशेषता के कारण किसी भी छुपी हुई तलाश कर निकाल लेता है. यह बहुत डरपोक जानवर भी है. इसकी आवाज भयावह व फूहड़ होती है. जन्तुओं में लकड़बग्घा एवं पक्षियों में गिद्ध सड़े गले मृत जीवों से अपना भोजन प्राप्त करते है. जिससे वन क्षेत्र दुर्गन्ध मुक्त रहते है. अगर ये दोनों जीव न हो तो जंगल असहनीय दुर्गन्ध युक्त होंगे. यही प्राकृतिक आवासों को स्वच्छ रखने की वन क्षेत्रों में स्वचालित व्यवस्था हैं.
  • भेड़िया (Wolf)– भेड़िया आया भेड़िया आया की कहावत है. इसका रंग राख जैसा मटमैला होता है. इसके हल्के भूरे रंग में काले कहीं कही ज्यादा मिश्रित होते है. यह अपनी चालाकी और घेराबंदी के लिए प्रसिद्ध है. ये छल और चोरी में माहिर होते है. अपने शिकार को धोखा देकर, दौड़ाकर, सामूहिक रूप से शिकार कर मारते हैं. इनमें दौड़ने की अभूतपूर्व क्षमता है, जिससे यह शिकार का दूर तक पीछा कर उन्हें थका कर मार देते है.
  • लोमड़ी (Fox)– अंगूर खट्टे होते है की कहानी लोमड़ी के कारण प्रसिद्ध है. यह पशु समाज का सबसे चालाक वन्य जीव माना जाता है. लोमड़ी एक छोटा फुर्तीला जानवर है.
  • सियार (Jackal)– रात्रि को प्रायः गाँवों में हुआ हुआ की आवाज सुनकर व्यक्ति सियार की बोली पहचान जाता है, सियार को गीदड़ एवं स्याल भी कहते है.
  • जंगली सूअर (Wild boar)– जंगली सूअर शक्ल सूरत में पालतु सूअरों की तुलना में अलग व कुछ बड़े होते है. इनका शरीर गठा हुआ एवं ताकतवर होता है, जिससे यह तीव्र गति से सीधा प्रहार करने में सक्षम है.
  • हिरण व मृग (Deer)– राजस्थान में पाई जाने वाली हिरण की प्रजातियों में चिंकारा, काला हिरण, चोसिंगा, नीलगाय आदि प्रमुख है. मृगवंश की मुख्यतः सांभर व चीतल दो प्रजातियाँ राजस्थान में पाई जाती है.
  • काला हिरण (Black buck)– यह बहुत सुंदर एवं मनोहारी वन्य जीव है जो तालछापर, चुरू के वन्य जीव अभ्यारण्य में पाए जाते है.
  • नीलगाय (Blue cow)– नीलगाय को रोझ तथा रोजड़ा भी कहते है. यह एक घोड़े जैसा भारी मजबूत, भूरे रंग का वन्य जीव है. यह जंगलों के अलावा मैदानों और खेतों में घूमते है इनसे कृषि को बहुत नुकसान पहुचता है.
  • चीतल (Chital)– चीतल, सुंदर एवं मनोहर वन्य प्राणी है यह चित्तीदार मृग है. यह चंचलता, भौलेपन एवं सौदर्य की प्रतिमूर्ति है.
  • सांभर (Sambhar)– सांभर हिरण जाति का एक बड़ा वन्य जीव है, जिसे कई लोग बारहसिंगा भी कहते है.
  • खरगोश (rabbit)– सुंदर व सरल स्वभाव का जन्तु जो तेज दौड़ने में सक्षम होता है. शिकार एवं वनोंन्मूलन के कारण इनकी संख्या में निरंतर कमी हो रही है.
  • सेही (From)– सेही को गाँवों में शेवली भी कहते है. सेही के सारे शरीर पर काले व सफेद लम्बे लम्बे कांटे होते है. सेही अपने दुश्मनों से सुरक्षा हेतु इन काँटों का अस्त्र के रूप में प्रयोग करती है.

तो मित्रों ये थे राजस्थान के कुछ वन्य जीव व जन्तुओं के नाम हिंदी और अंग्रेजी भाषा में जिनकें बारे में छोटी मोटी विशेषताओं को हमने Name Of Wild Animals In Hindi के जरिये आपके सामने रखा, यदि आपकों हमारा यह लेख पसंद आया हो तो प्लीज इसे अपने फ्रेड्स के साथ भी शेयर करे.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *