जनसंख्या वृद्धि की समस्या पर निबंध | Overpopulation In India In Hindi

Overpopulation In India In Hindi प्रिय विद्यार्थियों आज हम आपके साथ जनसंख्या वृद्धि की समस्या पर निबंध साझा कर रहे हैं कक्षा 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 के बच्चों के लिए सरल भाषा में छोटा बड़ा हिंदी निबंध 100, 200, 250, 300, 400, 500 शब्दों में Essay On Overpopulation In India In Hindi का निबंध बता रहे हैं.

जनसंख्या वृद्धि की समस्या पर निबंध | Overpopulation In India In Hindi
जनसंख्या वृद्धि की समस्या पर निबंध | Overpopulation In India In Hindi

Dear Students Here We Share With You Shrot & Long Length Essay On Overpopulation In India In Hindi Language For Students & Kids.

Overpopulation In India In Hindi In 500 Words

यदि यह कहा जाय कि बढ़ती जनसंख्या देश की सारी समस्याओ की जड़ है तो यह बात बहुत कुछ सच माननी पड़ेगी. बाजारों में चलना दुश्वार है, रेलों और बसों में मारामार है, मंहगाई से हाहाकार है, राशन पानी, नोकरी के लिए लम्बी कतार है, एक खली जगह के लिए प्रार्थना पत्र हजारों हजार हैं. सिर्फ जनसंख्या वृद्धि के कारण सारे विकास कार्यो का बंटाढार है संक्षेप कहें तो ‘सौ बीमार हैं. और एक अनार है.

यह देश लगभग एक जनसंख्या व्रद्धी के कारण —जनसंख्या में व्रद्धी के अनेक कारण है. धार्मिक अंधविश्वास इसका एक प्रमुख कारण हैं. सन्तान को इश्वर का वरदान मानने वाले लोग इसके लिए जिमेदार हैं. चाहे खिलाने के लिए रोटी, पहनाने के लिए वस्त्र पढाने को धन और रहने को छप्पर न हो.

लेकिन ये मूढ़ लोग भूखे, अधनंगे, अनपढ बच्चों की कतारे खड़ी करने में नही शरमाते. पुत्र को पुत्री से अधिक महत्व देना, गरीबी, बाल विवाह, असुरक्षा की भावना आदि अन्य कारण भी जनसंख्या को बढ़ाने वाले हैं.

बढ़ती जनसंख्या के दुष्परिणाम –जनसंख्या की अबाध वृद्धि ने संदेस में अनेक समस्याएँ खड़ी कर दी हैं. विकट बेरोजगारी, हाहाकार मचाती मंहगाई, गरीबी, अशिक्षा, बढ़ते अपराध, कुपोषण, बढ़ता प्रदूषण आदि जनसंख्या वृद्धि के ही कुपरिणाम हैं. बिजली, पानी, सड़क एंव स्वास्थ्य सेवाएँ दुर्लभ होते जा रहे है.

जनसख्या का यह विकराल देत्य सारे विकास कार्यो और प्रगति को हजम कर जाता है राजनेता भी इसके लिए कम जिमेदार नही है इस राष्ट्रीय समस्या पर भी उनका द्रष्टिकोण सम्प्रदायवादी हैं.

नियत्रण के उपाय -जनसख्या पर नियत्रण किया जाना अत्यंत आवश्यक है इस समस्या के हल के लिए विवाह की न्युन्तम आयु में वृद्धि को सीमित रखने के उपायों का समुचित प्रसार होना चाहिए सरकार की और से छोटे परिवार वालो को प्रोत्साहन और विशेष सुविधाए मिलनी चाहिए मनोवेग्यानिक प्रसार भी बहुत उपयोगी सिद्ध हो सकता है

किन्तु वह आज कल टीवी पर दिखाई जाने वाले भोंडे और अश्लील विज्ञापनों जैसा न हो.

इसके अतिरिक्त कुछ कठोर उपाय भी अपनाने होगे. दो बच्चों से अधिक पैदा करने वालो को रसं की सुविधा से वंचित किया जाए आरक्षण या छुट केवल दो या तीन बच्चों तक ही सीमित रहे धर्माचार्यो को भी अधवीश्वासो पर प्रहार करते हुए लोगों को सही मार्गदर्शन करना चाहिए.

बढ़ती जनसंख्या पूरी मानव जाती के लिए खतरे की घटीं हैं. यदि हम इसी तरह आखं बंद करके जनसंख्या बढ़ाते रहे तो हमारी धरती एक दिन भूखी –नंगी, उजाड़ और हिसक मनुष्यों की निवास स्थली बनकर रह जायेगी.

यह भी पढ़े-

Hope you find this post about ”Overpopulation In India In Hindi” useful. if you like this article please share on Facebook & Whatsapp. and for latest update keep visit daily on hihindi.com.

Note: We try hard for correctness and accuracy. please tell us If you see something that doesn’t look correct in this article about Overpopulation In India and if you have more information badhti jansankhya essay in Hindi then help for the improvements this article.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *