New 500 Rupee Note : यह हैं अब पांच सौ का नया नोट

New 500 Rupee Note-RBI ने 13 जून को पांच सौ का नया नोट का डेमो जारी हुआ हैं| रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की माने तो इस नए नोट में कुछ महीन बदलाव कियें हैं,जबकि इसके फीचर और डिजाइन वहीं रहेगें जो पहलें से चल रहे हैं| RBI ने इन नोट को बाजार में उतारने से पूर्व सुझाव दिया हैं- पुरानें पांच सौ के नोट यथावत चलतें रहेगें, उन्हें बदलवाने की भी कोई आवश्यकता नहीं हैं|

पांच सौ का नया नोट में क्या बदलाव हैं ?

इस नईं सीरिज के नोट में महात्मा गांधी की फोटो के पास दोनों कार्नर में अग्रेजी वर्णमाला का A वर्ण लिखा होगा| यानी ये कहने भर को नईं सीरिज बताई जा रही हैं, ज्यादा फीचर्स के साथ छेड़छाड़ नही की गईं हैं| यह भी हो सकता हैं रिजर्व बैंक ऑफ़ इंडिया किसी तरह के ट्रेकिंग सिस्टम से लैच इन नोट को बनाएं और इसकी जानकारी सार्वजनिक ना करे|

इस नोट के पिछलें हिस्से पर आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल के दस्तखत होंगें| आरबीआई ने आज प्रेस बुलाकर यह जानकारी दी साथ ही इस विषय पर अधिकारिक ट्विटर हैंडल @RBI से ट्विट भी किया गया|

यह हैं पांच सौ का नया नोट का डेमो

  • पहले के E वर्ण के स्थान पर अब A होगा|
  • नोट की पिछली दिशा में नया सत्र 2017 अंकित होगा|
  • आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर होंगे|
  • नोट गहरे भूरे रंग का होगा|
  • इसका आकार 66mmx 150mm का होगा|
  • तिरंगे सहित लाल किले की तस्वीर होगीं|

इसके अतिरिक्त नोट का वहीं प्रारूप हैं, जो 500 रूपयें के पिछलें वर्ष जारी नोट फीचर थे,वहीं रहेगें|

जल्द आएगा New 200 Rupee Note

जी हाँ अब आपके पास दस,बीस, पचास,सौ, दो हजार के नोट के साथ 200 रूपयें का नया नोट भी आने वाला हैं, आरबीआई अभी इसकी डिजाइन पर काम कर रहीं हैं| आरबीआई को पिछलें महीनें एक प्रस्ताव मिला था जिसमें यह कहा गया था कि छोटे नोट की बाजार में किल्लत हैं| इस कारण एक 200 रूपयें का नया नोट निकाला जाए|

इस पर केन्द्रीय बैंक ने अपनीं सहमती दे दी हैं, मिडिया खबरों की माने तो यह नया नोट एटीएम के लिए उपयुक्त नही होगा| इसकी बड़ी साइज़ की वजह से इन्हे बैंक के जरिए लोगों तक पहुचाने का काम किया जाएगा| क्युकि नोट्बंदी के दोरान एटीएम मशीनों को फिर से ठीक करने में काम वक्त लगा था| इस कारण ऐसें निर्णय दुबारा लेने से आमजन को कई परेशानियों का सामना करना पड़ेगा|

हालाँकि यह नया नोट बाजार में कब तक उपलब्ध हो जाएगा, इस पर कुछ नही कहा जा सकता| यह एक प्रस्ताव हैं जो आने वाले समय में यदि इसकी जरुरत ना महसूस हो तो इसे रद्द भी किया जा सकता हैं|

भारतीय रुपया का इतिहास (History of Rupee)

भारत के इतिहास के अनुसार पहली बार भारत में रूपयें/रुपया शब्द का प्रयोग अफगान आक्रान्ता शेरशाह सूरी ने सोहलवी सदी में किया था| भारत में सबसे पहला वाटर मार्क वाला नोट 1850 के बाद छपा था| भारत में नोट छपाई और प्रबंध भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई करती हैं भारत के अतिरिक्त 8 एशियाई देशों में रुपया ही उनकीं मुद्रा हैं| रुपया मुद्रा वाले देश ये हैं, भारत,सेसेल्स,पाकिस्तान, नेपाल, श्रीलंका, मारीशस, मालद्वीप और इंडोनेशिया|

भारत में नोट कहाँ छपते है इसकी जानकारी आपकों यहाँ बताते हैं| भारत में चार टकसाल और एक पेपर कारखाना हैं, जहां कागज के नोट छपते हैं और सिक्कों को ढाला जाता हैं देवास, मैसूर, सालबोनी और नासिक में नोट छापने के प्रेस हैं|
भारत में सबसे अधिक नोट देवास (मध्य प्रदेश) के मुद्राखाने में छपते हैं| यहाँ 10 रूपयें के नोट से लेकर 2000 के नए नोट तक छापें जातें हैं| नोट छापने के लिए स्याही और पेपर दूसरें देशो से आयात की जाती हैं, जबकि देवास पेपर कारखाने में स्याही का उत्पादन भी किया जाता हैं|

नोट नष्ट कैसे किए जाते हैं – आपकों यह जानकार ताज्जुब होगा, हर वर्ष भारत में 6 मिलियन पुरानें नोट नष्ट कियें जातें हैं कभी कभार अधिक मात्रा में नोट बाजार में उपलब्ध हो जाने के कारण भी ऐसा निर्णय लेना पड़ता हैं| नोट नष्ट करने से सरकार को बड़ा सरकारी खजाना लुटाना पड़ता हैं, क्युकि नोट बनाने के लिए स्याही और कागज बाहर से मगवाने पड़ते हैं |

Leave a Reply