National Symbol Of India In Hindi | भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची

National Symbol Of India In Hindi भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची: हमारे भारत की पहचान हमारे देश की सभ्यता संस्कृति एवं इनसे जुड़े चिह्नों से गहरा सम्बन्ध हैं. अपने देश तथा संस्कृति से जुड़े चिह्न हमारे गौरव के प्रतीक होते हैं. राष्ट्र ध्वज का महत्व इसी से समझा जा सकता हैं कि आजादी के बाद से लाखों वीर सपूतों ने तिरंगे की आन बान के लिए अपनी जान न्यौछावर कर दी थी. भारत का राष्ट्रीय प्रतीक हमारी पहचान से जुड़े हुए हैं ये हमारे वैभवशाली इतिहास व राष्ट्रप्रेम को जगाते हैं. आज के लेख में हम भारत के राष्ट्रीय प्रतीक (symbols of the indian nation) तथा महत्व (role and significance of national symbols) के बारे में विस्तार से पढेगे.

National Symbol Of India In Hindi | भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची

National Symbol Of India In Hindi भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची

भारत का राष्ट्रीय प्रतीक पर निबंध article on national symbols of india & our national symbols essay 250 words: हर वतन के अपने राष्ट्रीय चिह्न होते हैं जिनसे उनकी पहचान होती हैं. वाराणसी के निकट सारनाथ स्तम्भ से भारत के राष्ट्रीय चिह्न अशोक चिह्न को 24 जनवरी, 1950 को लागू किया गया हैं. भारत के राष्ट्रीय चिह्न के चारों ओर चार सिंह बने हुए हैं, जिनमें से तीन शेर ही दिखाई देते हैं. अशोक चक्र पर हाथी, घोड़ा, बैल और शेर की आकृति के नीचे सत्यमेव जयते लिखा गया हैं.

our national flag anthem and other national symbols Of India For Kids

राष्ट्रीय ध्वज (indian national symbols in hindi language): भारत की संविधान सभा ने राष्ट्रीय ध्वज का प्रारूप 22 जुलाई 1947 को अपनाया. इसे पिंगली वैंकय्या के डिजायन किया था. यह खादी का बना होता हैं. ध्वज की लम्बाई चौड़ाई का अनुपात 3:2 हैं. तिरंगे में समान चौड़ाई की तीन आड़ी पट्टियाँ हैं जिसमें रंगों का क्रम इस प्रकार हैं- सबसे ऊपर केसरिया बीच में सफ़ेद सबसे नीचे हरा रंग.

सफ़ेद पट्टी में नीले रंग का चक्र हैं जिसका प्रारूप सारनाथ में अशोक के सिंह स्तम्भ पर बने चक्र से लिया गया हैं. इसमें २४ तीलियाँ हैं. भारत के राष्ट्रीय ध्वज में केसरिया रंग शौर्य, साहस और बलिदान का प्रतीक हैं. सफेद पट्टी शांति और सत्य का प्रतीक हैं. निचला हरा रंग खुशहाली, सम्रद्धि, भूमि की उर्वरता और पवित्रता का प्रतीक हैं. ध्वज का चक्र विधि का चक्र हैं. इस चक्र का आशय हैं कि जीवन गतिशील हैं.

राजचिह्न 

भारत का राजचिह्न सारनाथ स्थित अशोक के सिंह स्तम्भ की अनुकृति हैं. भारत सरकार ने यह चिह्न 26 जनवरी 1950 को अपनाया. इस चिह्न के नीचे मुद्कोपनिषद का सूत्र सत्यमेव जयते देवनागरी लिपि में लिखा हुआ हैं.

राष्ट्रगीत (national emblem of india)

बंकिमचन्द्र चटर्जी द्वारा रचित वंदेमातरम् हमारा राष्ट्रगीत है. इसे 1896 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में गाया गया था. यह चटर्जी की कृति आनन्दमठ में संकलित हैं.

राष्ट्रगान (National anthem)

यह रवीन्द्रनाथ टैगोर का मूल रूप से बांग्ला में रचित और संगीतबद्ध जन गण मन का हिंदी संस्करण हैं जिस संविधान सभा ने भारत के राष्ट्रगान के रूप में 24 जनवरी 1950 को अपनाया गया था. यह सर्वप्रथम 27 दिसम्बर 1911 को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कलकत्ता अधिवेशन में गाया जाता था, राष्ट्रगान के गायन की अवधि लगभग ५२ सेकंड हैं.

राष्ट्रीय पंचाग कैलेंडर

ग्रिगोरियन केलैंडर के साथ साथ देश भर के लिए शक संवत पर आधारित राष्ट्रीय पंचाग जिसका पहला महीना चैत्र हैं. और सामान्य वर्ष 365 दिन का होता हैं. 22 मार्च 1957 को अपनाया गया. चैत्र का पहला दिन सामान्यतया 22 मार्च को और अधिवर्ष में 21 मार्च को पड़ता हैं. शक संवत 78 ई में कुषाण शासक कनिष्क ने प्रारम्भ किया था.

  • राष्ट्रीय पशु (indian animal signs) : बाघ को 1972 में राष्ट्रीय पशु घोषित किया गया.
  • राष्ट्रीय पक्षी– मयूर हैं 1963 में घोषित हैं.
  • राष्ट्रीय पुष्प– कमल हैं, खिलता हुआ कमल सृष्टि के स्रजन का प्रतीक हैं.
  • राष्ट्रीय वृक्ष: भारत का राष्ट्रीय वृक्ष बरगद हैं इसे Banyan tree भी कहते हैं.
  • राष्ट्रीय फल: आम (मोनिफेगरा इंडिका)
  • भारत का राष्ट्रीय जलचर: गंगा डाल्फिन इसे भारत में सूंसू के नाम से भी जाना जाता हैं, इसका वैज्ञानिक नाम प्लेटानिस्टा गंगेटिका हैं. इसे 18 मई 2010 को राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित किया गया.
  • राष्ट्रीय नदी– भारत की राष्ट्रीय नदी गंगा हैं.

यह भी पढ़े-

आशा करता हूँ दोस्तों National Symbol Of India In Hindi भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. national symbols in hindi language ,में दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *